एडवांस्ड सर्च

Advertisement

GST से मिली रियायत से 15% बढ़ी पैसेंजर कार की सेल

वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चरर्स सिआम के जारी आंकड़ों के अनुसार आलोच्य माह में घरेलू बाजार में कारों की बिक्री 8.52 फीसदी बढ़कर पिछले साल की 1,77,639 इकाइयों के मुकाबले इस साल 1,92,773 इकाई पर पहुंच गयी है.
GST से मिली रियायत से 15% बढ़ी पैसेंजर कार की सेल यात्री कारों की बिक्री 15.12 प्रतिशत बढ़कर 2,98,997 इकाई पर पहुंच गयी
aajtak.in [Edited by: राहुल मिश्र]नई दिल्ली, 11 August 2017

इस साल जुलाई महीने में यात्री कारों की बिक्री 15.12 प्रतिशत बढ़कर 2,98,997 इकाई पर पहुंच गयी. पिछले साल के इसी महीने में कुल 2,59,720 यात्री कार बेची गईं थीं. वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चरर्स सिआम के जारी आंकड़ों के अनुसार आलोच्य माह में घरेलू बाजार में कारों की बिक्री 8.52 फीसदी बढ़कर पिछले साल की 1,77,639 इकाइयों के मुकाबले इस साल 1,92,773 इकाई पर पहुंच गयी है.

दोपहिया वाहनों की सेल में 17 फीसदी इजाफा

मोटरसाइकिलों की बिक्री भी इस दौरान पिछले साल की 8,97,084 इकाइयों से 16.9 फीसदी बढ़कर 10,48,657 इकाई हो गयी है. दोपहिया वाहनों में इस साल जुलाई में कुल 16,79,055 वाहन बेचे गये जो पिछले साल के इसी महीने के 14,76,332 वाहनों के मुकाबले 13.73 फीसदी अधिक है.

इसे भी पढ़ें: नोटबंदी से चौपट हो गई सेकेंड हैंड कार की मार्केट

 

कॉमर्शियल वेहिकल सेल में 14 फीसदी इजाफा

सिआम ने कहा कि इस दौरान व्यावसायिक वाहनों की बिक्री 13.78 फीसदी बढ़कर 59 हजार इकाई पर पहुंच गयी है. सभी श्रेणियों के वाहनों की बिक्री इस दौरान 13.3 फीसदी बढ़कर 20,78,313 इकाई पर पहुंच गयी. पिछले साल के जुलाई महीने में यह 18,34,302 इकाई रही थी.

इसे भी पढ़ें: नोटबंदी: भूटान और नेपाल में डॉलर की तरह चमकता था रुपया

 

युटीलिटी वेहिकल सेल में 35 फीसदी इजाफा

सिआम आंकड़ों के मुताबिक जुलाई के दौरान युटीलिटी वेहिकल सेल में 35.52 फीसदी का इजाफा हुआ है. इस क्षेत्र में ग्राहकों ने जीएसटी लागू होने पर कीमतों में आई गिरावट का फायदा उठाया. इस दौरान जुलाई में 86,874 गाडियां बिकी जबकि पिछले साल जुलाई में महज 64,105 गाड़िया बिकी थीं.

 

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay