एडवांस्ड सर्च

होंडा और सुजुकी ने वापस मंगाई लाखों कारें, निकली ये गड़बड़‍ियां

जापान की दो बड़ी ऑटो कंपनियों की कारों में अलग-अलग तरह की समस्‍याएं हैं. इस वजह से दोनों कंपनियों ने लाखों कार बाजार से वापस मंगा ली है.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: दीपक कुमार]नई दिल्‍ली, 19 April 2019
होंडा और सुजुकी ने वापस मंगाई लाखों कारें, निकली ये गड़बड़‍ियां होंडा और सुजुकी ने वापस मंगाई लाखों कारें

जापान की प्रमुख वाहन कंपनी होंडा ने भारत समेत दुनियाभर में अपनी एकॉर्ड सेडान कार को वापस मंगा रही है. इसी तरह जापान की एक अन्‍य कार निर्माता कंपनी सुजुकी ने घरेलू स्तर पर भेजे गए 20 लाख वाहनों को वापस मंगाने का ऐलान किया. हालांकि दोनों कंपनियों के फैसले की अलग-अलग वजह है.

होंडा ने क्‍यों लिया फैसला

होंडा की ओर से भारत में अपनी एकॉर्ड सेडान कार की 3,669 इकाइयों को वापस मंगाने की बात कही गई है. दरअसल, 2003 से वर्ष 2006 के बीच निर्मित होंडा के सेडान कार की सामने की सीट पर दोषपूर्ण एयरबैग की बात सामने आई है. यही वजह है कि कंपनी ने यह फैसला लिया है.  एचसीआईएल ने एक बयान के मुताबिक पूरे भारत में होंडा डीलरशिप केन्द्र के माध्यम से एयरबैग को बदलने का कार्य मुफ्त में किया जायेगा. ऐसा नहीं है कि होंडा ने सिर्फ भारत के लिए यह फैसला लिया है. दोषपूर्ण सुरक्षा एयरबैग के कारण कंपनी विश्व स्तर पर लाखों वाहनों को वापस मंगाया है.

सुजुकी ने  20 लाख वाहनों को वापस मंगाया

एक अन्‍य जापान की कार निर्माता कंपनी सुजुकी ने घरेलू स्तर पर भेजे गये 20 लाख वाहनों को वापस मंगाने का ऐलान किया. कंपनी ने कहा कि यह वापसी ईंधन क्षमता के गलत आंकड़े सहित विभिन्न अन्य गड़बड़ियों के कारण की जा रही है. यह वापसी 4 साल या उससे कम समय से चलने वाले वाहनों के लिए हो रही है जिनकी अभी तक नियमित जांच नहीं हुई है. पिछले हफ्ते, सुजुकी ने स्वीकार किया कि एक आंतरिक समीक्षा में अपने कारखानों में ब्रेक की गलत जांच, गलत ईंधन क्षमता के आंकड़े तथा अंतिम निरीक्षण करने वाले अप्रमाणित कर्मचारी सहित कई समस्यायें पायी गई थी.

वाहनों के इस वापसी से कंपनी पर लगभग 80 अरब जापानी येन (71.5 करोड़ डॉलर) की लागत आने की उम्मीद है और यह सुज़ुकी द्वारा निसान, माज़दा और मित्सुबिशी के लिए उत्पादित वाहनों के लिए निर्मित कलपुर्जो को भी प्रभावित करता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay