एडवांस्ड सर्च

IL&FS स्कैम में ED का एक्शन, पूर्व ज्वाइंट मैनेजिंग डॉयरेक्टर गिरफ्तार

आईएल एंड एफएस स्कैम में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने दो सीनियर अधिकारियों को गिरफ्तार किया है. जांच एजेंसी ने इस मामले में IL&FS के पूर्व संयुक्त प्रबंध निदेशक अरुण कुमार साधा को गिरफ्तार कर लिया है. इसके अलावा ED ने कंपनी से जुड़े के रामचंद्रन को भी गिरफ्तार किया है. के रामचंद्रन इस कंपनी के ट्रांसपोर्ट नेटवर्क के मैनेजिंग डायरेक्टर थे.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: पन्ना लाल]नई दिल्ली, 20 June 2019
IL&FS स्कैम में ED का एक्शन, पूर्व ज्वाइंट मैनेजिंग डॉयरेक्टर गिरफ्तार प्रतीकात्मक तस्वीर.

आईएल एंड एफएस स्कैम में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पहली गिरफ्तारी की है. जांच एजेंसी ने इस मामले में IL&FS के पूर्व संयुक्त प्रबंध निदेशक अरुण कुमार साधा को गिरफ्तार कर लिया है. इसके अलावा ED ने कंपनी से जुड़े के रामचंद्रन को भी गिरफ्तार किया है. के रामचंद्रन इस कंपनी के ट्रांसपोर्ट नेटवर्क के मैनेजिंग डायरेक्टर थे. इन दोनों अधिकारियों ने तब इस्तीफा दे दिया था जब सीरियस फ्रॉड इंवेस्टिगेशन ऑफिस (SFIO) ने इस घोटाले की जांच शुरू की थी.

ईडी ने एक बयान जारी कर बताया कि इन दोनों अधिकारियों को प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) के तहत गिरफ्तार किया गया है. इस मामले में ED द्वारा ये पहली गिफ्तारी है. गुरुवार को इन दोनों को मुंबई में PMLA कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा. जांच एजेंसी ईडी ने इस मामले में फरवरी में केस दर्ज की थी और कई अधिकारियों के घर दो बार छापेमारी की थी.

बता दें कि पिछले साल सितंबर में IL&FS के पास कर्ज संकट पैदा हो गया था, जब कंपनी अपने बकायों का भुगतान नहीं कर सकी थी. कंपनी ने सिडबी को बकाये की रकम नहीं चुकाई. इस कंपनी पर 91 हजार करोड़ का बकाया है.

बता दें कि IL&FS सरकारी क्षेत्र की कंपनी है. ये कंपनी इंफ्रास्ट्रक्चर, फ़ाइनेंस, ट्रांसपोर्ट और दूसरे कई क्षेत्रों में काम करती है. इस कंपनी का पूरा नाम इंफ्रास्ट्रक्चर एंड लीजिंग फाइनेंशियल सर्विसेज है. ED को उम्मीद है कि इन दोनों से पूछताछ के बाद कई मामले उजागर होंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay