एडवांस्ड सर्च

Share Market: लाल निशान पर बंद हुआ बाजार, निफ्टी 10, 890 के नीचे

सप्‍ताह के पहले कारोबारी दिन भारतीय शेयर बाजार लाल निशान पर बंद हुए.सबसे ज्‍यादा गिरावट ऑटो सेक्‍टर के शेयर में देखने को मिली.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: दीपक कुमार]मुंबई, 11 February 2019
Share Market: लाल निशान पर बंद हुआ बाजार, निफ्टी 10, 890 के नीचे निफ्टी 10, 890 के नीचे

बढ़त के साथ शुरुआत के बाद सोमवार को भारतीय शेयर बाजार एक बार फिर लाल निशान पर बंद हुए. सप्‍ताह के पहले कारोबारी दिन सेंसेक्‍स  151 अंक से अधिक टूट गया. वहीं निफ्टी की बात करें तो यह 10,890 अंक से नीचे बंद हुआ. बता दें कि बीते शुक्रवार को भी देश के शेयर बाजारों में भारी गिरावट दर्ज की गई. शुक्रवार को सेंसेक्स 424.61 अंकों की गिरावट के साथ 36,546.48 पर बंद हुआ.  जबकि निफ्टी 125.80 अंक लुढ़क कर 10,943.60 पर बंद हुआ.

कारोबार के दौरान सेंसेक्स 36,588.41 से 36,300.48 अंक के दायरे में घूमने के बाद अंत में 0.41 फीसदी के नुकसान से 36,395.03 अंक पर बंद हुआ.  इससे पिछले दो कारोबारी सत्रों में सेंसेक्स 429 अंक टूटा था.  वहीं निफ्टी 49.80 अंक या 0.50 फीसदी के नुकसान से 10,888.80 अंक पर बंद हुआ.  कारोबार के दौरान निफ्टी 10,857.10 के निचले स्तर तक आया जबकि 10,930.90 अंक के उच्चस्तर तक गया.

 यह है गिरावट की वजह

शेयर बाजार में में गिरावट की वजह  वाहन, बैंकिंग, रीयल्टी कंपनियों के शेयरों में भारी बिकवाली रही.  वहीं औद्योगिक उत्पादन और मुद्रास्फीति के आंकड़े इसी सप्ताह आने हैं, इस वजह से भी निवेशकों ने सतर्कता बरती. कारोबारियों ने कहा कि निवेशक अमेरिका-चीन व्यापर युद्ध और कंपनियों के उम्मीद से कमजोर तिमाही नतीजों को लेकर भी चिंतित हैं.इसके अलावा वैश्विक मोर्चे पर तेजी की चिंता की वजह से भी बाजार लुढ़क गया है.

ऑटो कंपनियों के शेयर को सबसे ज्‍यादा नुकसान

कारोबार के दौरान ऑटो कंपनियों के शेयर सबसे ज्‍यादा नुकसान में रहे. दरअसल, जनवरी में लगातार तीसरे महीने वाहन कंपनियों की बिक्री घटी है. इसलिए निवेशकों ने ऑटो सेक्‍टर के शेयर को लेकर सतर्कता बरती है. सियाम के आंकड़ों के अनुसार, माह के दौरान वाहन कंपनियों की बिक्री में 1.87 फीसदी की गिरावट आई.  सबसे अधिक 5 फीसदी का नुकसान महिंद्रा एंड महिंद्रा को हुआ. बता दें कि महिंद्रा एंड महिंद्रा ने शुक्रवार को अपनी दिसंबर, 2018 की तिमाही के नतीजे घोषित किए थे. इन नतीजों में कंपनी का शुद्ध लाभ 11.44 फीसदी घटकर 1,076.81 करोड़ रुपये पर आ गया.

अन्य कंपनियों में ओएनजीसी, बजाज फाइनेंस, रिलायंस, एसबीआई, हीरो मोटोकॉर्प, आईसीआईसीआई बैंक, एलएंडटी, वेदांता, यस बैंक और एक्सिस बैंक के शेयर 2.54 फीसदी तक टूट गए. वहीं बढ़त वाले शेयर टाटा स्टील, पावरग्रिड, एचसीएल टेक, कोटक बैंक और मारुति रहे.

आयशर मोटर्स का मुनाफा बढ़ा

31 दिसंबर को समाप्त तीसरी तिमाही में आयशर मोटर्स का शुद्ध लाभ 2.39 फीसदी बढ़कर 532.95 करोड़ रुपये हो गया है. पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में मुनाफा 520.5 करोड़ रुपये था. आयशर मोटर्स की कुल आय बढ़कर 2,488.19 करोड़ रुपये हो गई. एक साल पहले की इसी तिमाही में यह आंकड़ा 2,316.49 करोड़ रुपये था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay