एडवांस्ड सर्च

मीट गायब, महंगे चिकन और सस्ती सब्जी से लुढ़क गई महंगाई

सब्जियों के साथ साथ दाल, अंडा, मीट के दाम घटने से मई माह के दौरान थोक मुद्रास्फीति घटकर 2.17 फीसदी रह गई. पिछले पांच माह में थोक मुद्रास्फीति का यह सबसे निचला स्तर है. थोक मुद्रास्फीति से पहले जारी खुदरा मुद्रास्फीति का आंकड़ा भी काफी नीचे आ गया है.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: राहुल मिश्र] 15 June 2017
मीट गायब, महंगे चिकन और सस्ती सब्जी से लुढ़क गई महंगाई दाल, अंडा, मीट के दाम घटने से मुद्रास्फीति घटकर 2.17 फीसदी रह गई

सब्जियों के साथ साथ दाल, अंडा, मीट के दाम घटने से मई माह के दौरान थोक मुद्रास्फीति घटकर 2.17 फीसदी रह गई. पिछले पांच माह में थोक मुद्रास्फीति का यह सबसे निचला स्तर है. थोक मुद्रास्फीति से पहले जारी खुदरा मुद्रास्फीति का आंकड़ा भी काफी नीचे आ गया है.

 

इन दोनों आंकड़ों के बाद रिजर्व बैंक पर अब दबाव बढ़ गया है कि वह अपनी मुख्य दर में कटौती करे. थोक मुद्रास्फीति एक महीना पहले अप्रैल में 3.85 फीसदी पर थी जबकि एक साल पहले मई में यह शून्य से 0.9 फीसदी नीचे थी.

पिछले पांच माह की अवधि में दिसंबर में थोक मुद्रास्फीति 2.10 फीसदी दर्ज की गई थी. रिजर्व बैंक ने इस माह की शुरुआत में जारी मौद्रिक नीति समीक्षा में चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही के लिये खुदरा मुद्रास्फीति का अनुमान घटा दिया था.

थोक मुद्रास्फीति का आंकड़ा अब 2011-12 आधार वर्ष के अनुरूप है जबकि इससे पहले यह 2004-05 पर आधारित था. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक मई में खाद्य उत्पादों के दाम में 2.27 फीसदी गिरावट रही. सब्जियों के दाम 18.51 फीसदी घट गये. आलू और प्याज के दाम भी गिरावट में रहे. दलहन और अनाज के दाम में भी वृद्धि हल्की रही.

अनाज के दाम में पिछले साल मई में जहां 6.67 फीसदी मूल्यवृद्धि दर्ज की गई थी वहीं इस साल मई में इनकी मूल्य वृद्धि 4.15 फीसदी रही. दलहन के दाम मई में 19.73 फीसदी घट गये. अंडा, मीट और मछली के दाम में भी सालाना आधार पर 1.02 फीसदी की गिरावट रही. फलों के समूह की मुद्रास्फीति मई में 0.73 फीसदी घट गई.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay