एडवांस्ड सर्च

45,000 करोड़ रुपये निवेश करेगा टाटा समूह: मिस्त्री

टाटा समूह अगले दो साल में विभिन्न क्षेत्रों में 45,000 करोड़ रुपये से अधिक निवेश करेगा और भारत के साथ उसका वैश्विक बाजारों में अपनी उपस्थिति बढ़ाने पर जोर रहेगा. टाटा समूह के नए प्रमुख साइरस पी मिस्त्री ने यह बात कही.

Advertisement
aajtak.in
भाषानई दिल्ली, 03 January 2013
45,000 करोड़ रुपये निवेश करेगा टाटा समूह: मिस्त्री साइरस पी मिस्त्री

टाटा समूह अगले दो साल में विभिन्न क्षेत्रों में 45,000 करोड़ रुपये से अधिक निवेश करेगा और भारत के साथ उसका वैश्विक बाजारों में अपनी उपस्थिति बढ़ाने पर जोर रहेगा. टाटा समूह के नए प्रमुख साइरस पी मिस्त्री ने यह बात कही.

टाटा संस के चेयरमैन के रूप में अपने पहले संदेश में मिस्त्री ने कहा कि टाटा समूह में नेतृत्व बदल जाने के बावजूद उसकी मूल गतिविधियों में कोई बदलाव नहीं आयेगा. उन्होंने समूह की कंपनियों से कहा कि वे अपने अपने क्षेत्रों में नेतृत्वकारी भूमिका में आयें.

नमक, रसायन, इंजीनियरिंग से लेकर साफ्टवेयर क्षेत्र में कार्यरत 100 अरब डालर के इस उद्योग समूह के नए प्रमुख 44 वर्षीय मिस्त्री ने 28 दिसंबर को रतन टाटा के सेवानिवृत्त होने के बाद कार्यभार संभाला है. टाटा करीब 50 साल तक टाटा समूह से जुड़े रहे. इसमें 21 बरस तक उन्होंने चेयरमैन के रूप में काम किया.

कर्मचारियों को अपने संदेश में मिस्त्री ने कहा कि रतन टाटा के नेतृत्व में समूह एक वैश्विक समूह के रूप में बदल सका और इसका आकार ‘अविश्वसनीय’ 100 अरब डालर के आंकड़े को पार कर गया. नए मुखिया ने कहा, ‘समूह के चेयरमैन की जिम्मेदारी उन्हें सौंपे जाने के साथ ही बदलाव की बयार भी लाई है, लेकिन टाटा समूह की गतिविधियों के मूल में निश्चित रूप से बदलाव नहीं आयेगा.’

मिस्त्री ने कहा, ‘यह डीएनए रूपी मूल जो टाटा का नाम है, इसके अलावा हमें हमारे समकक्षों से अलग पहचान देने वाला कुछ और नहीं है.’ टाटा संस के चेयरमैन मिस्त्री ने कहा कि समूह ने पिछले तीन साल में विभिन्न कारोबार क्षेत्रों में 50,000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया है. इस दौरान समूह ने 85,000 नौकरियों का सृजन किया.

मिस्त्री ने कहा कि अगले दो साल में 45,000 करोड़ रुपये के अतिरिक्त निवेश के लिए योजना तैयार कर ली गई है. वित्त वर्ष 2011-12 के अंत तक टाटा समूह के कर्मचारियों की संख्या 4.56 लाख थी. मिस्त्री ने कहा, ‘भारत के अलावा हमें अपनी वैश्विक पहुंच बढ़ाने पर भी काम करना है. हमारा मुख्य ध्यान एशिया, अफ्रीका और लातिनी अमेरिका के उभरते बाजारों पर होगा. इसके साथ ही हम यूरोप और अमेरिका में अपनी मौजूदगी बढायेंगे.’

मिस्त्री ने भारत की विकास की कहानी पर भरोसा जताते हुए कहा कि सरकार ने हाल में नीति में स्पष्टता पर जोर दिया है. साथ ही आर्थिक सुधारों के प्रति भरोसा बढ़ना भी उत्साहजनक है. उन्होंने कहा, ‘नीतिगत मोर्चे पर स्थिरता तथा उसके क्रियान्वयन से मुझे विश्वास है कि भारत निवेश के लिए आकषर्क गंतव्य बना रहेगा. हमारा समूह भारत के विकास की कहानी में निवेश के जरिये भूमिका निभाएगा.’

समूह के वैश्विक विस्तार के बारे में मिस्त्री ने कहा कि सभी कंपनियों को अलग रास्ता अपनाना करना है. इसके साथ ही उन्होंने चेताया कि संतुष्ठ होकर बैठना घातक होगा. इससे प्रतिस्पर्धा से बाहर होने का खतरा बढ़ जाता है. मिस्त्री ने कहा, ‘हम एक प्रतिस्पर्धी दौर में हैं. ऐसे वातावरण में सफल होने के लिए हमें अपने रुख को कुछ अलग करना होगा और नवप्रवर्तन पर ध्यान देना होगा.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay