एडवांस्ड सर्च

पुलिस की अर्जी दिल्ली हाई कोर्ट से खारिज, वकीलों पर नहीं होगी एफआईआर

पूनम शर्मा/चिराग गोठी/संजय शर्मा नवंबर 6, 2019
अपडेटेड 23:25 IST

तीस हजारी कोर्ट में भिड़ंत के बाद शुरू हुआ वकील और पुलिस के बीच का विवाद अभी थमा नहीं है. बुधवार को ही दिल्ली हाई कोर्ट में तीस हजारी विवाद पर सुनवाई हुई. दिल्ली पुलिस और वकीलों के बीच हिंसा मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने बुधवार को कहा कि गृह मंत्रालय की स्पष्टीकरण की मांग वाली अर्जी का निपटारा कर दिया गया है. दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा बनाई गई कमिटी ही मामले की जांच जारी करेगी. मीडिया रिपोर्टिंग पर कोई रोक नहीं है. दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा हमने अपने रविवार के आदेश में कहा था कि केवल 2 FIR जो उस दिन तक दर्ज हुई हैं, उसको लेकर कार्रवाई नहीं होगी. उसके बाद अगर कोई एफआईआर दर्ज हुई है तो उस पर दिल्ली पुलिस कार्रवाई कर सकती है.

Check Latest Updates
Advertisement
पुलिस की अर्जी दिल्ली हाई कोर्ट से खारिज, वकीलों पर नहीं होगी FIRबुधवार को वकीलों ने किया प्रदर्शन (फोटो: PTI)

हाइलाइट्स

  • दिल्ली में नहीं थमा पुलिस-वकील विवाद
  • तीस हजारी विवाद पर HC में हुई सुनवाई
  •  HC ने कहा, मीडिया रिपोर्टिंग पर रोक नहीं
  • मंगलवार को सड़क पर उतरे थे पुलिस जवान
  • 17:08 ISTPosted by Rachit kumar

    दिल्ली हाई कोर्ट ने अपने आदेश में कहीं ये बड़ी बातें

    दिल्ली पुलिस और वकीलों के बीच हिंसा मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने बुधवार को कहा कि गृह मंत्रालय की स्पष्टीकरण की मांग वाली अर्जी का निपटारा कर दिया गया है. दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा बनाई गई कमिटी ही मामले की जांच जारी करेगी. मीडिया रिपोर्टिंग पर कोई रोक नहीं है. दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा हमने अपने रविवार के आदेश में कहा था कि केवल 2 FIR जो उस दिन तक दर्ज हुई हैं, उसको लेकर कार्रवाई नहीं होगी.
    उसके बाद अगर कोई एफआईआर दर्ज हुई है तो उस पर दिल्ली पुलिस कार्रवाई कर सकती है. दिल्ली हाई कोर्ट ने अपने आदेश में किसी तरह का स्पष्टीकरण देने से इनकार कर दिया. हाई कोर्ट ने कहा सभी कुछ हमने अपने आदेश में लिखा था. कोर्ट ने केवल दो FIR को लेकर कोई भी "कोर्सिव" एक्शन नहीं लेने को कहा था.

  • 15:55 ISTPosted by Rachit kumar

    गृह मंत्रालय के बाद दिल्ली HC ने खारिज की पुलिस की अर्जी

    दिल्ली हाई कोर्ट ने गृह मंत्रालय की अर्जी खारिज कर दी है. गृह मंत्रालय ने 2 नवंबर को तीस हजारी कोर्ट में वकीलों और पुलिस के बीच हिंसा को लेकर हाई कोर्ट के आदेश पर स्पष्टता मांगी थी. इसके अलावा दिल्ली हाई कोर्ट ने साकेत जिला अदालत मामले में पुलिस की अर्जी को खारिज कर दिया है. पुलिस ने वकीलों पर एफआईआर दर्ज कराने की इजाजत मांगी थी.  



     

  • 15:39 ISTPosted by Mohit Grover

    कोर्टरूम में वकीलों की भारी भीड़

    दिल्ली हाईकोर्ट में इस वक्त तीस हजारी हिंसा पर सुनवाई हो रही है. चीफ जस्टिस के कोर्ट में भारी संख्या में वकील मौजूद हैं, अदालत में मची अफरातफरी और शोरगुल के बाद चीफ जस्टिस उठकर अंदर चले गए हैं.

  • 15:23 ISTPosted by Mohit Grover

    पुलिस ने किया पावर का गलत इस्तेमाल

    हाईकोर्ट में बार काउंसिल की ओर से कहा गया है कि पुलिस को यह बताना होगा कि गोली चलाने वाले पुलिस के खिलाफ क्या करवाई की गई है. पुलिस अपने मामले की छुपाने की कोशिश कर रही है. बार काउंसिल ने कहा कि साकेत की घटना में दिल्ली पुलिस ने सेक्शन 392 के तहत मामला दर्ज किया, पुलिस ने डकैती का मामला दर्ज किया है. यह पावर का गलत इस्तेमाल कर रहे है, वकीलों की तरफ से राकेश खन्ना ने दिल्ली हाइकोर्ट से कहा कि मीडिया रिपोर्टिंग पर बैन लगाने का आदेश देना चाहिए.

  • 15:21 ISTPosted by Mohit Grover

    कोर्ट में हुई नारेबाजी...

    दिल्ली हाईकोर्ट में बार काउंसिल की तरफ से कहा गया है कि अगर हम इस समय पुलिस से मामला दर्ज़ करने के लिए कहते हैं वो दर्ज नहीं कर रही है. कोर्ट में पुलिस की दलील पर वकीलों ने शेम-शेम के नारे लगाए हैं.

  • 15:18 ISTPosted by Mohit Grover

    दिल्ली पुलिस की अपील का बार काउंसिल ने किया विरोध

    वकीलों की तरफ से पेश वकील ने कहा कि दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश साफ था जिसके मुताबिक होम मिनिस्ट्री को इस समय अर्जी दाखिल करने की जरुरत नहीं थी, वकीलों ने इसे बेवजह दाखिल की गई अर्ज़ी बताया.
    केंद्र सरकार की ओर से जवाब दिया गया है कि दूसरी FIR तीस हजारी में हुई हिंसा पर दाखिल की गई है. वहीं दिल्ली पुलिस ने अपील की है कि 2 FIR की जांच होने दीजिए, जिसका बार काउंसिल ने विरोध किया है.


  • 15:15 ISTPosted by Mohit Grover

    दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू...

    तीस हजारी हिंसा मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है. इस दौरान अदालत में काफी भीड़ है. अदालत में गृह मंत्रालय के वकील ने कहा है कि एप्लीकेशन दायर करने का उद्देश्य राजधानी में शांति बनाए रखना है.

  • 14:25 ISTPosted by Mohit Grover

    काम पर लौटे दिल्ली पुलिस के जवान

    दिल्ली पुलिस (ट्रैफिक ऑपरेशंस) की ज्वाइंट कमिश्नर मीन चौधरी का कहना है कि आज पूरा स्टाफ ड्यूटी पर है, हम अनुशासन का पालन कर रहे हैं.

  • 12:40 ISTPosted by Mohit Grover

    अलवर कोर्ट में भिड़े पुलिस और वकील

    पुलिस और वकीलों के बीच दिल्ली की जंग अब दूसरे राज्यों में भी फैल गई है. राजस्थान की अलवर कोर्ट में वकीलों और पुलिस के बीच भिड़ंत हो गई है. अलवर कोर्ट में वकीलों ने हरियाणा पुलिस के एक जवान पर हमला बोला है. बता दें कि दिल्ली में आज अलग-अलग हिस्सों में वकील पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. जिस तरह दिल्ली पुलिस के समर्थन में अन्य IPS संगठन आ रहे हैं, वैसे ही वकीलों के समर्थन में अन्य राज्यों के वकील आ रहे हैं.

  • 12:04 ISTPosted by Mohit Grover

    कोर्ट की बिल्डिंग पर चढ़ा वकील

    दिल्ली में वकीलों का प्रदर्शन बड़ा होता जा रहा है. रोहिणी कोर्ट की बिल्डिंग पर एक वकील चढ़ गया है और सुसाइड करने की धमकी दे रहा है. बता दें कि रोहिणी कोर्ट, साकेत कोर्ट के बाहर वकील प्रदर्शन कर रहे हैं.

  • 11:12 ISTPosted by Mohit Grover

    वकील ने की आत्मदाह की कोशिश

    रोहिणी कोर्ट के बाहर प्रदर्शन कर रहे एक वकील ने आत्मदाह की कोशिश की है. खुदपर पेट्रोल डालकर आत्मदाह की कोशिश करने वाले आशीष चौधरी का कहना है कि वह ये अपने आत्मसम्मान के लिए कर रहे हैं.

  • 11:10 ISTPosted by Mohit Grover

    किरण बेदी ने किया ट्वीट...

    दिल्ली पुलिस और वकील के विवाद पर पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी ने ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा कि अधिकार और उत्तरदायित्व एक ही सिक्के के दो पहलू हैं, नागरिकों को इसे नहीं भूलना चाहिए. हम जो भी हो और कहां भी हो. अगर हम सभी कानून का पालन करते हैं तो कोई विवाद नहीं होता है.

  • 11:06 ISTPosted by Mohit Grover

    साकेत कोर्ट के बाहर भी वकीलों का हंगामा...

    रोहिणी कोर्ट के बाद अब साकेत कोर्ट के बाहर भी वकीलों का प्रदर्शन शुरू हो गया है. साकेत कोर्ट में वकीलों ने अदालत के सभी दरवाजे बंद कर दिए हैं, जिसकी वजह से कामकाज ठप हो गया है. बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने वकीलों को हड़ताल करने से मना किया था, लेकिन वकील नहीं माने हैं.

  • 11:01 ISTPosted by Mohit Grover

    SC वकील का दिल्ली पुलिस कमिश्नर को नोटिस, प्रदर्शन में शामिल जवानों पर एक्शन की मांग

    तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच हुआ विवाद अभी थमा नहीं है. मंगलवार को दिल्ली पुलिस के जवानों ने पुलिस हेडक्वार्टर पर प्रदर्शन किया, अब इसी को लेकर दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक को लीगल नोटिस भेजा गया है. सुप्रीम कोर्ट में वकील वरुण ठाकुर ने इस मामले में लीगल नोटिस भेजा है, जिसमें लिखा गया है कि पुलिस के आला अधिकारियों ने वकीलों के खिलाफ आपत्तिजनक बयान दिए हैं.

  • 10:51 ISTPosted by Vishal Kasaudhan

    पुलिस जवानों ने की थी ये मांग

    धरना पर बैठे पुलिस जवानों ने कई मांग की थी. इसमें पुलिस वेलफेयर एसोसिएशन बनाने, पुलिस पर हमला हो तो फौरन कार्रवाई, पुलिसवालों का निलंबन वापस करने, दोषी वकीलों के खिलाफ केस दर्ज करने और दोषी वकीलों का लाइसेंस रद्द करने की मांग शामिल थी. सभी मांगों को मान लिया गया है.

  • 10:50 ISTPosted by Vishal Kasaudhan

    10 घंटे तक पुलिस जवानों का धरना

    पुलिस वालों का धरना मंगलवार सुबह 10 बजे शुरू हुआ और रात 8 बजे तक चला रहा. इस दौरान उन्हें मनाने की तमाम कोशिशें हुई. सात बार पुलिस अधिकारी हड़ताली पुलिसवालों के बीच आए. ज्वाइंट सीपी, स्पेशल सीपी के साथ-साथ पुलिस कमिश्नर को खुद आना पड़ा, लेकिन पुलिस वाले तभी माने जब उनके मांगों पर मुहर लगी.

  • 10:48 ISTPosted by Vishal Kasaudhan

    उप राज्यपाल से मिलने पहुंचे पुलिस कमिश्नर

    उप राज्यपाल अनिल बैजल से मिलने दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक और ज्वॉइंट कमिश्नर राजेश खुराना पहुंचे हैं. उनके साथ दिल्ली पुलिस के सीनियर अफसर भी हैं. पुलिस और वकीलों के विवाद पर चर्चा हो रही है.

  • 10:46 ISTPosted by Vishal Kasaudhan

    रोहिणी कोर्ट के बाहर प्रदर्शन, साकेत कोर्ट के दरवाजे बंद

    दिल्ली में पुलिस और वकीलों के बीच जंग जारी है. कल पुलिसवालों ने जोरदार प्रदर्शन किया तो वहीं आज फिर वकील सड़क पर हैं. वकीलों ने आज सुबह रोहिणी कोर्ट में लोगों को जाने से रोक दिया और जमकर नारेबाजी की. वकील इंसाफ की मांग कर रहे हैं. रोहिणी कोर्ट के अलावा साकेत कोर्ट में भी वकीलों का प्रदर्शन जारी है. साकेत कोर्ट में वकीलों ने कोर्ट के सभी दरवाजे बंद कर दिए हैं और कामकाज ठप है. बार काउंसिल ऑफ दिल्ली के मना करने के बाद भी वकीलों की हड़ताल जारी है.

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay