एडवांस्ड सर्च

अब चीन की भी हालत खराब, औद्योगिक उत्पादन 17 साल के निचले स्तर पर पहुंचा

चीन के नेशनल ब्यूरो ऑफ स्टेटिस्ट‍िक्स के आंकड़ों के अनुसार, जुलाई माह में औद्योगिक उत्पादन में सिर्फ 4.8 फीसदी की बढ़त हुई है. इसके पहले जून माह में औद्योगिक उत्पादन में 6.3 फीसदी की बढ़त हुई थी.

Advertisement
aajtak.inनई दिल्ली, 14 August 2019
अब चीन की भी हालत खराब, औद्योगिक उत्पादन 17 साल के निचले स्तर पर पहुंचा चीन के औद्योगिक उत्पादन में आई गिरावट (फोटो: रॉयटर्स)

ट्रेड वॉर का अब चीनी अर्थव्यस्था पर विपरीत असर होता दिखने लगा है. चीन का औद्योगिक उत्पादन 17 साल के निचले स्तर पर पहुंच गया है. यही नहीं, प्रॉपटी में निवेश की ग्रोथ रेट भी दिसंबर के बाद अब तक सबसे कम रही है.

चीन के नेशनल ब्यूरो ऑफ स्टेटिस्ट‍िक्स के आंकड़ों के अनुसार, जुलाई माह में औद्योगिक उत्पादन में सिर्फ 4.8 फीसदी की बढ़त हुई है. इसके पहले जून माह में औद्योगिक उत्पादन में 6.3 फीसदी की बढ़त हुई थी. चीन और अमेरिका के बीच पिछले साल से ही ट्रेड वॉर जारी है, जब अमेरिका ने कई चीनी वस्तुओं पर भारी टैरिफ थोप दिए थे. हाल में मई महीने में फिर अमेरिका ने चीनी आयात के बड़े हिस्से पर टैरिफ बढ़ा दिया.

इन आंकड़ों से पता चलता है कि चीन में घरेलू मांग भी सुस्त है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक कारखाना उत्पादन में कमी, निर्यात में नरमी और बैंक कर्ज के उम्मीद से कम आंकड़ों ने चीन सरकार को इस बात के लिए मजबूर किया है कि अर्थव्यवस्था को राहत देने के लिए कोई राहत पैकेज लाया जाए.

गौरतलब है कि इस साल की दूसरी तिमाही में चीनी अर्थव्यवस्था में बढ़त भी 30 साल के निचले स्तर पर पहुंच गई है. चीन के उद्योग मंत्री ने जुलाई महीने में कहा था कि इस साल औद्योगिक उत्पादन के लक्ष्य 6 फीसदी को हासिल करने के लिए काफी मेहनत करनी होगी.

चीन में खुदरा बिक्री की बढ़त दर भी निराशाजनक रही है. चीन में जुलाई का स्टील उत्पादन नरम रहा है और खुदरा बिक्री में सिर्फ 7.6 फीसदी की बढ़त हुई है, जबकि जून में इसमें 9.8 फीसदी की बढ़त हुई थी. इस साल जनवरी से जुलाई के दौरान चीन के फिक्स्ड एसेट इनवेस्टमेंट मे 5.7 फीसदी की बढ़त हुई है.

प्रॉपर्टी में निवेश के ग्रोथ रेट में गिरावट चिंता पैदा करने वाली बात है, क्योंकि यह दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के लिए विकास का प्रमुख वाहक है. जुलाई महीने में प्रॉपर्टी निवेश में 8.5 फीसदी की बढ़त हुई है, जबकि जून में इसमें 10.1 फीसदी की बढ़त हुई है. इसके पहले दिसंबर, 2018 में यह दर 8.2 फीसदी रही थी.

चीन और अमेरिका के बीच टकराव का सिलसिला पिछले साल जुलाई में शुरू हुआ था, जब अमेरिका ने पहली बार चीनी उत्पादों पर नए टैरिफ लगाए थे. इसके बाद अमेरिका के ट्रंप प्रशासन ने इस साल मई महीने में चीन से आयात होने वाले अरबों डॉलर के सामान पर टैरिफ को 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 25 प्रतिशत कर दिया.

इसके जवाब में चीन ने भी 110 अरब डालर के अमेरिकी सामान के आयात पर शुल्क बढ़ा दिया. अमेरिका चीन का सबसे बड़ा व्यापार भागीदार है. वर्ष 2017 में अमेरिका का चीन के साथ कुल व्यापार 635.4 अरब अमेरिकी डालर का रहा. इसमें अमेरिका से निर्यात 129.9 अरब डालर और चीन से किया गया आयात 505.5 अरब डालर रहा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay