एडवांस्ड सर्च

मरकज की लापरवाही पर दिल्ली पुलिस का एक्शन, मौलाना के खिलाफ केस दर्ज

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में हुए धार्मिक आयोजन में शामिल हुए लोगों का कनेक्शन 19 राज्यों तक है. जमात में शामिल जो लोग लौटे वो 19 राज्यों में फैले हुए हैं उनमें कोरोना होने के लक्षण हो सकते हैं, ऐसे में सरकार आयोजकों के खिलाफ महामारी फैलाने का मामला दर्ज किया गया है.

Advertisement
aajtak.in
चिराग गोठी / अरविंद ओझा नई दिल्ली, 31 March 2020
मरकज की लापरवाही पर दिल्ली पुलिस का एक्शन, मौलाना के खिलाफ केस दर्ज मरकज में शामिल कई लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया (PTI)

  • एक्शन के लिए LG अनिल बैजल ने दिए थे निर्देश
  • CM ने भी आयोजकों के खिलाफ FIR की मांग की थी

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज मामले में क्राइम ब्रांच ने कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी है और आयोजकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया है. दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने आज मंगलवार को पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दे दिए थे. इससे पहले मंगलवार को ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आयोजकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की मांग की थी.

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने मौलाना साद और अन्य तबलीगी जमात के अन्य लोगों पर सरकारी निर्देशों के उल्लंघन के लिए महामारी रोग अधिनियम 1897 के अलावा आईपीसी की धारा सेक्शन 269, 270, 271 और 120-बी के तहत केस दर्ज किया है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 269 यानी किसी के जीवन को संकट में डालना. आईपीसी की धारा 270 यानी कोई ऐसा गैर जरुरी काम करना जिससे जीवन संकट में आए. इसके अलावा आईपीसी की धारा 271 यानी सरकार के बनाए नियम की जानबूझकर अवहेलना करना. 120 बी यानी आपराधिक साजिश का मामला बनता है.

इसके अलावा सरकारी नियमों की घोर अवहेलना करने को लेकर महामारी रोग अधिनियम 1897 के तहत भी केस दर्ज किया गया है.

CM केजरीवाल ने जताई नाराजगी

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज का कोरोना कनेक्शन सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुा है. इस पूरे प्रकरण पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नाराजगी जाहिर करते हुए इस घटना की निंदा की है और कहा कि सब सारे मंदिर और मस्जिद बंद हैं तो फिर ऐसी हरकत क्यों हुई.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दुनियाभर में लोग मर रहे हैं और हम लोग ऐसी गैर जिम्मेदाराना हरकत कर रहे हैं कि लोग एकत्रित हो रहे हैं. सारे धार्मिक स्थल खाली पड़े हैं. ऐसे में इतनी बड़ी भीड़ एकत्र करना बिल्कुल गलत था. यहां से बहुत सारे लोग निकल कर देश के अलग-अलग हिस्सों में पहुंच गए और किन-किन लोगों को इससे नुकसान पहुंच चुका होगा, यह सोचकर भी डर लग रहा है.

उन्होंने बताया कि मरकज में 12-13 मार्च के आसपास देश-विदेश से लोग एकत्रित हुए थे. इनमें काफी लोग चले गए और कुछ रुक गए. उन्होंने बताया कि फिलहाल मरकज से 1,548 लोगों को निकाला गया है. इनमें से 441 लोगों में कुछ लक्षण पाए गए हैं. इन्हें अस्पताल भेजा गया है और उनका टेस्ट किया जा रहा है.

दरअसल, दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में हुए धार्मिक आयोजन में शामिल हुए लोगों का कनेक्शन 19 राज्यों तक है. जमात में शामिल जो लोग लौटे वो 19 राज्यों में फैले हुए हैं. अब हर राज्य में इनकी तलाश कर क्वारनटीन किया जा रहा है. माना जा रहा है कि मरकज पर धार्मिक आयोजन के वक्त वहां 3 हजार से ज्यादा लोग मौजूद रहे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay