एडवांस्ड सर्च

मजबूती के साथ खुला बाजार, सेंसेक्स में 206 अंक और निफ्टी में 62 अंक की बढ़त

शेयर बाजार की सोमवार को शुरुआत सकरात्मक रुख के साथ हुई है. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सेंसेक्स 206.35 अंक बढ़कर 37,556.68 पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का निफ्टी 61.80 अंक‍ चढ़कर 11,109.60 पर खुला है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 19 August 2019
मजबूती के साथ खुला बाजार, सेंसेक्स में 206 अंक और निफ्टी में 62 अंक की बढ़त बाजार में मजबूती

शेयर बाजार की सोमवार को शुरुआत सकरात्मक रुख के साथ हुई है. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सेंसेक्स 206.35 अंक बढ़कर 37,556.68 पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का निफ्टी 61.80 अंक‍ चढ़कर 11,109.60 पर खुला है. इसके बाद से बाजार में थोड़ा उतार-चढ़ाव बना हुआ है, लेकिन मजबूती जारी है.

कारोबार की शुरुआत में 552 शेयरों में तेजी और 197 शेयरों में गिरावट देखी गई. बढ़ने वाले प्रमुख शेयरों में इंटरग्लोब एविएशन, सन फार्मा, टाइटन, इंडियाबुल्स हाउसिंग, यूपीएल, जेएसडब्ल्यू स्टील, डॉ. रेड्डीज लैब, सिप्ला, बजाज फिनसर्व, एक्सिस बैंक, टेक महिंद्रा, हीरो मोटो, भारती एयरटेल प्रमुख रहे. इसी प्रकार गिरने वाले शेयरों में यूनिकेम लैब, पावर ग्रिड, जी एंटरटेनेमेंट, एशियन पेंट्स और महिंद्रा ऐंड महिंद्रा शामिल रहे. सभी सेक्टर हरे निशान में थे.

घरेलू शेयर बाजार में बीते सप्ताह के आखिर में हालांकि तेजी का रुझान दिखा, लेकिन प्रमुख शेयर सूचकांकों में पिछले सप्ताह के मुकाबले गिरावट रही. अब आगामी कारोबारी सप्ताह के दौरान निवेशकों को सरकार द्वारा अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की दिशा में उठाए जाने वाले कदमों का इंतजार रहेगा.

वैश्विक संकेतों से बाजार को मिलेगी दिशा

इसके अलावा विदेशी बाजार से मिलने वाले संकेतों से बाजार को दिशा मिलेगी. अमेरिका और चीन के बीच व्यापार जंग के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था पर मंदी का साया मंडरा रहा है, जिसका असर पूरी दुनिया के बाजारों पर दिख रहा है. लिहाजा, इस सप्ताह के घटनाक्रम से वैश्विक बाजार पर पड़ने वाले असर से भारतीय बाजार अछूता नहीं रहेगा, मगर इस बीच सरकार द्वारा देश की अर्थव्यवस्था के विकास को रफ्तार देने की दिशा में उठाए जाने वाले कदमों का सकारात्मक असर देखा जा सकता है.

पिछले महीने बजट में दौलतमंद आयकरदाताओं पर सरचार्ज में बढ़ोतरी का असर अब तक बाजार पर बना हुआ है, क्योंकि इसके बाद विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) की बिकवाली का लगातार दबाव बना रहा है. सरकार ने इस दिशा में राहत प्रदान करने के संकेत दिए हैं, जिसपर निवेशकों की नजर होगी. 

रुपये पर भी रहेगी नजर

इसके अलावा, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का दाम और डॉलर के मुकाबले रुपये की चाल से भी बाजार की दिशा तय होगी. बीते सप्ताह के आखिरी सत्र में रुपया साप्ताहिक आधार पर 35 पैसे की कमजोरी के साथ 71.16 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ.

वहीं, सप्ताह के दौरान बुधवार को भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक के मिनट्स (विवरण) जारी होंगे.

आबीआई ने इस महीने के आरंभ में अपनी मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक में प्रमुख ब्याज दर यानी रेपो रेट में 35 आधार अंकों की कटौती कर इसे 5.40 फीसदी रखने का फैसला किया. उधर, अमेरिका में भी फेडरल ओपन मार्केट कमेटी (एफओएमसी) की जुलाई के आखिर में हुई बैठक के मिनट्स भी बुधवार को कही जारी होंगे.

(एजेंसी इनपुट के साथ )

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay