एडवांस्ड सर्च

इंदौर: महिला डॉक्टर ने बताया, कैसे अचानक भीड़ ने किया पूरी टीम पर पथराव

इंदौर में कोरोना जांच के लिए पहुंची डॉक्टरों की टीम में शामिल डॉक्टर जाकिया ने बताया कि हमपर अचानकर पथराव हुआ और फिर हम जैसे-तैसे इलाके से निकले.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in इंदौर, 02 April 2020
इंदौर: महिला डॉक्टर ने बताया, कैसे अचानक भीड़ ने किया पूरी टीम पर पथराव इंदौर में स्वास्थ्यकर्मियों की टीम पर पथराव (Photo- Aajtak)

  • इंदौर में कोरोना जांच करने गई डॉक्टरों की टीम पर पथराव
  • डॉक्टर जाकिया बोलीं- पिछले 5 दिन से वहां कर रहे थे काम

पूरा देश कोरोना वायरस जैसी महामारी की गिरफ्त में है. इससे निपटने के लिए डॉक्टर्स अहम रोल अदा करे हैं. लेकिन मध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना जांच के लिए जब डॉक्टरों की टीम पहुंची तो उन पर भीड़ ने हमला कर दिया. इसके बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सरकारी आदेश का पालन नहीं करने पर सख्ती से निपटने की बात कही, तो वहीं इसे लेकर खूब आलोचना भी हो रही है.

इंदौर के एक इलाके में कोरोना जांच के लिए पहुंची डॉक्टरों की टीम में शामिल डॉक्टर जाकिया ने 'आजतक' से बात करते हुए कहा, मेरे साथ डॉक्टर तृप्ति थीं. हमलोग स्क्रीनिंग के लिए गए थे. कॉन्टैक्ट पर्सन का मैसेज मिला था कि उनकी स्क्रीनिंग करनी है. इलाके में हम उन्हें ढूंढ रहे थे. उस टीम में हम पांच महिलाएं शामिल थे. इसमें आंगनबाड़ी और आशा की कार्यकर्ता भी थीं. हम इलाके में पहुंचे तो वो शख्स नहीं मिला, बल्कि उनकी मां मिली. उनकी मां से ही ठीक से बातचीत हो रही थी. सब कुछ अच्छा चल रहा था.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

आगे डॉक्टर जाकिया ने कहा, फिर अचानक से भीड़ ने हम पर हमला किया. अचानक हमला हुआ तो हम खुद भी समझ नहीं पाए और जैसे-तैसे वहां से निकले. डॉक्टर तृप्ति, मैं और हमारी आशा बहनें वहां से निकले, तब हमारे साथ सीएस हुड्डा थे जो तहसीलदार थे. उन्होंने अपनी गाड़ी स्टार्ट की और हम लोगों को लेकर वहां से फौरन निकले. हालांकि लोगों ने उनकी कार पर भी पीछे से पत्थर मारे.

डॉक्टर जाकिया ने कहा, हमले में पैरों पर काफी पत्थर लगे हैं, लेकिन चोट दिखने वाली नहीं है. उन्होंने कहा कि उस एरिया में हम पिछले पांच दिन से काम कर रहे हैं. उस एरिया के काफी लोगों की स्क्रीनिंग हमने की. काफी काउंसिलिंग की. ऐसा नहीं है कि सभी लोग वहां भड़के हुए थे. काफी लोगों ने सहयोग किया. कई लोगों ने हमें चीयर भी किया कि आप लोग काफी अच्छा काम कर रहे हैं, पर ये घटना क्यूं हुई इसका पता नहीं.

कोरोना पर भ्रम फैलाने से बचें, आजतक डॉट इन का स्पेशल WhatsApp बुलेटिन शेयर करें

डॉक्टर जाकिया ने कहा, हम उस एरिया में पिछले पांच दिनों से काम कर रहे थे, लेकिन तब कोई नेगेटिव खबर नहीं आई, लेकिन कल अचानक से जो कुछ हुआ वो हम भी समझ नहीं पाए. अगर पहले दिन ही हमारे साथ कुछ होता तो शायद हम फोर्स लेकर जाते.

तबलीगी जमात से जुड़े 400 लोग कोरोना पॉजिटिव, 9000 क्वारनटीन: स्वास्थ्य मंत्रालय

डॉक्टर जाकिया ने कहा, कम्यूनिटी कोई भी हो, महजब कोई भी हो, हम आपकी सेफ्टी के लिए काम कर रहे हैं और आप लोगों को हमारा समर्थन करना पड़ेगा, लॉकडाउन का समर्थन करना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद भी हम काम पर हैं, घर पर नहीं बैठे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay