एडवांस्ड सर्च

वैश्विक अनिश्चितता ने रोके इन्‍फोसिस के बढ़ते कदम

वैश्विक आर्थिक अनिश्चितता भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) उद्योग के लिए मुसीबत का सबब बनी हुई है, जो देश की प्रमुख आईटी कम्पनी इंफोसिस की दूसरी तिमाही के परिणाम से स्पष्ट है. डॉलर राशि में कम्पनी को साल दर साल आधार पर मामूली लगभग पांच फीसदी का शुद्ध लाभ हुआ.

Advertisement
aajtak.in
आईएएनएसबैंगलोर, 12 October 2012
वैश्विक अनिश्चितता ने रोके इन्‍फोसिस के बढ़ते कदम

वैश्विक आर्थिक अनिश्चितता भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) उद्योग के लिए मुसीबत का सबब बनी हुई है, जो देश की प्रमुख आईटी कम्पनी इंफोसिस की दूसरी तिमाही के परिणाम से स्पष्ट है. डॉलर राशि में कम्पनी को साल दर साल आधार पर मामूली लगभग पांच फीसदी का शुद्ध लाभ हुआ.

इंफोसिस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एस.डी. शिबूलाल ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, 'वैश्विक आर्थिक अनिश्चितता उद्योग के सामने खतरा बनी हुई है. आय का हमारा अनुमान (7.3 अरब डॉलर) अब भी उतना ही है, जितना पहले (जुलाई में) डॉलर राशि में जताया गया था.' लगातार दूसरी बार कम्पनी ने मौजूदा कारोबारी साल की तीसरी तिमाही के लिए आय का अनुमान जारी नहीं किया.

रुपये के संदर्भ में भी आय का अनुमान 1.9 फीसदी घटाकर 39,582 करोड़ रुपये कर दिया गया, जो जुलाई में 40,364 करोड़ रुपये बताया गया था और साल दर साल आधार पर 17.3 फीसदी वृद्धि है, जबकि जुलाई में साल दर साल आधार पर 19.7 फीसदी वृद्धि का अनुमान जताया गया था.

कम्पनी द्वारा दूसरी तिमाही का परिणाम जारी किए जाने के बाद मुख्य वित्तीय अधिकारी वी. बालाकृष्णन ने कहा, 'वैश्विक मौद्रिक और आर्थिक अनिश्चितता के बाद भी हम उच्च गुणवत्तायुक्त विकास पर ध्यान दे रहे हैं.' आलोच्य अवधि में रुपये डॉलर के मुकाबले 55 रुपये से मजबूत होकर 53 रुपये प्रति डॉलर हो गया है.

इससे पहले कम्पनी ने कहा कि रुपये के संदर्भ में चालू वित्त वर्ष 2012-13 की दूसरी तीमाही (जुलाई-सितम्बर) में उसे 2,369 करोड़ रुपए का शुद्ध हुआ, जो पिछले साल की समान अवधि में हुए शुद्ध लाभ से 24.3 फीसदी अधिक है और इससे पिछली तिमाही के शुद्ध लाभ से 3.5 फीसदी अधिक है.

इसी तरह समेकित आय में साल दर साल आधार पर 21.7 प्रतिशत और इससे पिछली तिमाही के मुकाबले 2.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जो कि बढ़कर 9,858 करोड़ रुपए हो गई.

'इंटरनेशनल फिनांसिंग रिपोर्टिग स्टैंडर्ड' (आईएफआरएस) के मुताबिक पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले कम्पनी का शुद्ध लाभ 4.9 फीसदी अधिक 43.10 करोड़ डॉलर और आय 2.9 फीसदी अधिक 1.80 अरब डॉलर रहा. पिछली तिमाही के मुकाबले शुद्ध लाभ 3.6 फीसदी अधिक और कुल आय 2.6 फीसदी अधिक रही.

संचालन लाभ हालांकि इससे पिछली तिमाही के 29.9 फीसदी के मुकाबले 3.6 फीसदी कम 26.6 फीसदी और पिछले साल के 28.2 फीसदी के मुकाबले 1.6 फीसदी कम रहा. कम्पनी ने अपने कर्मचारियों को रोकने के लिए विदेश में छह से आठ फीसदी और देश में दो फीसदी की वेतन वृद्धि का तोहफा दिया है. कम्पनी ने कठिन समय में भी मौजूदा वित्त वर्ष (2012-13) के पूर्वार्ध के लिए अपने निवेशकों को 300 प्रतिशत लाभांश देने की घोषणा की है.

इंफोसिस ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि कम्पनी 30 सितम्बर को समाप्त हो रही अवधि के लिए पांच रुपये मूल्य के प्रति शेयर पर 15 रुपये भुगतान करेगी, जैसा कि पिछले वित्त वर्ष (2011-12) की इसी अवधि के दौरान किया गया था.

बालाकृष्णन ने कहा, 'हमारा नकदी भंडार आलोच्य अवधि में चार अरब डॉलर से अधिक हो गया, जो पहली तिमाही में 3.74 अरब डॉलर था.' बम्बई स्टॉक एक्सचेंज में कम्पनी के शेयर समाचार लिखे जाते वक्त 6.58 फीसदी गिरावट के साथ 2,364.90 पर कारोबार करते देखे गए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay