एडवांस्ड सर्च

दिल्ली में BJP से गठबंधन पर JDU में रार, पवन वर्मा बोले- विचारधारा साफ करें नीतीश

दिल्ली चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने जनता दल यूनाइटेड  के साथ गठबंधन किया. इस गठबंधन पर जदयू नेता पवन वर्मा ने सवाल उठाया है. पवन वर्मा ने नीतीश कुमार से विचारधारा पर तस्वीर साफ करने को कहा है.

Advertisement
aajtak.in
तनुश्री पांडे नई दिल्ली, 21 January 2020
दिल्ली में BJP से गठबंधन पर JDU में रार, पवन वर्मा बोले- विचारधारा साफ करें नीतीश बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फोटो: PTI)

  • दिल्ली में BJP के साथ गठबंधन पर JDU में रार
  • पवन वर्मा ने नीतीश को चिट्ठी लिख उठाए सवाल
  • CAA का भी विरोध कर चुके हैं प्रवक्ता पवन वर्मा

नागरिकता संशोधन एक्ट के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी और जनता दल यूनियन के बीच पैदा हुई दरार लगातार बढ़ती जा रही है. पार्टी में बीजेपी के खिलाफ उठ रही आवाज़ों को दरकिनार करते हुए जेडीयू ने दिल्ली में गठबंधन किया है. पार्टी प्रवक्ता पवन वर्मा ने इस गठबंधन को लेकर सवाल खड़े किए हैं और पार्टी प्रमुख नीतीश कुमार से सवाल किया है कि वह विचारधारा को लेकर पार्टी का रुख साफ करें.

इंडिया टुडे से बात करते हुए पवन वर्मा ने कहा कि 2017 में नीतीश कुमार ने उन्हें बताया था कि बीजेपी-मोदी किस तरह लोकतांत्रिक मूल्यों को खत्म कर रहे हैं. लेकिन अब वही नीतीश उसी बीजेपी के साथ दिल्ली में गठबंधन कर रहे हैं.

पार्टी प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि इस डबल स्टैंडर्ड की वजह से ही पार्टी के कई विधायक साथ छोड़ रहे हैं. पार्टी में ही कुछ ऐसे विचार हैं जो कि नीतीश कुमार के साथ नहीं मेल खा रहे हैं और ऐसे मुद्दों को लेकर गुस्सा बढ़ता जा रहा है.

पवन वर्मा ने चिट्ठी लिख जाहिर किया गुस्सा

दिल्ली में बीजेपी के साथ जाने के खिलाफ पवन वर्मा ने नीतीश कुमार को चिट्ठी लिखी. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि मैंने नीतीश कुमार को एक चिट्ठी लिखी है, जिसमें उनसे दिल्ली में बीजेपी के साथ किए गए गठबंधन के बारे में पूछा है. नागरिकता संशोधन एक्ट और एनआरसी के मुद्दे पर देश में लगातार विरोध हो रहा है.

अपने खत में पवन वर्मा ने लिखा है कि ऐसा पहली बार हुआ है जब बिहार से बाहर पार्टी ने बीजेपी के साथ इस तरह का गठबंधन किया है. मैं इस फैसले से काफी आहत हुआ हूं और आपसे विचारधारा को लेकर सफाई मांगना चाहता हूं.

पवन वर्मा ने नीतीश को संबोधित करते हुए लिखा है कि कई मौकों पर आपने खुद BJP, RSS का विरोध किया है और उनकी नीतियों पर सवाल खड़े किए हैं लेकिन अब इस तरह गठबंधन को देशव्यापी कर देना कई तरह के सवाल खड़े करता है.

दिल्ली: JDU स्टार कैंपेनर लिस्ट से PK आउट, CAA का विरोध या कुछ और वजह?

आपको बता दें कि नीतीश कुमार की पार्टी JDU  ने नागरिकता संशोधन एक्ट का राज्यसभा, लोकसभा में समर्थन किया था. लेकिन पार्टी में इसके बाद इस मुद्दे पर विरोध हुआ, प्रशांत किशोर और पवन वर्मा जैसे नेताओं ने खुले तौर पर इस फैसले के खिलाफ आवाज़ उठाई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay