एडवांस्ड सर्च

राहुल की मांग- लोगों को कर्ज नहीं, पैसे की जरूरत, 6 महीने तक गरीबों को आर्थिक मदद दे सरकार

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार को एक वीडियो जारी कर केंद्र सरकार से अपील की है. राहुल गांधी की मांग है कि सरकार अगले 6 महीने तक गरीबों को आर्थिक मदद दे.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 28 May 2020
राहुल की मांग- लोगों को कर्ज नहीं, पैसे की जरूरत, 6 महीने तक गरीबों को आर्थिक मदद दे सरकार कांग्रेस नेता राहुल गांधी (PTI)

  • कोरोना संकट के बीच कांग्रेस का ऑनलाइन कैंपेन
  • राहुल की मांग- गरीबों को आर्थिक मदद दे सरकार

कोरोना वायरस महामारी के बीच कांग्रेस पार्टी लगातार केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमलावर है. गुरुवार को कांग्रेस की ओर से ऑनलाइन कैंपेन चलाया जा रहा है, जिसे स्पीक अप इंडिया नाम दिया गया है. इसी कार्यक्रम के तहत कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक वीडियो संदेश जारी किया है.

राहुल गांधी ने इस संदेश में कहा, ‘कोविड के कारण देश में आज एक तूफान आया है, गरीब जनता को चोट लगी है. मजदूरों को भूखा-प्यासा सड़कों पर चलना पड़ रहा है. छोटे कारोबार रीढ़ की हड्डी हैं, जो बंद हो रहे हैं. ऐसे में आज हिंदुस्तान के लोगों को कर्ज की जरूरत नहीं है, बल्कि पैसे की जरूरत है.

राहुल गांधी ने कहा कि मुश्किल के इस समय में कांग्रेस पार्टी सरकार से आज चार मांग करती हैं

• हर गरीब परिवार के खाते में 7500 रुपये प्रति महीना 6 महीने तक दिया जाए.

• मनरेगा को सौ दिन की बजाय दो सौ दिन तक किया जाए.

• छोटे कारोबारियों के लिए एक पैकेज का ऐलान किया जाए.

• घर लौटते हुए मजदूरों को सुविधा दी जाए.

राहुल गांधी के अलावा प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर इस तरह का वीडियो डाला. प्रियंका ने कहा कि आज गरीब मजदूर मुश्किल में है और सरकार उसकी मदद नहीं कर रही है. प्रियंका गांधी ने भी सरकार के सामने चार मांग रखीं.

गौरतलब है कि कांग्रेस की ओर से इस ऑनलाइन कैंपेन का आयोजन किया जा रहा है, जिसके तहत हर नेता सोशल मीडिया पर अपनी मांगें रख रहा है. राहुल गांधी से पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी एक वीडियो संदेश जारी किया था, जिसमें उन्होंने सरकार से मजदूरों के लिए खजाना खोलने को कहा था.

सोनिया गांधी की डिमांड- प्रवासी मजदूरों के लिए खजाना खोले मोदी सरकार

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने वीडियो संदेश में कहा, ‘दो महीने से कोरोना वायरस के कारण पूरा देश गंभीर आर्थिक संकट से गुजर रहा है. आजादी के बाद पहली बार दर्द का मंजर सबने देखा कि लाखों मजदूर नंगे पांव भूखे-प्यासे हजारों किलोमीटर पैदल चलकर घर जाने के लिए मजबूर हुए. उनकी पीड़ा-सिसकी को देश के हर दिल ने सुना, लेकिन शायद सरकार ने नहीं.'

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

बता दें कि राहुल गांधी इससे पहले भी लगातार कोरोना वायरस संकट के बीच ऑनलाइन आकर प्रेस कॉन्फ्रेंस करते आए हैं, वहीं मीडिया से भी मुखातिब हुए हैं.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay