एडवांस्ड सर्च

2G घोटाला: टाटा, राडिया और राजा के खिलाफ सुनी जाएगी स्वामी की शिकायत

सुब्रमण्यन स्वामी ने दिसंबर 2016 में 2G स्पेक्ट्रम आवंटन मामले में दिल्ली की विशेष सीबीआई अदालत को शिकायत दी थी कि टाटा सन्स के पूर्व प्रमुख रतन टाटा, नीरा राडिया और पूर्व टेलिकॉम मंत्री ए राजा ने साजिश रचकर यूनीटेक समूह की कंपनियों को 2G स्पेक्ट्रम लाइसेंस आवंटन कराया था.

Advertisement
aajtak.in
राहुल मिश्र 01 March 2017
2G घोटाला: टाटा, राडिया और राजा के खिलाफ सुनी जाएगी स्वामी की शिकायत रतन टाटा, नीरा राडिया और ए राजा की बढ़ी मुश्किलें

2G घोटाला मामले में दिल्ली की एक अदालत अब बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी की दायर याचिका पर सुनवाई करेगी. सुब्रमण्यन स्वामी ने दिसंबर 2016 में 2G स्पेक्ट्रम आवंटन मामले में दिल्ली की विशेष सीबीआई अदालत को शिकायत दी थी कि टाटा सन्स के पूर्व प्रमुख रतन टाटा, नीरा राडिया और पूर्व टेलिकॉम मंत्री ए राजा ने साजिश रचकर यूनीटेक समूह की कंपनियों को 2G स्पेक्ट्रम लाइसेंस आवंटन कराया था.

बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने कोर्ट की दी शिकायत में कुछ सीबीआई अफसरों द्वारा टाटा, राडिया और राजा को मदद करने का आरोप भी लगाया था. स्वामी की शिकायत के मुताबिक टाटा समूह ने मनीलॉन्डरिंग का सहारा लेते हुए लगभग 1,700 करोड़ रुपये यूनाइटेड समूह की कंपनियों द्वारा प्राप्त किया था. मनीलॉन्डरिंग की यह घटना मार्च 2007 से मार्च 2008 के बीच अंजाम दी गई थी.

स्वामी की शिकायत के मुताबिक यूनीटेक वायरलेस की 8 कंपनियां मनीलॉन्डरिंग में लिप्त थी. अपनी शिकायत को पुख्ता करने के लिए स्वामी ने कोर्ट के सामने कॉरपोरेट अफेयर्स मंत्रालय की जांच रिपोर्ट भी संलग्न की थी. स्वामी ने रतन टाटा, नीरा राडिया और ए राजा समेत सभी लिप्त सीबीआई अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज करने की गुहार लगाई थी.

गौरतलब है कि स्वामी ने कोर्ट से पूरे मामले की प्रवर्तन निदेशालय द्वारा जांच कराए जाने की मांग भी की थी जिससे मनीलॉन्डरिंग के इस हाई-प्रोफाइल मामले की तह तक पहुंचा जा सके.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay