एडवांस्ड सर्च

कोरोना वायरस: पुणे में 3 दिन के लिए बिजनेस का शटर डाउन

इस वक्त हम कोरोना वायरस फैलाव के दूसरे चरण में हैं. दूसरा और तीसरा हफ्ता सबसे निर्णायक होता है. इस दौरान संक्रमित मरीजों की संख्या तेज़ी से बढ़ती है. ऐसे में लोगों की ओर से बरती जाने वाली सावधानियां बड़ी भूमिका निभाती हैं. पुणे मर्चेंट एसोसिएशन ने तीन दिन तक सभी कारोबारी गतिविधियां बंद रखने का फैसला किया है.

Advertisement
aajtak.in
पंकज खेलकर पुणे, 17 March 2020
कोरोना वायरस: पुणे में 3 दिन के लिए बिजनेस का शटर डाउन पुणे और पिंपरी-चिंचवाड़ के दो नगर निगमों में लगी धारा 144 (फाइल फोटो-PTI)

  • तीन दिन तक सभी कारोबारी गतिविधियां बंद
  • ये पाबंदी ट्रैवल एजेंसियों, होटलों पर भी लागू

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीजों की संख्या 39 हो गई है. इसके अलावा 240 लोगों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है. राज्य में पुणे में सबसे अधिक 16 पॉजिटिव केस सामने आए हैं. पुणे मर्चेंट एसोसिएशन ने तीन दिन तक सभी कारोबारी गतिविधियां बंद रखने का फैसला किया है.

पुणे और पिंपरी-चिंचवाड़ के दो नगर निगमों ने कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए धारा 144/1 लागू करने का फैसला किया है. पिंपरी-चिंचवाड़ में इस पर अमल भी शुरू हो गया है. धारा 144/1 के तहत सरकारी एजेंसियां किसी भी शख्स की यात्रा से जुड़ी जानकारी मांग सकती हैं. ये बात ट्रैवल एजेंसियों, होटलों पर भी लागू होती है. उनसे गेस्ट लिस्ट और कस्टमर्स से जुड़ी सारी जानकारी तलब की जा सकती है.

ये भी पढ़ें: 5 दिन में दिखें ये 3 लक्षण, तो जरूर करवा लें कोरोना वायरस की जांच

मंगलवार को महाराष्ट्र में 31 संदिग्ध मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया. 16 मार्च की रात तक मुंबई, पुणे और नागपुर एयरपोर्ट्स पर 1,663 फ्लाइट्स के 1,89,888 यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा चुकी थी. अभी तक COVID-19 प्रभावित क्षेत्रों से 1,063 यात्री महाराष्ट्र में आए. 18 जनवरी से अब तक राज्य के विभिन्न आइसोलेशन वार्ड्स में बुखार, ठंड, खांसी जैसे लक्षण दिखने के बाद 794 लोगों को भर्ती कराया गया. इनमें 717 के COVID-19 टेस्ट निगेटिव आए. अभी तक राज्य में 39 पॉजिटिव केस सामने आए हैं.

पश्चिमी महाराष्ट्र के ग्रामीण क्षेत्रों में 204 लोगों को पृथक निगरानी में रखा गया. सभी के टेस्ट निगेटिव आए. ये एक अच्छा संकेत है कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना वायरस का फैलाव नहीं हो रहा. पुणे के डिविजनल कमिश्नर और डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर ने लोगों से अपील की है कि वो खुद ही समझें और कहीं पर भी बिना ज़रूरत अधिक संख्या में एकत्र न हों. स्कूल, कॉलेज, मॉल्स, सिनेमाघरों, जिम को 31 मार्च तक बंद करा दिया गया है. इन बंदिशों का नतीजा है कि सड़कों पर ट्रैफिक 30% घट गया है.

ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस: इंसान तो इंसान, भगवान की दिनचर्या पर भी असर

इस वक्त हम कोरोना वायरस फैलाव के दूसरे चरण में हैं. दूसरा और तीसरा हफ्ता सबसे निर्णायक होता है. इस दौरान संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती है. ऐसे में लोगों की ओर से बरती जाने वाली सावधानियां बड़ी भूमिका निभाती हैं. पुणे मर्चेंट एसोसिएशन ने तीन दिन तक सभी कारोबारी गतिविधियां बंद रखने का फैसला किया है. लोग खुद भी हर तरह की सावधानी अपना रहे हैं. क्योंकि सावधानी हटी तो दुर्घटना घटी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay