एडवांस्ड सर्च

बजट सकारात्मक, अर्थशास्त्र में बेहतर: एसोचैम

कारोबारी संघ एसोसिएटेड चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (एसोचैम) ने गुरुवार 2013-14 के लिए प्रस्तुत आम बजट का स्वागत किया और कहा कि इससे निवेश और बचत को बढ़ावा मिलेगा, आधारभूत संरचना क्षेत्र और कौशल विकास में तेजी आएगी और वित्तीय अनुशासन बहाल होगा.

Advertisement
aajtak.in
आजतक ब्‍यूरो/आईएएनएसमुम्बई, 28 February 2013
बजट सकारात्मक, अर्थशास्त्र में बेहतर: एसोचैम

कारोबारी संघ एसोसिएटेड चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (एसोचैम) ने गुरुवार 2013-14 के लिए प्रस्तुत आम बजट का स्वागत किया और कहा कि इससे निवेश और बचत को बढ़ावा मिलेगा, आधारभूत संरचना क्षेत्र और कौशल विकास में तेजी आएगी और वित्तीय अनुशासन बहाल होगा.

एसोचैम के अध्यक्ष राजकुमार धूत ने कहा, 'बजट विनिर्माण क्षेत्र में तेजी लाएगा. इस क्षेत्र के लिए सबसे बेहतर बात निवेश भत्ता है. इसके अलावा 2013-14 के लिए कर मुक्त बॉन्‍ड की सीमा बढ़ाकर 50 हजार करोड़ रुपये करने जैसी आधारभूत संरचना में तेजी लाने जैसे कदम से समग्र आर्थिक विकास में सकारात्मक लाभ मिलेगा.'

उन्होंने आम चुनाव से पहले लोकप्रिय बजट लाने के अनुमान को झूठा साबित करने के लिए वित्त मंत्री पी. चिदम्बरम की सराहना की और कहा कि बजट अर्थशास्त्र की दृष्टि से ठोस है.

धूत ने कहा, 'चुनाव वर्ष में 18 हजार रुपये तक कर स्रोत तैयार करने के लिए राजनीतिक साहस की जरूरत होती है. गठबंधन राजनीति के दबाव के बाद भी चिदम्बरम ने यह कर दिखाया है.' उन्होंने कहा कि 2013-14 के लिए 4.8 फीसदी वित्तीय घाटा के लक्ष्य पर कायम रहने और अंतर को 5.2 फीसदी पर बरकरार रखने से एक बड़ी वित्तीय चिंता से राहत मिली है.

तथाकथित अति धनाढ्य कर अधिभार के बारे में धूत ने कहा, 'उद्योग जगत इसे बर्दाश्त कर सकता है, क्योंकि वित्त मंत्री ने वादा किया है कि कठिन वित्तीय स्थिति से निपटने के लिए ये लघु अवधि के लिए उठाए गए कदम हैं.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay