एडवांस्ड सर्च

केजरीवाल के खुलासे जिम्मेदार लोगों को बदनाम करने की साजिश: शकील

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता शकील अहमद ने सामाजिक कार्यकर्ता अरविंद केजरीवाल और उनके साथियों द्वारा भ्रष्टाचार के तथाकथित खुलासों को एक बड़े षडयंत्र का हिस्सा बताया जिसके तहत देश में जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों को बदनाम करने की साजिश की जा रही है.

Advertisement
aajtak.in
आजतक ब्यूरो/भाषारांची, 18 October 2012
केजरीवाल के खुलासे जिम्मेदार लोगों को बदनाम करने की साजिश: शकील शकील अहमद

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता शकील अहमद ने सामाजिक कार्यकर्ता अरविंद केजरीवाल और उनके साथियों द्वारा भ्रष्टाचार के तथाकथित खुलासों को एक बड़े षडयंत्र का हिस्सा बताया जिसके तहत देश में जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों को बदनाम करने की साजिश की जा रही है.

कैसी होगी पार्टी केजरीवाल की

शकील अहमद ने आरोप लगाया कि अरविंद केजरीवाल और उनकी साथी एक षडयंत्र के तहत देश के बड़े पदों पर बैठे लोगों पर आरोप लगा रहे हैं.

एक मरेगा तो 100 आयेगा अरविंदः केजरीवाल

उन्होंने कहा कि हाल में एक टीवी चैनल द्वारा जिस तरह से एक जिम्मेदार मंत्री के खिलाफ स्टिंग आपरेशन किया गया उसके पीछे किसी का कोई राजनीतिक या व्यापारिक हित तो नहीं जुड़ा है इसकी जांच होनी चाहिए.

केजरीवाल चाहते थे एनएसी में जाना: दिग्विजय

उन्होंने कहा कि इस तरह के कथित खुलासों के पीछे जो लोग लगे हैं उनके इरादों की भी जांच करके उनकी असलियत सबके सामने लानी चाहिए.

केजरीवाल राजनीति कर रहे हैं: शिंदे

यह पूछे जाने पर कि आखिर देश में भ्रष्टाचार के इस तरह के मामले दिन प्रतिदिन सामने क्यों आ रहे हैं , शकील अहमद ने कहा कि इन मामलों की आम लोगों की संतुष्टि के अनुरूप जांच करा देने से दूध का दूध पानी का पानी हो जायेगा.

अहमद ने भारतीय प्रेस परिषद के अध्यक्ष मार्कंडेय काट्जू के ब्रॉड्कास्टिंग स्टैंडर्ड एसोसिएशन का एक टीवी चैनल द्वारा एक गैर सरकारी संगठन के कामकाज पर स्टिंग आपरेशन करने की घटना की जांच करने के निर्देश का समर्थन किया. उन्होंने कहा कि इस तरह के अन्य गैर-सरकारी संगठनों के कामकाज की भी जांच की जानी चाहिए.

उन्होंने कहा कि अन्ना हजारे के जन लोकपाल विधेयक में भी देश में चलने वाले गैर सरकारी संगठनों को लोकपाल की परिधि से बाहर रखने की बात थी क्योंकि केजरीवाल और संगठन के अनेक अन्य लोग गैर सरकारी संगठन चलाते हैं.

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि सोशल मीडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार अन्ना और केजरीवाल में आंदोलन के दौरान एकत्रित चंदे को लेकर ही मतभेद और दुराव हुए.

अहमद ने इस रिपोर्ट की भी जांच किये जाने की मांग की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay