एडवांस्ड सर्च

चीन ने SPACE भेजा पहला कार्गो यान, 2022 में भेजेगा यात्री

चीन ने अपने पहले माल वाहक अंतरिक्ष यान का सफल प्रक्षेपण कर लिया है. 2022 तक मनुष्यों के रहने लायक एक स्थाई अंतरिक्ष स्टेशन बनाने की दिशा में वामपंथी राष्ट्र का यह एक बड़ा कदम है. दक्षिण हैनान प्रांत के वेनचांग अंतरिक्ष प्रक्षेपण केन्द्र से लांग मार्च-7 वाई2 रॉकेट के जरिए तिआंझोउ-1 को प्रक्षेपित किया गया है.

Advertisement
aajtak.in
राहुल मिश्र नई दिल्ली/बीजिंग, 21 April 2017
चीन ने SPACE भेजा पहला कार्गो यान, 2022 में भेजेगा यात्री चीन का अंतरिक्ष पर मिशन मैन इन स्पेस शुरू, कार्गो विमान भेजकर की शुरुआत

चीन ने अपने पहले माल वाहक अंतरिक्ष यान का सफल प्रक्षेपण कर लिया है. 2022 तक मनुष्यों के रहने लायक एक स्थाई अंतरिक्ष स्टेशन बनाने की दिशा में वामपंथी राष्ट्र का यह एक बड़ा कदम है. दक्षिण हैनान प्रांत के वेनचांग अंतरिक्ष प्रक्षेपण केन्द्र से लांग मार्च-7 वाई2 रॉकेट के जरिए तिआंझोउ-1 को प्रक्षेपित किया गया है.

 इसे भी पढ़ें: इसरो के वर्ल्ड रिकॉर्ड में ये तकनीकी पेंच भी न भूलें!

चीन सरकार की न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक, कुछ घंटे बाद अंतरिक्ष यान के तय कक्षा में पहुंचने के बाद अधिकारियों ने प्रक्षेपण को सफल घोषित किया. ट्यूब की आकार का यह अंतरिक्ष यान 10.6 मीटर लंबा है. यह छह टन सामान और उपग्रहों को लेकर जाने में सक्षम है.

अंतरिक्ष में माल वाहक यान, वहां पहले से कक्षा में मौजूद तिआनगोंग-2 अंतरिक्ष स्टेशन से जुड़ेगा, उसे ईंधन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करेगा और पृथ्वी पर वापस गिरने से पहले कुछ परीक्षण भी करेगा.

चीन का लक्ष्य 2022 तक एक स्थाई अंतरिक्ष स्टेशन बनाने का है तो 10 वर्षों तक काम करेगा. माल वाहक यान का सफल प्रक्षेपण महत्वपूर्ण है क्योंकि अंतरिक्ष स्टेशन के संचालन में यह संदेश और माल वाहक की भूमिका निभाएगा.

माल वाहक यान की सहायता के बिना अंतरिक्ष स्टेशन पर जरूरी वस्तुएं और ईंधन नहीं मिलेगा और उसे अपने तय समय से पहले ही पृथ्वी पर लौटना पड़ेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay