एडवांस्ड सर्च

Advertisement

एक और एक ग्यारह: SC ने ठानी है-भीड़तंत्र की हिंसा मिटानी है

मीनाक्षी कंडवाल,नेहा बाथम [Edited BY: अमित रायकवार]नई दिल्ली, 17 July 2018

एक और एक ग्यारह में आज आपको दिखाएंगे भीड़तंत्र की हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकारों को क्या निर्देश दिए हैं. साथ ही आपको पानी के प्रतिशोध की तस्वीरें भी दिखाएंगे..आप मुंबई के एक करीब पानी में डूबती एक कार और कार में सवार परिवार का रेस्क्यू देखेंगे. भीडतंत्र की हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया है...देश की सबसे बड़ी अदालत ने दो टूक कह दिया है भीड़तंत्र की हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी. सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा है कि केंद्र सरकार मॉब लीचिंग के खिलाफ अलग से कानून बनाए. कानून ऐसा हो कि हिंसा करने वाला सौ बार सोचे. सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा है कि लोकतंत्र में भीडतंत्र नहीं चल सकता..कानून-व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी राज्य सरकारों की है वो अपनी जिम्मेदारी निभाएं. कोर्ट ने चार हफ्ते का वक्त दिया है. सख्त निर्देश है कि चार हफ्ते में सरकार सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस हर हाल में लागू करें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay