एडवांस्ड सर्च

ट्रंप की चीन को धमकी- सितंबर से 10% टैरिफ, डील नहीं किया तो और बढ़ा दूंगा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वह 1 सितंबर से चीन के 300 अरब डॉलर के आयात पर 10 फीसदी का टैरिफ लगाएंगे. उन्होंने कहा कि अगर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने तेजी से किसी व्यापारिक समझौते पर नहीं पहुंचे तो यह टैरिफ और बढ़ा दिया जाएगा.

Advertisement
aajtak.inनई दिल्ली, 02 August 2019
ट्रंप की चीन को धमकी- सितंबर से 10% टैरिफ, डील नहीं किया तो और बढ़ा दूंगा ट्रंप ने दी धमकी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वह 1 सितंबर से चीन के 300 अरब डॉलर के आयात पर 10 फीसदी का टैरिफ लगाएंगे. उन्होंने एक तरह से धमकी दी है कि अगर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग तेजी से किसी व्यापारिक समझौते पर नहीं पहुंचे तो यह टैरिफ और बढ़ा दिया जाएगा. इस खबर के आते ही अमेरिकी शेयर बाजारों में गिरावट शुरू हो गई.

कच्चे तेल की कीमतों में 7 फीसदी की गिरावट आ गई और ब्रेंट क्रूड में फरवरी, 2016 के बाद एक दिन की सबसे ज्यादा गिरावट देखी गई. अमेरिका का एक्सचेंज एसऐंडपी 500 अंत में 0.9 फीसदी गिरावट के साथ बंद हुआ.

ट्रंप की गुरुवार को की गई इस घोषणा का मतलब है कि अब अमेरिका में चीन के लगभग सभी आयातित वस्तुओं पर ट्रेड टैरिफ लग जाएगा और यह ट्रेड वॉर को खत्म करने के लिए हो रही बातचीत में बड़ा झटका है. दोनों देशों के बीच जारी ट्रेड वॉर की वजह से वैश्व‍िक आपूर्ति चेन बाधित हो गया है और वित्तीय बाजारों को झटका लगा है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक ट्रंप ने कहा, 'मुझे लगता है कि राष्ट्रपति शी एक डील करना चाहते हैं, लेकिन साफ कहूं तो वह पर्याप्त तेजी नहीं दिखा रही.'

लगातार कई ट्वीट कर ट्रंप ने ये घोषणाएं कीं. चीन से ट्रेड पर बातचीत करने वाले अमेरिकी प्रतिनिधियों ने उन्हें यह बताया कि पिछले हफ्ते शंघाई में हुई वार्ता के दौरान कुछ खास प्रगति नहीं हो पाई. ट्रंप ने अब साफ कहा है कि यदि वार्ता विफल रहती है तो वह टैरिफ और बढ़ा देंगे. गौरतलब है कि चीन से आयातित 250 अरब डॉलर की वस्तुओं पर अमेरिका ने पहले से ही 25 फीसदी का टैरिफ लगा रखा है.

रेटिंग एजेंसी मूडीज का कहना है कि अमेरिका द्वारा नया टैरिफ लगाना वैश्विक अर्थव्यवस्था पर बहुत भारी पड़ेगा, क्योंकि पहले से ही अमेरिका, चीन, यूरो जैसे इलाकों में अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी पड़ गई है. इस टैरिफ की वजह से अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व को ब्याज दरों में और कटौती को मजबूर होना पड़ सकता है.  

गौरतलब है कि अमेरिका ने पिछले साल चीन के 250 अरब डालर के सामान के आयात पर आयात शुल्क 25 प्रतिशत तक बढ़ा दिया था. इसके जवाब में चीन ने भी 110 अरब डालर के अमेरिकी सामान के आयात पर शुल्क बढ़ा दिया. अमेरिका चीन का सबसे बड़ा व्यापार भागीदार है. वर्ष 2017 में अमेरिका का चीन के साथ कुल व्यापार 635.4 अरब अमेरिकी डालर का रहा. इसमें अमेरिका से निर्यात 129.9 अरब डालर और चीन से किया गया आयात 505.5 अरब डालर रहा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay