एडवांस्ड सर्च

बिजनेस लीडर्स से नाश्ते पर मिले नरेंद्र मोदी, गिफ्ट के तौर पर दिया ऑटोग्राफ वाला डिब्बा

अप्रवासी भारतीयों का दिल जीतने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को यहां बिजनेस के दिग्गजों से मिले. मोदी ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन और उनकी पत्नी हिलेरी से भी मुलाकात की है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited by: रंजीत सिंह]न्यूयॉर्क, 30 September 2014
बिजनेस लीडर्स से नाश्ते पर मिले नरेंद्र मोदी, गिफ्ट के तौर पर दिया ऑटोग्राफ वाला डिब्बा न्यूयॉर्क में बिजनेस लीडर्स से नाश्ते पर मिले नरेंद्र मोदी

अप्रवासी भारतीयों का दिल जीतने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को यहां बिजनेस के दिग्गजों से मिले. मोदी ने दुनिया के 16 बड़े सीईओ से नाश्ते पर मुलाकात की. पीएम ने सबसे अकेले में बात भी की. मोदी ने कोयला घोटाले पर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि ये भविष्य में हम सभी के लिए बेहतर मौका है. कोल आवंटन रद्द होना नई शुरुआत का मौका है. यह पुरानी गलती मिटाकर आगे बढ़ने का भी मौका है. (फोटो: नाश्ते पर बिजनेस लीडर्स से मुलाकात के दौरान मोदी ने गिफ्ट के तौर पर सभी को अपना हस्ताक्षर किया हुआ डिब्बा सौंपा)

बिजनेस लीडर्स से मुलाकात के दौरान मोदी ने उनसे भारत में ढांचागत क्षेत्र के विकास में बड़ा निवेश करने और रोजगार के अवसर पैदा करने और लोगों के जीवन स्तर में सुधार में मदद का आह्वान किया. बैठक में पेप्सिको की सीईओ इंदिरा नूयी, गूगल के चेयरमैन एरिक स्मिट और सिटीग्रुप के प्रमुख माइकल कार्बेट जैसी हस्तियां शामिल हुईं. समझा जाता है कि प्रधानमंत्री ने उनके साथ भारत में निवेश और कारोबारी के अवसरों पर चर्चा की. उन्होंने उन उपायों पर भी चर्चा की जो भारत में कारोबारी के माहौल को सुधारने में सहायक हो सकते हैं. (फोटो: मोदी ने गिफ्ट के तौर पर जो डिब्बा सौंपा, उसके भीतर यह था)

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने प्रधानमंत्री के हवाले से ट्विटर पर अपने संदेश में कहा, 'भारत खुले विचारों वाला देश है. हम बदलाव चाहते हैं. यह बदलाव एकतरफा नहीं होता. मैं नागरिकों, उद्योगपतियों और निवेशकों के साथ इस पर चर्चा कर रहा हूं.' गौरतलब है कि इन सभी कंपनियों की भारत में अच्छी खासी मौजूदगी है और माना जाता है कि इन कंपनियों के मुख्य कार्यकारियों ने भारत सरकार के साथ अपने क्रियाकलापों को और बढ़ाने और देश में कारोबारी उपस्थिति बढ़ाने की इच्छा जताई है.

इस मुलाकात में मास्टरकार्ड के सीईओ अजय बंगा, कारगिल के चेयरमैन और सीईओ डेविड डब्ल्यू मैकलेनान, कैटरपिलर के डगलस ओबेरहेलमैन, एईएस के एंड्रेस ग्लुस्की, मर्क के केनेथ फ्रैजियर, कार्लाइल ग्रुप के सह-संस्थापक और सह-सीईओ डेविड रबेनस्टेन, हॉस्पिरा के माइकल बाल और वारबर्ग पिनकस के चार्ल्स काए भी शामिल थे. (मोदी ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन और उनकी पत्नी हिलेरी से भी मुलाकात की है. इस मीटिंग के दौरान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी मौजूद थीं.)

बिजनेस लीडर्स के साथ एक घंटे से अधिक समय तक चली मुलाकात के बाद बोइंग, केकेआर, ब्लैकरॉक, आईबीएम, जनरल इलेक्ट्रिक और गोल्डमैन साक्स के कार्यकारियों ने मोदी से अलग अलग मुलाकात की. इस यात्रा में कंपनी कार्यकारियों के साथ प्रधानमंत्री की यह पहली व्यापक बातचीत थी. मोदी अपने 5 दिन के अमेरिका दौरे के दूसरे चरण में मंगलवार को वॉशिंगटन में कारोबारी बैठकों में हिस्सा लेंगे. मोदी और अमेरिका राष्ट्रपति बराक ओबामा के बीच भी मंगलवार को बातचीत होगी. इससे पहले ओबामा मोदी के लिए एक शानदार डिनर दे रहे हैं. इस डिनर पार्टी में ओबामा की पत्नी मिशेल ओबामा भी शामिल होंगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay