एडवांस्ड सर्च

GST: जानें किन चीजों पर मिलेगी राहत, और कहां होगी जेब ढीली

श्रीनगर में दो दिन तक चली जीएसटी काउंसिल की बैठक में विभिन्न क्षेत्रों में जीएसटी की दर तय की गई. जानें किन चीजों के दाम में आएगी कमी और कौन की चीजें और सेवाएं पड़ेंगी महगीं.

Advertisement
aajtak.in
केशवानंद धर दुबे/ BHASHA नई दिल्ली, 20 June 2017
GST: जानें किन चीजों पर मिलेगी राहत, और कहां होगी जेब ढीली GST से क्या होगा महंगा और किन चीजों पर मिलेगी राहत

1 जुलाई से देश में जीएसटी यानी माल एवं सेवा कर पूरे देश में लागू होने जा रहा है. श्रीनगर में दो दिन तक चली जीएसटी काउंसिल की बैठक में विभिन्न क्षेत्रों में जीएसटी की दर तय की गई. जानें किन चीजों के दाम में आएगी कमी और कौन की चीजें और सेवाएं पड़ेंगी महगीं.

GST आने के बाद ये होंगे टैक्स रेट-
-दूरसंचार, बीमा, होटल व रेस्टोरेंट सहित विभिन्न सेवाओं के लिए चार दर स्लैब 5, 12, 18 व 28 प्रतिशत तय करने का फैसला किया गया है.

-सिनेमा सेवाओं, घुड़दौड़ में बाजी लगाने या गेंबलिंग पर 28 प्रतिशत कर लगेगा.

जानें क्या होगा सस्ता-
-हेल्थकेयर व शिक्षा सेवाओं को जीएसटी से छूट रहेगी.

-हवाई यात्रा में इकोनॉमी श्रेणी पर 5 प्रतिशत कर लगेगा जिससे ये सस्ता होगा. अभी इकोनॉमी क्लास के टिकट पर 6% टैक्स लगता है.

 

-रेल यात्रा में सामान्य श्रेणी और बिना एसी वाली रेल यात्रा को जीएसटी से छूट दी गई है. जबकि एसी टिकटों पर 5 प्रतिशत शुल्क लगेगा.

 

-बिना एसी वाले रेस्टोरेंट में भोजन बिल पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा.

-परिवहन सेवाओं पर पांच प्रतिशत कर लगेगा. यह दर ओला व उबर जैसी एप से टैक्सी बुकिंग सेवा देने वाली कंपनियों पर भी लागू होगी अभी 6% टैक्स लगता है.
-1000 से 2000 रुपये प्रति दिन शुल्क वाले होटल के लिए 12 प्रतिशत कर की रेट रहेगी. इसी तरह 2500 से 5000 रपये प्रति दिन शुल्क वाले होटल के लिए शुल्क दर 18 प्रतिशत रहेगी.
-फ्लिपकार्ट व स्नैपडील जैसी इकामर्स कंपनियों को आपूर्तिकर्ताओं को भुगतान करते समय एक प्रतिशत टीसीएस कटौती करनी होगी.

इन चीजों पर जेब होगी ढीली-
-मोबाइल सेवाएं महंगी होगी, सरकार ने इसे 18 प्रतिशत कर के दायरे में रखा है. फिलहाल दूरसंचार उपभोक्ताओं से उनके फोन बिल 15 प्रतिशत कर और उपकर लगता है.

- पांच सितारा होटलों में जीएसटी की दर 28 प्रतिशत रहेगी. अब तक 11% लगता था, यानी 17% ज्यादा.

 

-प्लेन में बिजनेस क्लास के टिकट पर 9 % टैक्स लगता है. जीएसटी में 12% टैक्स लगेगा यानी ये 3% महंगा होगा.
-GST में टूर एंड ट्रैवल पर 18% टैक्स लगेगा. अभी 15% लगता है, यानी टैक्स रेट 3% बढ़ जाएगा.

सोने पर अभी कोई फैसला नहीं-
वित्त मंत्री जेटली ने बताया कि सोने व कीमती धातुओं पर कर के मुद्दे को परिषद की आगामी बैठक में विचार किया जाएगा जो कि तीन जून को दिल्ली में होगी. उन्होंने कहा कि जीएसटी से किसी तरह का मुद्रास्फीतिक असर नहीं होगा. इसके अलावा अगली बैठक में सिगरेट, बीड़ी, टेक्सटाइल, फुटवियर और बायो डीजल जैसे 6 गुड्स एंड सर्विसेस के टैक्स रेट भी तय होंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay