एडवांस्ड सर्च

Advertisement

महिला पायलट का दम, 17000 फीट की ऊंचाई पर किया रेस्क्यू

aajtak.in
22 July 2019
महिला पायलट का दम, 17000 फीट की ऊंचाई पर किया रेस्क्यू
1/6
लद्दाख में बर्फ की चोटी से रेस्क्यू ऑपरेशन की ऐसी तस्वीर सामने आई है, जिसे देखकर कोई भी हैरान रह जाए. यह बचाव अभियान करीब 17 हजार फीट की ऊंचाई पर चला. भारतीय वायुसेना की दिलेर महिला पायलट ने विपरित हालात में उड़ान भरी और लोगों की जान बचाई.
महिला पायलट का दम, 17000 फीट की ऊंचाई पर किया रेस्क्यू
2/6
दरअसल, लद्दाख की स्टोक कांगड़ी चोटी पर जबरदस्त बर्फबारी के बाद वहां गए कई पर्वतारोही फंस गए. यह मामला 18 जुलाई का है. वाक्या उस वक्त हुआ जब पर्वातारोही नीचे उतर रहे थे. इस दौरान बर्फ से 6 पर्वातारोही फिसल गए, लेकिन गनीमत रही कि सूझबूझ की वजह से उन्हें एक चट्टान का सहारा मिल गया.
महिला पायलट का दम, 17000 फीट की ऊंचाई पर किया रेस्क्यू
3/6
हादसे की खबर लगते ही बेस कैंप से कुछ लोग और गाइड वहां पहुंचे लेकिन हालात को देखते हुए रेस्क्यू आसान नहीं था. कोई सहारा ना होने की वजह से जिंदगी की जंग पर बर्फ भारी पड़ रही थी. हालात इतने मुश्किल भरे थे कि इतनी ऊंचाई से पर्वातारोहियों का निकलना चुनौती भरा काम था.
महिला पायलट का दम, 17000 फीट की ऊंचाई पर किया रेस्क्यू
4/6
तभी लेह प्रशासन को इमरजेंसी मैसेज भेजा गया. जिसके बाद खबर मिलते ही जिंदगी बचाने की जिम्मेदारी वायुसेना की दिलेर पायलट सुरभि सक्सेना को सौंप दी गई.
महिला पायलट का दम, 17000 फीट की ऊंचाई पर किया रेस्क्यू
5/6
इस घाटी में हेलिकॉप्टर उतारना भी बड़ी चुनौती थी, ऐसे में बेस कैंप से पहुंचे लोगों ने हाथ हिलाकर खुद ही हेलिकॉप्टर को संकेत देने शुरू किए और पूरी सावधानी से सुरभि ने इसे नीचे उतारा.
महिला पायलट का दम, 17000 फीट की ऊंचाई पर किया रेस्क्यू
6/6
इस रीजन में वायुसेना की इलकौती महिला पायलट के रूप में जानी जाने वाली सुरभि इमरजेंसी खबर मिलते ही चीतल हेलिकॉप्टर के कॉकपिट में सवार हुईं और वक्त रहते हादसे वाली जगह पर पहुंच गईं.
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay