एडवांस्ड सर्च

महज 23 दिन में हुई बच्ची की मौत, कईयों की जिंदगी कर गई रोशन

हार्ट की लाइलाज बीमारी के साथ जन्मीं मिनी ने दुनिया में महज 23 दिन बिताए. लेकिन जाते-जाते कई जिंदगियों को रोशन कर गई.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited by: संदीप कुमार सिंह]लंदन, 10 July 2015
महज 23 दिन में हुई बच्ची की मौत, कईयों की जिंदगी कर गई रोशन

इस दुनिया में भले ही उसने कुछ ही दिन बिताए होंगे लेकिन इन चंद दिनों में ही कई जिंदगियों को वह रोशन कर गई. हार्ट की लाइलाज बीमारी के साथ जन्मीं मिनी ने इस दुनिया में महज 23 दिन बिताए. लेकिन जाते-जाते कई लोगों की जिंदगी रोशन करने का रास्ता बना गई जब उसके माता-पिता ने उसकी मौत के बाद अंगदान का फैसला किया.

जन्मजात बीमारी से थी ग्रसित
ब्रिटेन के ईस्ट-यॉर्कशायर में मिनी डुगलेबी का जन्म हार्ट रोग के साथ ही हुआ था. ये उसके माता-पिता के लिए काफी मुश्किल वक्त था जब जन्म के 24 घंटे के अंदर ही डॉक्टरों ने कहा कि उनकी बेटी हार्ट की बीमारी से ग्रसित है साथ ही थ्रोट से कई मांसपेशियों का जुड़ाव भी नहीं था.

मां-बाप ने लिया मुश्किल फैसला
डॉक्टरों के अनुसार 3 ओपन हार्ट सर्जरियों के द्वारा उसे कुछ दिन तक बचाया जा सकता था लेकिन लंबे समय तक जीना उसके लिए संभव नहीं था. मिनी को लाइलाज बीमारी और मुश्किल जिंदगी से मुक्ति दिलाने के लिए उसके मां-बाप ने वेंटिलेटर हटाने की अनुमति दी. उसके माता-पिता एमी और लियाम ने ये फैसला इसलिए किया ताकि जाने के बाद भी वे अपनी बेटी की निशानी को जिंदा रख सकें.

औरों को मिली नई जिंदगी
मिनी की मौत के बाद एक व्यक्ति में उसकी किडनी ट्रांसप्लांट की गई जिससे वह पूरी तरह स्वस्थ हो गया. ब्रिटेन में नवजात बच्चों के अंगदान का ये छठा मामला है. मिनी के पिता का कहना है कि 23 दिन में ही उनकी बेटी ने इतना कुछ दुनिया को दिया जितना कि वे अपने जीवन के 28 वर्षों में नहीं दे सके.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay