एडवांस्ड सर्च

ट्रम्प ने किया चीन को लेकर ट्वीट- हर शब्द से वैश्विक बाजारों के डूब गए 13 अरब डॉलर

ट्रम्प ने चीन के साथ व्यापारिक समझौते की संभावना पर तुषारापात करते हुए रविवार को ट्वीट किया था कि वह चीनी वस्तुओं पर टैरिफ यानी आयात शुल्क बढ़ा देंगे. उनकी इस घोषणा से ही वैश्विक बाजारों में गिरावट आनी शुरू हो गई.

Advertisement
aajtak.in
दिनेश अग्रहरि नई दिल्ली, 09 May 2019
ट्रम्प ने किया चीन को लेकर ट्वीट- हर शब्द से वैश्विक बाजारों के डूब गए 13 अरब डॉलर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प का एक-एक शब्द पड़ा महंगा

इस हफ्ते अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के एक ट्वीट से वैश्विक बाजारों के 1.36 लाख करोड़ डॉलर डूब गए. ट्रम्प ने इस ट्वीट में महज 102 शब्द लिखे थे. इस प्रकार ट्रम्प के इस ट्वीट के औसतन हर शब्द से वैश्विक बाजारों के करीब 13 अरब डॉलर (करीब 90 हजार करोड़ रुपये) डूब गए. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन के 200 अरब डॉलर के उत्पादों पर आयात शुल्क बढ़ाने की चेतावनी दी है.

असल में ट्रम्प ने चीन के साथ व्यापारिक समझौते की संभावना पर तुषारापात करते हुए रविवार को ट्वीट किया था कि वह चीनी वस्तुओं पर टैरिफ यानी आयात शुल्क बढ़ा देंगे. उनकी इस घोषणा से ही वैश्विक बाजारों में गिरावट आनी शुरू हो गई और इसके बाद भारी उतार-चढ़ाव देखा गया. शिकागो बोर्ड ऑप्शन एक्सचेंज (Cboe) वोल्टेलिटी एक्सचेंज इसके पिछले दो दिनों में 50 फीसदी तक बढ़ गया और यह जनवरी के पहली बार 20 के स्तर पर पहुंचा. यानी बाजारों में भारी उतार-चढ़ाव रहा. गुरुवार को भी शुरुआती कारोबार में एशियाई बाजारों में गिरावट देखी गई.

ट्रम्प ने इस ट्वीट में लिखा था- पिछले 10 महीने से चीन 50 अरब डॉलर के हाईटेक वस्तुओं पर 25 फीसदी और 200 अरब डॉलर मूल्य की अन्य वस्तुओं पर 10 फीसदी टैरिफ अमेरिका को दे रहा है. यह भुगतान कुछ हद तक हमारे जबरदस्त आर्थ‍िक नतीजों के लिए जिम्मेदार है. यह 10 फीसदी अब शुक्रवार से बढ़कर 25 फीसदी हो जाएगा. चीन को भेजे जाने वाले 325 अरब डॉलर की अतिरिक्त वस्तुओं पर कोई टैक्स नहीं लगता, लेकिन अब इन पर 25 फीसदी टैक्स लगाया जाएगा. चीन के साथ व्यापार वार्ता जारी है, लेकिन यह बहुत धीमी गति से चल रही है.

चीन-अमेरिका तनाव बरकरार

ट्रंप के इस ट्वीट से यह संभावना धूमिल होने लगी कि पिछले कई महीनों से चल रहा अमेरिका-चीन तनाव कम हो जाएगा. बाजार को यह भरोसा था कि दोनों देशों में बातचीत सही रास्ते पर चल रहा है. बाजार यह मान चुका था कि दोनों देशों के बीच डील लगभग हो चुकी है. इसके पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बुधवार को चीन और अमेरिका के बीच व्यापार मोर्चे पर चल रही बातचीत को लेकर सकारात्मक संकेत दिए थे. ट्रम्प ने कहा कि चीन के अधिकारी इस हफ्ते 'व्यापार सौदा' करने के इरादे से अमेरिका आ रहे हैं.

चीन और अमेरिका के बीच द्विपक्षीय व्यापार इस वर्ष के पहले चार माह में 20 प्रतिशत घट गया है. दुनिया की दो सबसे बड़ी आर्थिक ताकतों के बीच व्यापार को लेकर तनाव लगातार बढ़ रहा है. सामान्य सीमा शुल्क प्रशासन द्वारा वाशिंगटन में 9-10 मई को होने जा रही 11वें दौर की व्यापार वार्ता से पहले जारी आंकड़ों के अनुसार पहले चार माह में दोनों देशों के बीच व्यापार 1,100 अरब युआन या 173 अरब डॉलर रहा, जो 2017 की समान अवधि की तुलना में 20 प्रतिशत कम है.

यदि ट्रम्प शुक्रवार से चीन के 200 अरब डॉलर के उत्पादों पर आयात शुल्क को 10 से बढ़ाकर 25 प्रतिशत करने की अपनी घोषणा को लागू करते हैं अमेरिका-चीन के द्विपक्षीय व्यापार में और गिरावट आएगी.

(न्यूज एजेंसी ब्लूमबर्ग और पीटीआई के इनपुट पर आधरित)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay