एडवांस्ड सर्च

रेड जोन में राहत: Amazon, Flipkart पर शुरू हुई मोबाइल, टीवी जैसे सामानों की बुकिंग

सोमवार को इस बारे में दिल्ली सरकार और कई राज्य सरकारों द्वारा निर्देश जारी होने के बाद Amazon, Flipkart जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों ने गैर जरूरी सामान की बुकिंग भी शुरू कर दी है. देश भर में लॉकडाउन का चौथा चरण 18 मई से लागू कर दिया गया है. सरकार ने इस बार रेड जोन में भी ई-कॉमर्स कंपनियों को गैर जरूरी सामान की आपूर्ति करने की इजाजत दी है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 19 May 2020
रेड जोन में राहत: Amazon, Flipkart पर शुरू हुई मोबाइल, टीवी जैसे सामानों की बुकिंग फ्लिपकार्ट जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों ने गैर जरूरी सामान की आपूर्ति शुरू की

  • लॉकडाउन 4 में मिली गैर जरूरी सामान डिलीवरी की इजाजत
  • ई-कॉमर्स कंपनियों को था राज्य सरकारों के निर्देशों का इंतजार

  • निर्देश मिलने के बाद इनकी वेबसाइट पर शुरू हो गई बुकिंग

दिल्ली जैसे रेड जोन वाले इलाकों में भी एमेजॉन, फ्लिपकार्ट जैसी कंपनियों ने मोबाइल, टीवी, फ्रिज आदि की बिक्री शुरू कर दी है. ई-कॉमर्स कंपनियां इस बारे में राज्य सरकारों के निर्देश का इंतजार कर रही थीं.

सुरक्षा उपायों के साथ होगी डिलीवरी

सोमवार को इस बारे में दिल्ली सरकार और कई राज्य सरकारों द्वारा निर्देश जारी होने के बाद Amazon, Flipkart जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों ने गैर जरूरी सामान की बुकिंग भी शुरू कर दी है. कंपनियों का दावा है कि इन सामान की आपूर्ति पूरी तरह से सुरक्षा उपायों को ध्यान में रखकर की जा रही है और वे कॉन्टैक्टलेस डिलीवरी पर जोर दे रही हैं.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

गौरतलब है कि देश भर में लॉकडाउन का चौथा चरण 18 मई से लागू कर दिया गया है. सरकार ने इस बार रेड जोन में भी ई-कॉमर्स कंपनियों को गैर जरूरी सामान की आपूर्ति करने की इजाजत दी है.

ये है सरकार की व्यवस्था

केंद्र सरकार ने अब लॉकडाउन 4 के दौरान रेड, ओरेंज, ग्रीन जोन निर्धारित करने का फैसला भी राज्यों पर छोड़ दिया है. साथ ही बफर और कंटेनमेंट जोन और बनाए गए हैं. गृह मंत्रालय के निर्देश में स्पष्ट कहा गया है कि जिन चीजों पर प्रतिबंध है उनके अलावा बाकी सभी कारोबार या गतिविधियां चलाई जा सकती हैं.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

ई-कॉमर्स को मिल गई छूट

ई-कॉमर्स सेवा को इस बार प्रतिबंध वाली सूची में नहीं रखा गया है और सिर्फ कंटेनमेंट जोन में ही इन पर प्रतिबंध होगा. कंटेनमेंट जोन में पहले की तरह सिर्फ अनिवार्य वस्तुओं की आपूर्ति की जा सकती है.

इसके पहले लॉकडाउन 3 में ई-कॉमर्स कंपनियों को गैर जरूरी सामान की आपूर्ति करने की इजाजत नहीं दी गई थी. उन्हें सिर्फ जरूरी सामान बेचने की इजाजत थी.

गृह मंत्रालय ने 31 मई तक बढ़ाए गए लॉकडाउन के चौथे चरण में विशेष तौर पर प्रतिबंधित गतिविधियों को छोड़कर अन्य सभी गतिविधियां खोलने की अनुमति दे दी है. वहीं कंटेनमेंट जोन (निषेध क्षेत्र) में सिर्फ अनिवार्य सेवाओं की ही अनुमति दी गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay