एडवांस्ड सर्च

मन की बात: PM मोदी बोले- पानी है परमात्मा का प्रसाद, एक भी बूंद बर्बाद न होने दें

पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को रेडियो पर 'मन की बात' के माध्यम से देश को संबोधित किया. 'मन की बात' का यह 20वां प्रसारण था. पीएम ने कहा कि मुझे खुशी होती है कि जो लोग 'मन की बात' सुनते हैं वो मुझे पत्र, माईगोव वेबसाइट के माध्यम से मेरे लिए अपनी भावनाओं को प्रकट करते हैं.

Advertisement
aajtak.in
अंजलि कर्मकार नई दिल्ली, 23 May 2016
मन की बात: PM मोदी बोले- पानी है परमात्मा का प्रसाद, एक भी बूंद बर्बाद न होने दें पीएम की मन की बात

पीएम ने कहा कि झारखंड वैसे तो जंगली इलाका है, लेकिन कुछ इलाके हैं, जहां पानी की दिक्कत है. यूपी से ‘मुख्यमंत्री जल बचाओ अभियान. कर्नाटक में ‘कल्याणी योजना’ के रूप में कुओं को फिर से जीवित करने की दिशा में काम आरंभ किया है. मध्य प्रदेश ने ‘बलराम तालाब योजना’ करीब-करीब 22 हजार तालाब! ये छोटे आंकड़े नही हैं! इस पर काम चल रहा है.

असम के होने वाले सीएम की सराहना की
पीएम ने कहा कि जब हम ओलंपिक के बारे में बात करते हैं तो पदक तालिका से दुख होता है. लेकिन हम सही को एथलीटों को प्रोत्साहित करने के लिए माहौल बनाने की जरूरत है. हमें परिणामों के बारे में चिंता नहीं करनी चाहिए. इस दौरान उन्होंने खेल मंत्री सर्बानंद सोनोवाल की भी तारीफ की. पीएम ने कहा कि सीएम पद का उम्मीदवार होने के बावजूद सर्बानंद ने खेल मंत्री की भूमिका निभाई. चुनावों के दौरान वह एनआईएस पटियाला में सरप्राइज यात्रा के लिए गए. उन्होंने कहा कि मैं देख रहा हूं कि भारत में फुटबॉल की लोकप्रियता बढ़ती जा रही है.

योग दिवस सिर्फ घटना नहीं
पीएम मोदी ने कहा कि 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस के मौके पर मैं चंडीगढ़ में एक कार्यक्रम में शामिल होने जाऊंगा. रोकथाम इलाज से बेहतर है. 21 जून को योग दिवस महज एक घटना नहीं है, यह 20-30 मिनट के लिए हमारे दैनिक दिनचर्या में शामिल करने के लिए प्रेरित करती है. पीएम ने कहा कि 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस है. इस बार यूएन ने विश्व पर्यावरण दिवस पर ‘जीरो टॉलरेंस फॉर इललीगल वाइल्ड लाइफ ट्रेड’ विषय रखा है.

मुख्यमंत्रियों से व्यक्तिगत मिला
'मन की बात' में पीएम ने कहा कि सूखा प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से मिलने का अवसर मिला. सभी मुख्यमंत्रियों को एक साथ बजाए व्यक्तिगत रूप से हर मुख्यमंत्री से मिलने का फैसला किया. कई राज्यों में सूखे को कम करने के लिए अद्भुत प्रयास किए गए हैं. यह पार्टी लाइन से हटकर है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay