एडवांस्ड सर्च

चेन्नई बाढ़: फेसबुक और गूगल ने चेन्नई बाढ़ पीड़ितों के लिए शुरू की खास सर्विस

चेन्नई के बाढ़ पीड़ि‍त अब फेसबुक की मदद से परिवार और दोस्तों को अपने सुरक्षित होने की जानकारी दे सकते हैं. वहीं गूगल ने क्राइसिस रिस्पॉन्स सर्विस के तहत एक पेज पर बाढ़ पीड़ित क्षेत्रों की जानकारी समेत कई हेल्पलाइन नंबर दिए गए हैं.

Advertisement
aajtak.in
मुन्ज़िर अहमद 04 December 2015
चेन्नई बाढ़: फेसबुक और गूगल ने चेन्नई बाढ़ पीड़ितों के लिए शुरू की खास सर्विस फेसबुक ने शुरू किया चेन्नई के लोगों के लिए सेफ्टी चेक फीचर

फेसबुक ने चेन्नई के बाढ़ पीड़ि‍ताें की सुरक्षा के लिए सेफ्टी चेक फीचर एक्टिवेट कर दिया है. इस फीचर के तहत लोग फेसबुक पर अपने परिवारों और दोस्तों को अपने सुरक्षित होने की जानकारी दे सकते हैं. इस फीचर के जरिए बाढ़ पीड़ित फेसबुक पर लोगों से मदद की अपील भी कर सकते हैं.

इस फीचर को यूज करने वाले यूजर्स की फ्रेंडलिस्ट के सभी लोगों को नोटिफिकेशन के जरिए बताया जाता है कि आपका दोस्त इस आपदा से सुरक्षित है या उसे आपकी मदद चाहिए.

गूगल ने भी इस बाढ़ के बाद चेन्नई के लोगों के लिए क्राइसिस रिस्पॉन्स सर्विस के तहत एक खास रेस्क्यू पेज बनाया है जिसमें बाढ़ पीड़ित क्षेत्रों की जानकारी समेत कई हेल्पलाइन नंबर दिए गए हैं जहां से बाढ़ पीड़ित मदद की अपील कर सकते हैं. इसके अलावा यहां मैप के जरिए बाढ़ से डूबे हुए इलाके भी दिखाए जा रहे हैं ताकि रेस्क्यू ऑपरेशन की टीम या पीड़ित के परिजन उनकी मदद कर सकें. इस पेज पर बाढ़ से जुड़े सभी लाइव ट्विट भी दिखाए जा रहे हैं.

पेरिस हमलों के बाद लोगों ने उठाया था सवाल

पिछले दिनों हुए पेरिस हमलों के बाद भी फेसबुक ने ऐसा ही फीचर वहां के लोगों के लिए शुरू किया था जिसके बाद उसे बड़े स्तर आलोचना भी झेलनी पड़ी थी. लोगों का कहना था कि दूसरे देशों में भी ऐसे हमले होते हैं तो फेसबुक वहां के लिए ऐसे फीचर्स नहीं शुरू करता. इसके बाद फेसबुक फाउंडर मार्क जकरबर्ग ने फेसबुक पोस्ट पर लिखा कि पहले सेफ्टी चेक फीचर सिर्फ प्राकृतिक आपदाओं के लिए था पर पेरिस अटैक के बाद से यह फीचर दूसरे बड़े क्राइसिस के लिए भी यूज किया जाएगा.

गौरतलब है कि पेरिस हमलों के बाद फेसबुक ने लोगों से प्रोफाइल पिक्चर में पेरिस का झंडा लगा कर उनके प्रति संवेदना जताने करने की अपील की थी. सोशल मीडिया पर कुछ लोग यह भी सवाल उठा रहे हैं कि चेन्नई बाढ़ में मारे गए लोगों के लिए फेसबुक ने ऐसी अपील क्यों नहीं की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay