एडवांस्ड सर्च

दिल्ली में लॉकडाउन, बेघरों को मुफ्त लंच और डिनर दे रही केजरीवाल सरकार

कोरोना को देखते हुए ट्रेन सेवाएं पूरी तरह से ठप हैं. देश के हर कोने में ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया है. दिल्ली में मेट्रो के साथ ट्रेनें भी बंद हैं. दिल्ली में न तो कोई ट्रेन आ रही है और न कोई जा रही है. इस सूरत में हजारों लोग जहां-तहां फंसे हुए हैं, जिनका कोई बसेरा नहीं है.

Advertisement
aajtak.in
पंकज जैन नई दिल्ली, 24 March 2020
दिल्ली में लॉकडाउन, बेघरों को मुफ्त लंच और डिनर दे रही केजरीवाल सरकार सरकार के आदेश के बाद बेघरों को लंच परोस रहे वॉलंटियर (फोटो-पंकज जैन)

  • 220 नाइट शेल्टर होम में भोजन परोस रही सरकार
  • दूरदराज के फंसे लोग, बेघरों को भी मिल रहा खाना

दिल्ली में कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते पूर्ण लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया है. इससे स्थिति लगभग कर्फ्यू जैसी पैदा हो गई है. कुछ लोगों को छोड़ दें तो अधिकांश लोग घरों में कैद हैं और सरकारी आदेशों का पालन कर रहे हैं. इसमें उन लोगों को सबसे ज्यादा परेशानी है जो बेघर हैं और पैसे मांग कर अपना गुजारा करते हैं.

इन लोगों की मदद का ऐलान करते हुए दिल्ली सरकार ने 220 नाइट शेल्टर में भोजन परोसना शुरू कर दिया है. लंच के साथ रात को डिनर की व्यवस्था भी दिल्ली सरकार की तरफ से की जा रही है.

कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए ट्रेन सेवाएं पूरी तरह से ठप हैं. देश के हर कोने में ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया है. दिल्ली में मेट्रो के साथ ट्रेनें भी बंद हैं. दिल्ली में न तो कोई ट्रेन आ रही है और न कोई जा रही है. इस सूरत में हजारों लोग जहां तहां फंसे हैं जिनका कोई बसेरा नहीं है.

ऐसे बाहरी लोगों को भोजन खिलाने के लिए भी रैन बसेरों के दरवाजे खोले गए हैं. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर बताया कि कर्फ्यू के दौरान बेघरों को खाना मिलने में दिक्कत आ रही थी जिस वजह से अब सरकार ने भोजन की व्यवस्था की है.

दिल्ली सरकार की तरफ से नाइट शेल्टर की जिम्मेदारी संभालने वाले बिपिन रॉय ने आजतक से बातचीत में बताया कि भोजन परोसने के दौरान साफ-सफाई का खास ध्यान रखा जा रहा है. केयर टेकर्स को ट्रेनिंग दी गई है. भोजन से पहले लोगों को हाथ धोने के निर्देश दिए जा रहे हैं, साथ ही भोजन करते समय एक निश्चित दूरी में बैठने की अपील की गई है.

बता दें कि देश के 32 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के 560 जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए पूरी तरह लॉकडाउन कर दिया गया. इसी बीच, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और ओडिशा के कुछ क्षेत्र ऐसे हैं, जहां कड़ी धाराएं भी लगाई गई हैं. तीनों राज्यों में कुल 58 जिले बंद हैं. वहीं लक्षद्वीप में आंशिक लॉकडाउन किया गया है. यात्री जहाजों को द्वीप में प्रवेश करने से प्रतिबंधित किया गया है और आपराधिक प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 लागू है.

भारत में कोविड-19 के कुल मामलों की संख्या अब 500 पर पहुंच चुकी है, जिसमें दस मौतें भी शामिल हैं. वैश्विक महामारी कोरोना के खतरे पर मंगलवार को एक बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को संबोधित करेंगे. उन्होंने खुद ट्वीट कर यह जानकारी दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, "वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के संबंध में कुछ महत्वपूर्ण बातें देशवासियों के साथ साझा करूंगा. आज, 24 मार्च रात 8 बजे देश को संबोधित करूंगा."

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay