एडवांस्ड सर्च

पिज्जा, बर्गर को स्कूल परिसर से बाहर रखने का प्रस्ताव

खाद्य नियामक एफएसएसएआई ने नूडल्स, चिप्स, कार्बोनेटेड ड्रिंक्स और कॉन्फेक्शनरी चीजों सहित जंक फूड की बिक्री स्कूलों व इसके आसपास प्रतिबंधित करने का प्रस्ताव दिया है.

Advertisement
aajtak.in
स्वाति गुप्ता नई दिल्ली, 19 October 2015
पिज्जा, बर्गर को स्कूल परिसर से बाहर रखने का प्रस्ताव पिज्जा, बर्गर को स्कूल परिसर से बाहर रखने का प्रस्ताव

खाद्य नियामक एफएसएसएआई ने नूडल्स, चिप्स, कार्बोनेटेड ड्रिंक्स और कॉन्फेक्शनरी चीजों सहित जंक फूड की बिक्री स्कूलों व इसके आसपास प्रतिबंधित करने का प्रस्ताव दिया है.

भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) ने अपने दिशानिर्देशों के मसौदे में स्कूलों में पोषक खाद्य उत्पादों की उपलब्धता का जिक्र किया है जिससे बच्चों में जंक फूड खाने की आदत पनपने से रोका जा सके.

खाद्य नियामक ने कहा, ‘बच्चे अपने खाने-पीने की चीजें तय करने के मामले में अबोध होते हैं. अत्यधिक वसा, नमक और चीनी युक्त खाद्य उत्पादों को प्रोत्साहित करने के लिए स्कूल सही जगह नहीं हैं.’

‘स्कूलों में कैंटीनों को वाणिज्यिक आउटलेट्स के तौर पर नहीं लिया जाना चाहिए. स्कूलों को एक कैंटीन नीति विकसित करनी चाहिए ताकि बच्चों को पोषक व स्वस्थ्य खाद्य उत्पाद उपलब्ध कराए जा सकें.’

इनपुट: भाषा

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay