एडवांस्ड सर्च

e-Sahitya Aaj Tak 2020 Day 1 Live Updates: जावेद अख़्तर ने कहा समाज निभा रहा अपनी भूमिका

aajtak.in मई 22, 2020
अपडेटेड 23:11 IST

e-Sahitya Aaj Tak 2020 Day 1 Live Updates: 'e-एजेंडा आजतक' को मिली जबरदस्त सफलता के बाद भारत का नंबर 1 समाचार चैनल आजतक अब 22 मई से 24 मई तक अपने विशेष e-संस्करण 'साहित्य आजतक' के साथ वापस आ गया है. शुक्रवार को e-साहित्य आजतक कार्यक्रम का पहला दिन है. इंडिया टुडे ग्रुप के इस खास साहित्य उत्सव में देश की कई दिग्गज हस्तियों, गायकों, गीतकारों, लेखकों, स्तंभकारों और अन्य प्रतिष्ठित कलाकारों के साथ वास्तविक जीवन के किस्सों और कोरोना महामारी से उपजे संकट से उत्पन्न चुनौतियों पर बातचीत हुई.

Check Latest Updates
Advertisement
e-साहित्य आजतक पर जावेद अख़्तर ने कहा समाज निभा रहा अपनी भूमिकाe-Sahitya Aaj Tak 2020 Day 1

हाइलाइट्स

  • तीन दिन सजेगा e-साहित्य आजतक का मंच
  • अनूप जलोटा के भजन कार्यक्रम का आगाज
  • e-साहित्य आजतक में होंगे 28 से ज्यादा वक्ता
  • 20:37 ISTPosted by Jai Pandey

    शबाना और हम तो इतने दिन कभी एक छत के नीचे रहे ही नहीं

    कोरोना लॉकडाउन के दौरान e-साहित्य आजतक के मंच कोरोना वारियर्स को सलाम कार्यक्रम में प्रख्यात लेखक, गीतकार, शायर, चिंतक जावेद अख़्तर ने इस दौर का एक सकारात्मक पहलू भी बताया. उन्होंने कहा लॉक डाउन की वजह से वे और उनकी पत्नी शबाना आजमी पिछले लगभग पांच दशकों के वैवाहिक जीवन में एक बार में एक साथ कभी एक छत के नीचे रहे ही नहीं.

  • 20:33 ISTPosted by Jai Pandey

    जावेद अख़्तर ने सुनाया- मुझ को यक़ीं है सच कहती थीं जो भी अम्मी कहती थीं

    मुझ को यक़ीं है सच कहती थीं जो भी अम्मी कहती थीं
    जब मेरे बचपन के दिन थे चाँद में परियां रहती थीं
    एक ये दिन जब अपनों ने भी हम से नाता तोड़ लिया
    एक वो दिन जब पेड़ की शाख़ें बोझ हमारा सहती थीं...e-साहित्य आजतक के मंच कोरोना वारियर्स को सलाम कार्यक्रम में प्रख्यात लेखक, गीतकार, शायर, चिंतक जावेद अख़्तर ने यह कविता सुनाई.

  • 20:28 ISTPosted by Jai Pandey

    जावेद अख़्तर ने स्वीकारा छोटी बातों पर वह उखड़ते हैं

    एंकर श्वेता सिंह ने e-साहित्य आजतक के मंच कोरोना वारियर्स को सलाम कार्यक्रम में प्रख्यात लेखक, गीतकार, शायर, चिंतक जावेद अख़्तर से एक सीधा सवाल पूछा कि आप किस बात पर उखड़ते हैं. जवाब में जावेद साहब का कहना था कि इनसान को छोटी बातें नहीं करनी चाहिए. हर स्थिति में एक स्तर तो बातचीत का होना चाहिए.

  • 20:25 ISTPosted by Jai Pandey

    डायलॉग भी आपके बच्चों की तरह हैः जावेद अख़्तर

    प्रख्यात लेखक, गीतकार, शायर,चिंतक जावेद अख़्तर ने e-साहित्य आजतक के मंच कोरोना वारियर्स को सलाम करते हुए यह कहा कि डायलॉग भी आपके बच्चों की तरह है. यह इसलिए अमर हुआ कि उसने लोगों के दिलों को छुआ है.  मैं इस बात को गलत समझता हूं कि बड़ा होने के चलते हम यह कहें कि युवाओं को यह नहीं आता.

  • 20:22 ISTPosted by Jai Pandey

    फिल्मों के लिखे गाने मुझे याद नहींः जावेद अख़्तर

    जावेद अख़्तर ने e-साहित्य आजतक के मंच पर शेरो-शायरी के बीच बीते अपने बचपन की बात कही और इस बात को स्वीकारा कि उन्हें साहित्य का लेखन तो याद है, पर फिल्मों के लिखे गाने याद नहीं. उन्होंने यह भी कहा कि दूसरे शायरों, लेखकों की शायरी भी उन्हें लाखों की गिनती में याद हैं.

  • 20:18 ISTPosted by Jai Pandey

    मैं फिल्मों में निर्देशक बनने ही आया थाः जावेद अख़्तर

    मैं निर्देशक बनने के लिए फिल्म इंडस्ट्री में आया था. पर वहां असिस्टेंट का काम करते हुए मेरे लेखन की तारीफ होने लगी. और ऐसी स्थितियां बनी कि मैं डायरेक्टर बन गया.

  • 20:15 ISTPosted by Jai Pandey

    गिर कर उठना इनसान की फितरतः जावेद अख़्तर

    चिंतक, गीतकार, पटकथा लेखक व अपने बेबाक बोल के लिए मशहूर जावेद अख़्तर का कहना है कि इनसान को इस कोरोना काल में घबड़ानी की जरूरत नहीं. इस धरती से दो बार पहले भी जीवन खत्म हो चुका है. कभी डायनासोर भी थे. पर आज इनसान है, तो कोरोना से भयभीत होने की जरूरत नहीं है. आज इनसानियत काफी कुछ कर रही है. सब कुछ सरकार पर छोड़ना ठीक नहीं

  • 20:05 ISTPosted by Jai Pandey

    जावेद अख़्तर ने कहा कोरोना काल में समाज निभा रहा अपनी भूमिका

     जावेद अख़्तर ने कहा कोरोना काल में समाज निभा रहा अपनी भूमिका. उनका कहना था संघर्ष के दौर से मैं भी गुजरा. पर हमें अपने बुरे वक्त को भी मेडल की तरह चिपकाना नहीं चाहिए

  • 20:02 ISTPosted by Jai Pandey

    बी प्राक का संदेश, सभी अपने घरों में रहें सुरक्षित रहें

    पंजाबी के युवा गायक बी प्राक ने एंकर विक्रांत गुप्ता से बातचीत में e-साहित्य आजतक पर कोरोना वारियर्स को सुरक्षित रहने का संदेश देते हुए कहा कि उनका काम बड़ा है. जनता घबड़ाए नहीं, सभी अपने घरों में रहें सुरक्षित रहें. यह दिन भी बीत जाएगा.

  • 19:56 ISTPosted by Jai Pandey

    मैं सारी जिंदगी कुछ करते रहना चाहता हूं

    e-साहित्य आजतक पर एंकर विक्रांत गुप्ता से बातचीत में बी प्राक ने कहा कि मैं जीवन भर गाना चाहता हूं. मैं सुनना और सीखना चाहता हूं.

  • 19:54 ISTPosted by Jai Pandey

    बी प्राक का दावा, संगीत ही हमारे लिए सब कुछ है

    मैं पंजाबी गाता जरूर हूं, पर मैं हर भाषा के गाने सुनता हूं. संगीत ही हमारी जिंदगी है. मैं ने हरिहरन जी को बहुत सुना है. ए आर रहमान, अरिजीत, प्रीतम, हंसराज जी, दलेर मेंहदी सभी से कुछ न कुछ सीखा है.

  • 19:50 ISTPosted by Jai Pandey

    बी प्राक का तेरी मिट्टी के साथ कोरोना वारियर्स को सलाम

    पंजाबी संगीत में मिठास की नई लहर पैदा करने वाले युवा दिलों की धड़कन बी प्राक के गाने ओ साकी साकी पर थिरकाएं तो अक्षय कपूर के साथ मिल कोरोना वारियर्स को सलाम करने वाले मनोज मुंतशिर के गाने तेरी मिट्टी पर रुलाएं भी. e-साहित्य आजतक पर बी प्राक ने यह गाना सुनाया भी.

  • 19:35 ISTPosted by Jai Pandey

    प्रकृति से हम लड़ नहीं सकते, भारतीय संस्कृति महान

    रूपा गांगुली ने e-साहित्य आजतक के मंच पर प्रकृति को सबसे बड़ा बताया. उन्होंने कोरोना काल में भारतीय परंपरा की भी तारीफ की और नमस्कार की अहमियत की चर्चा की. उनका कहना था प्रकृति से हम लड़ नहीं सकते, भारतीय संस्कृति महान.

  • 19:31 ISTPosted by Jai Pandey

    महाभारत में स्टारडम जैसा कुछ नहीं हमने वह जिंदगी जीः रूपा गांगुली

    महाभारत धारावाहिक में द्रौपदी का किरदार निभा चुकी रूपा गांगुली का कहना था कि महाभारत में काम करना हमारे लिए स्टारडम जैसा कुछ नहीं था. हमने वह जिंदगी जी.  e-साहित्य आजतक के मंच पर एंकर मीनाक्षी कांडवाल से बातचीत में उन्होंने कहा हम असली जीवन जी रहे थे.

  • 19:28 ISTPosted by Jai Pandey

    रूपा गांगुली ने पुनीत इस्सर को बताया खब्बू

    e-साहित्य आजतक के मंच पर एंकर मीनाक्षी कांडवाल से बातचीत में महाभारत धारावाहिक में द्रौपदी का किरदार निभा चुकी रूपा ने दुर्योधन का किरदार निभा रहे पुनीत इस्सर का मजेदार किस्सा बताया और कहा वह बहुत खब्बू थे.

  • 19:25 ISTPosted by Jai Pandey

    द्रौपदी नारी शक्ति की परिचायक, देश भी हमारे लिए मां

    महाभारत धारावाहिक में द्रौपदी का किरदार निभा चुकी रूपा गांगुली का कहना था बचपन से मैं साहसी थी. जो चीजें द्रौपदी में थी, मैं उससे जुड़ पाई. द्रौपदी नारी शक्ति की परिचायक, देश भी हमारे लिए मां हैं. भारत में नारी देवी का रूप.

  • 19:20 ISTPosted by Jai Pandey

    रामायण, महाभारत हमारे खून में हैः गजेंद्र चौहान

    e-साहित्य आजतक के मंच पर एंकर मीनाक्षी कांडवाल से महाभारत के कलाकार गजेंद्र चौहान ने कहा कि रामायण, महाभारत हमारे खून में है. जब भी पीढ़ियां बदलें इनका प्रसारण होते रहना चाहिए. देश के पाठ्यक्रम में हो रामायण, महाभारत. लॉक डाउन एक वरदान है.

  • 19:17 ISTPosted by Jai Pandey

    महाभारत के कलाकारों का कोरोना वारियर्स को सलाम

    अथ श्री महाभारत कथा.. कथा है पुरुषार्थ की ये, स्वार्थ की परमार्थ की, सारथि जिसके बने, श्री कृष्ण भारत पार्थ की, शब्द दिग्घोषित हुआ जब, सत्य सार्थक सर्वथा...महाभारत. द्वापर युग के इस पौराणिक आख्यान पर आधारित महाभारत धारावाहिक के इस गीत ने कभी छू लिया था हर भारतीय का मन. एक बार फिर जब इसका प्रसारण हुआ तो यह गीत बच्चे- बच्चे की जबान पर है. महाभारत के कलाकार गजेंद्र चौहान और रूपा गांगुली का e-साहित्य आजतक पर कहना है कि यह धारावाहिक हमेशा लोकप्रिय रहेगा.

  • 19:05 ISTPosted by Jai Pandey

    हम ईश्वर की नहीं खुद की बनाई मूर्तियों को पूज रहे

    हास्य कवि सुरेंद्र शर्मा  ने e-साहित्य आजतक के मंच पर कहा कि अगर अंदर धार्मिकता व दयालुता नहीं है, तो हमें हंसने का हक नहीं. किसी के आंसूं पोछ दीजिए तो मंदिर, गुरुद्वारे जाने की जरूरत नहीं. उनका कहना था कि हम ईश्वर की नहीं खुद की बनाई मूर्तियों को पूज रहे. उन्होंने मानवीय एकता पर लिखी अपनी यह कविता भी सुनाई, आओ एक बार कहें आखिरी बार कहें, क्या पता तुम न रहो, क्या पता हम न रहें.

  • 19:01 ISTPosted by Jai Pandey

    सुरेंद्र शर्मा का तंज अब दूसरे का सुख हमारा दुख बनने लगा

    साहित्य का मतलब है सबका हित. स्व हित नहीं. हास्य कवि सुरेंद्र शर्मा का कहना है कि आज हम दूसरों के सुख से दुखी हैं. अपने सुख से सुखी नहीं हैं. उन्होंने e-साहित्य आजतक के मंच पर धर्म, समाज पर भी अपना नजरिया रखा. साहित्य का मतलब है सबका हित. स्व हित नहीं. हास्य कवि सुरेंद्र शर्मा का कहना है कि आज हम दूसरों के सुख से दुखी हैं. अपने सुख से सुखी नहीं हैं. उन्होंने e-साहित्य आजतक के मंच पर धर्म, समाज पर भी अपना नजरिया रखा. उन्होंने एक सेठ व भूखे की कथा के साथ ही कुंए और नदी वाली कविता भी सुनाई. उन्होंने एक सेठ व भूखे की कथा के साथ ही कुंए और नदी वाली कविता भी सुनाई.

  • 18:55 ISTPosted by Jai Pandey

    आर्थिक संकट से बचने का सुरेंद्र शर्मा का उपाय

    हास्य कवि सुरेंद्र शर्मा का कहना है कि कोरोना काल में आया आर्थिक संकट ग्रामीण व्यवस्था को ध्यान देने से थम जाएगा.

  • 18:53 ISTPosted by Jai Pandey

    वाणी के जहर से बचें, कोरोना से देश निबट लेगा

    बीमारी शरीर में रहनी चहिए दिमाग में नहीं. हास्य कवि सुरेंद्र शर्मा ने कहा कि आज के समय में वाणी के जहर से बचे रहने की बहुत आवश्यकता है. मीडिया को इसमें अपनी भूमिका निभानी चाहिए. उन्होंने दावा किया कि कोरोना से तो देश निबट लेगा.

  • 18:51 ISTPosted by Jai Pandey

    तुलसी दास के दोहे से सुरेंद्र शर्मा ने पत्नियों का हौसला बढ़ाया

    हास्य कवि सुरेंद्र शर्मा का कहना है कि पत्नियां तुलसी दास जी के ढोल, गंवार वाले दोहे से बहुत परेशान थीं, पर मेरी पत्नी की व्याख्या है कि इस दोहे में चार जगह पुरुष हैं और एक जगह स्त्री.

  • 18:48 ISTPosted by Jai Pandey

    सुरेंद्र शर्मा की सलाह कोरोना काल में पति सावधान रहें

    कोरोना टाइम में पति घरों में रह रहे हैं. हास्य कवि सुरेंद्र शर्मा की सलाह है कि पतियों को घबड़ाना नहीं चाहिए. यह बुरा वक्त है निकल जाएगा.

  • 18:37 ISTPosted by Jai Pandey

    हर वह व्यक्ति बधाई का पात्र है जो कोरोना से लड़ रहा

    मशहूर हास्यकवि सुरेंद्र शर्मा अपनी सादगी, भदेस बोली, भोला अंदाज व चुटीले व्यंग्य के लिए मशहूर हैं. शर्मा जी की खासियत है कि उनका हास्य पहले आपके दिलोदिमाग को जगाता है, फिर हंसाता है और आखिर में छप्पड़ फाड़ ठहाके लगवाता है. उन्होंने कहा, हर वह व्यक्ति बधाई का पात्र है जो कोरोना से लड़ रहा

  • 18:27 ISTPosted by Jai Pandey

    लाल मेरी पत रखियो से कोरोना वारियर्स को सलाम

    हो लाल मेरी पत रखियो बला झूले लालण, ओ लाल मेरी पत रखियो बला झूले लालण, सिंदड़ी दा सेवण दा सखी शाह बाज़ कलन्दर, दमादम मस्त कलन्दर अली दम दम दे अन्दर, दमादम मस्त कलन्दर अली दा पैला नम्बर, हो लाल मेरी पत रखियो बला... e-साहित्य आजतक में हंस राज हंस ने अपनी इस प्रस्तुति के साथ कोरोना वारियर्स को सलाम किया

  • 18:22 ISTPosted by Jai Pandey

    केजरीवाल को हंस राज हंस ने क्या दिया संदेश

    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लिए सांसद हंस राज हंस ने संदेश दिया कि कोरोना काल में सियासत से ऊपर होकर इंसानियत की सेवा करनी चाहिए. उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री के लिए सुनाया आ जा रे माही तेरा... e-साहित्य आजतक पर गायक ने अपने जीवन संघर्ष को भी शेयर किया.

  • 18:18 ISTPosted by Jai Pandey

    कोरोना से डरना नहीं, कोरोना से लड़ना

    e-साहित्य आजतक में गायक और सांसद हंस राज हंस ने अपने जीवन के संघर्ष और सफलता का राज शेयर करते हुए कहा कि आज जो भी मुझे हासिल हुआ है वह दुआओं का असर है. उन्होंने यह भी कहा  कोरोना से डरना नहीं, कोरोना से लड़ना

  • 18:14 ISTPosted by Jai Pandey

    हंस ने नित खैर मंगा से लेकर दिल टोटे टोटे हो गया सुनाया

    e-साहित्य आजतक में गायक और सांसद हंस राज हंस ने दर्शकों की मांग और एंकर चित्रा त्रिपाठी के कहने पर दर्शकों की मांग पर नित खैर मंगा से लेकर दिल टोटे टोटे हो गया जैसे हिट पंजाबी गाने भी सुनाए.

  • 18:11 ISTPosted by Jai Pandey

    हंस राज हंस ने निदा फ़ाजली की यह नज़्म सुनाई

    गरज बरस प्यासी धरती पर फिर पानी दे मौला
    चिड़ियों को दाना, बच्चों को गुड़धानी दे मौला..
    दो और दो का जोड़ हमेशा चार कहां होता है
    सोच समझवालों को थोड़ी नादानी दे मौला
    फिर मूरत से बाहर आकर चारों ओर बिखर जा
    फिर मंदिर को कोई मीरा दीवानी दे मौला... e-साहित्य आजतक में गायक और सांसद हंस राज हंस ने निदा फ़ाजली की यह नज़्म सुनाकर कोरोना वारियर्स को सलाम करते हुए उपर वाले की तरफ दुआ का हाथ बढ़ाया

  • 18:00 ISTPosted by Jai Pandey

    गरूर आसमां छूता था आदमी का जब...हंस राज हंस

    गरूर आसमां छूता था आदमी का जब
    हयात मौत के पंजे में कसमसाई अब
    जो तेज रौ थे मुसाफिर ठहर गए हैं अब
    घरों में कैद शहंशाह गदा भी अब
    सिमट के रह गए सब लोग एक झटके में
    जो बात करने लगे थे खुदा के लहजे में... e-साहित्य आजतक में गायक हंस राज हंस ने गीत सुनाकर इंसान के अहंकार को कोसा.

  • 17:55 ISTPosted by Jai Pandey

    e-साहित्य आजतक पर हंस राज हंस ने की पीएम मोदी की तारीफ

    e-साहित्य आजतक पर पहुंचे हंस राज हंस. उन्होंने पीएम मोदी की समय से लॉक डाउन लागू करने के लिए की तारीफ

  • 17:38 ISTPosted by Jai Pandey

    तुलसीदास के पद के साथ कोरोना वारियर्स को सलाम

    राम नाम मनिदीप धरु जीह देहरीं द्वार
    तुलसी भीतर बाहेरहुं जौं चाहसि उजिआर...के साथ रामायण कलाकारों; राम के किरदार वाले अरुण गोविल, सीता का किरदार निभाने वाली दीपिका चिखलिया और लक्ष्मण की भूमिका निभा चुके सुनील लहरी ने e-साहित्य आजतक पर कोरोना वारियर्स को किया सलाम.  

  • 17:33 ISTPosted by Jai Pandey

    बेहद श्रद्धा के साथ बनी थी रामानंद सागर की रामायण

    e-साहित्य आजतक पर रामायण धारावाहिक के कलाकारों से बातचीत करते हुए मीनाक्षी कांडवाल ने भगवान राम का किरदार निभा चुके अरुण गोविल से रामानंद सागर के रामायण की सफलता के बारे में पूछा, जिसका जवाब देते हुए गोविल ने कहा तकनीक व सिक्स पैक्स रामायण को सफल नहीं बना सकते. रामानंद सागर ने बेहद श्रद्धा के साथ रामायण बनाई थी.

  • 17:29 ISTPosted by Jai Pandey

    रामायण ने जो दिया उसकी तुलना नहीं हो सकती

    e-साहित्य आजतक पर रामायण धारावाहिक में भगवान राम का किरदार निभा चुके अरुण गोविल ने बताया कि शायद भगवान राम की इच्छा थी कि उन्हें इस धारावाहिक में राम की भूमिका मिले.

  • 17:28 ISTPosted by Jai Pandey

    रामायण के राम ने शेयर किया अपने पौत्र से जुड़ा अनुभव

    e-साहित्य आजतक पर रामायण धारावाहिक में भगवान राम का किरदार निभा चुके अरुण गोविल ने अपने पौत्र के साथ के अनुभव शेयर किए.

  • 17:25 ISTPosted by Jai Pandey

    राम मंदिर की खुदाई से जुड़ी सामग्री संग्रहित की जाए

    e-साहित्य आजतक पर एंकर मीनाक्षी कांडवाल से बातचीत में रामायण धारावाहिक में सीता की भूमिका निभा चुकी दीपिका चिखलिया ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर की खुदाई से जुड़ी सामग्री संग्रहित की जाए.

  • 17:23 ISTPosted by Jai Pandey

    नेट फ्लिक्स के दौर में भी रामायण के सफल होने की वजह यह थी

    e-साहित्य आजतक पर एंकर मीनाक्षी कांडवाल से बातचीत में दीपिका चिखलिया ने कहा कि नेट फ्लिक्स के दौर में भी रामायण का दूरदर्शन पर सफल होना बताता है कि हमारी अदाकारी और कहानी कितनी मजबूत थी.

  • 17:20 ISTPosted by Jai Pandey

    रामायण का कंटेंट किंग है, हम सोल से जुड़े

    e-साहित्य आजतक पर एंकर मीनाक्षी कांडवाल से बातचीत करते हुए रामायण धारावाहिक में लक्ष्मण की भूमिका निभा चुके सुनील लहरी ने कहा कंटेंट किंग था. सीता बनी दीपिका चिखलिया ने कहा हम सोल से जुड़े हैं.

  • 17:18 ISTPosted by Jai Pandey

    रामायण की सीता ने कहा लोग हमें देखने के लिए टूट पड़ते थे

    रामायण की सीता दीपिका चिखलिया ने एंकर मीनाक्षी कांडवाल से e-साहित्य आजतक में बातचीत करते हुए शूटिंग के अपने अनुभव शेयर किए. उन्होंने कहा लोग हमारी शूटिंग देखने के लिए टूट पड़ते थे.

  • 17:15 ISTPosted by Jai Pandey

    रामायण के लक्ष्मण ने कहा जिंदगी पहले जैसी रही नहीं

    e-साहित्य आजतक पर एंकर मीनाक्षी कांडवाल से बातचीत करते हुए इस धारावाहिक में लक्ष्मण बने सुनील लहरी ने अपना अनुभव शेयर किया. उन्होंने माना कि रामायण करने के बाद हमारी जिंदगी पहले जैसी नहीं रही

  • 17:04 ISTPosted by Jai Pandey

    रामायण के लक्ष्मण, सीता धारावाहिक की सफलता से खुश

    e-साहित्य आजतक जारी है. एंकर मीनाक्षी कांडवाल के साथ जुड़े हैं रामायण के कलाकार.  रामायण में काम करने के बाद हर बड़े कलाकार की बदल गई थी जिंदगी.   राम के किरदार वाले अरुण गोविल का लोग पांव छूते, तो सीता का किरदार निभाने वाली दीपिका चिखलिया और लक्ष्मण बनने वाले सुनील लहरी का अनुभव भी कुछ ऐसा था.

  • 16:55 ISTPosted by Jai Pandey

    ऐसी लागी लगन से अनूप जलोटा का कोरोना वारियर्स को सलाम

    अनूप जलोटा ने यहां आखिरी प्रस्तुति के रूप में अपने दर्शकों को अपना यह चर्चित भजन सुनाया..ऐसी लागी लगन मीरा हो गई मगन, वो तो गली-गली हरि गुन गाने लगी

  • 16:51 ISTPosted by Jai Pandey

    e-साहित्य आजतक पर अनूप जलोटा ने किया प्रभु श्री राम को याद

    e-साहित्य आजतक पर डिजिटल माध्यम से जुड़े एक दर्शक ने भगवान राम पर भजन सुनाने का अनुरोध किया तो उन्होंने भज मन राम चरण सुखदाई की कई पंक्तियां और प्रभु राम केवट के संवाद को सुनाया

  • 16:48 ISTPosted by Jai Pandey

    अनूप जलोटा ने सुनाया लज़्ज़त-ए-ग़म बढ़ा दीजिए

    e-साहित्य आजतक पर कोरोना वारियर्स को सलाम करते हुए सुरों की महफिल जारी है. अनूप जलोटा ने यहा अपनी यह मशहूर ग़ज़ल सुनाई, लज़्ज़त-ए-ग़म बढ़ा दीजिए, आप फिर मुस्कुरा दीजिए. चाँद कब तक गहन में रहे, अब तो ज़ुल्फ़ें हटा दीजिए. मेरा दामन बहुत साफ़ है, कोई तोहमत लगा दीजिए...

  • 16:35 ISTPosted by Jai Pandey

    अनूप जलोटा ने समझाया- डरिए नहीं, योग से भगाइए कोरोना

     अनूप जलोटा ने e-साहित्य आजतक पर एंकर चित्रा त्रिपाठी के साथ लॉक डाउन के अपने अनुभव बांटते हुए कहा, इस दौरान चौबीस घंटे कम पड़ जाते हैं मेरा रियाज बढ़ गया है. योग करें, ध्यान करें, डरें नहीं कोरोना से

  • 16:33 ISTPosted by Jai Pandey

    अनूप जलोटा ने सुनाया लागा चुनरी में दाग छिपाऊं कैसे घर जाऊं कैसे

    e-साहित्य आजतक पर दर्शकों की मांग पर अनूप जलोटा ने सुनाया लागा चुनरी में दाग छिपाऊं कैसे घर जाऊं कैसे

  • 16:24 ISTPosted by Jai Pandey

    दर्शकों की मांग पर सुनाया शाम पिया मोरी रंग दे चुनरिया

    e-साहित्य आजतक पर  दर्शकों की मांग पर अनूप जलोटा ने सुनाया शाम पिया मोरी रंग दे चुनरिया

  • 16:20 ISTPosted by Jai Pandey

    e-साहित्य आजतक पर अनूप जलोटा ने सुनाया कोरोना से नहीं डरना है

    e-साहित्य आजतक पर अनूप जलोटा ने सुनाया कोरोना से नहीं डरना है, थोड़ी सी सफाई, थोड़ा सा उपचार, कोरोना से नहीं डरना है...

  • 16:17 ISTPosted by Jai Pandey

    अनूप जलोटा की सरस्वती वंदना के साथ e-साहित्य आजतक की भव्य शुरुआत

    अनूप जलोटा की सरस्वती वंदना के साथ e-साहित्य आजतक की भव्य शुरुआत

  • 15:54 ISTPosted by Jai Pandey

    e-साहित्य आजतक के मंच पर जावेद अख़्तर भी करेंगे कोरोना वारियर्स को सलाम

    जावेद अख़्तर साहब का नाम ही काफी है. उम्दा पटकथा, ग़ज़ल, शायरी और कविताएं ही नहीं, जिनके बेबाक बोल भी मचाते रहते हैं धूम...e-साहित्य आजतक के मंच पर जावेद अख़्तर भी करेंगे कोरोना वारियर्स को सलाम... आज ही

  • 15:42 ISTPosted by Jai Pandey

    पंजाबी संगीत की युवा आवाज बी प्राक भी आज ही करेंगे कोरोना वारियर्स को सलाम

    पंजाबी संगीत में मिठास की नई लहर पैदा करने वाले युवा दिलों की धड़कन बी प्राक के गाने ओ साकी साकी पर थिरकाएं तो अक्षय कपूर के साथ मिल कोरोना वारियर्स को सलाम करने वाले मनोज मुंतशिर के गाने तेरी मिट्टी पर रुलाएं भी. e-साहित्य आजतक पर होंगे बी प्राक भी. आज ही...

  • 15:34 ISTPosted by Jai Pandey

    द्वापर की महाभारत बड़ी थी या कोरोना से जंग, जानिए महाभारत के कलाकारों से

    अथ श्री महाभारत कथा.. कथा है पुरुषार्थ की ये, स्वार्थ की परमार्थ की, सारथि जिसके बने, श्री कृष्ण भारत पार्थ की, शब्द दिग्घोषित हुआ जब, सत्य सार्थक सर्वथा...महाभारत. द्वापर युग के इस पौराणिक आख्यान पर आधारित महाभारत धारावाहिक के इस गीत ने कभी छू लिया था हर भारतीय का मन. एक बार फिर जब इसका प्रसारण हुआ तो यह गीत बच्चे- बच्चे की जबान पर है. मिलिए महाभारत के कलाकारों से और जानिए कि द्वापर की महाभारत बड़ी थी या आज के कर्मवीरों की कोरोना से जंग

  • 15:21 ISTPosted by Jai Pandey

    पति-पत्नी पर जिनकी ठिठोली के ठहाकों से गूंजता है आसमान, वही सुरेंद्र शर्मा होंगे यहां

    मशहूर हास्यकवि सुरेंद्र शर्मा अपनी सादगी, भदेस बोली, भोला अंदाज व चुटीले व्यंग्य के लिए मशहूर हैं. शर्मा जी की खासियत है कि उनका हास्य पहले आपके दिलोदिमाग को जगाता है, फिर हंसाता है और आखिर में छप्पड़ फाड़ ठहाके लगवाता. कोरोना करमवीरों को उनका सलाम भी होगा, यहीं e-साहित्य आजतक पर

  • 15:13 ISTPosted by Jai Pandey

    हंस राज हंस की सूफी तान भी करेगी कोरोना वारियर्स को सलाम, आज ही

    जिसकी आवाज में गजब की रूहानियत है. जब गाते हैं तो पंजाबी लोकधुन जैसे जिंदा हो नाचने लगती है. चाहे 'ये जो सिलि सिलि औंदिये हवा' हो या 'दिल चोरी साड्डा हो गया' या फिर 'नीत खैर मंगा'...या फिर कोई और गीत... बूढ़ों से लेकर युवाओं तक जिनके गीतों का जादू है कि सिर चढ़ कर बोलता है, उन्हीं हंस राज हंस से एक बार फिर मिलिए e-साहित्य आजतक के मंच पर...

  • 14:53 ISTPosted by Jai Pandey

    लॉकडाउन से पहले भी जिनके चलते सड़कें हुई थीं सुनीं, मिलिए रामायण कलाकारों से

    कोरोना काल के लॉकडाउन से पहले भी अस्सी के दशक में दूरदर्शन पर पौराणिक धारावाहिक रामायण के प्रसारण के दौरान देश की सड़कें हो जाती थीं सुनीं. रामायण के उन्हीं कलाकारों से भी होगी मुलाकात e-साहित्य आजतक के कोरोना वारियर्स को सलाम कार्यक्रम में... आज ही

  • 14:40 ISTPosted by Jai Pandey

    कोरोना वारियर्स को भजन सम्राट का सलाम, e-साहित्य आजतक पर कुछ ही देर में

    सुबह होते ही आम भारतीय नागरिकों का जीवन जिनके भजनों के बिना लगता है निस्सार, वही अनूप जलोटा कोरोना के इस समय में जब आइसोलेशन में भेज दिए गए थे तो किया क्या? कोरोना वारियर्स को भजन सम्राट का सलाम, e-साहित्य आजतक पर बस कुछ ही देर में

  • 14:06 ISTPosted by Jai Pandey

    अनूप जलोटा से e-साहित्य आजतक की शुरुआत बस थोड़ी देर में

    अभी ठीक चार बजे शुरुआत करेंगे अनूप जलोटा. ऐसी लागी लगन से वह भजन सम्राट कहलाए, तो चांद अंगड़ाइयां ले रहा है से गज़ल किंग. कभी उनकी आवाज ने प्रभुजी तुम चंदन हम पानी गुनगुनाया, तो कभी सूरज की गरमी से राहत दिलाई. तो बने रहिए e-साहित्य आजतक के साथ

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay