एडवांस्ड सर्च

Advertisement

चांद पर मिला विक्रम लैंडर, संपर्क का इंतजार, जानें अब क्या होगा

aajtak.in
08 September 2019
चांद पर मिला विक्रम लैंडर, संपर्क का इंतजार, जानें अब क्या होगा
1/10
ISRO ने चांद की सतह पर लैंडर विक्रम के लोकेशन का पता लगा लिया गया है. इसकी पुष्टि खुद इसरो के चेयरमैन के सिवन ने की है. इसरो की मानें तो ऑर्बिटर ने विक्रम लैंडर की एक थर्मल इमेज भी क्लिक की है. (Photo: ISRO)
चांद पर मिला विक्रम लैंडर, संपर्क का इंतजार, जानें अब क्या होगा
2/10
इसरो का कहना है कि चांद की सतह पर लैंडर विक्रम की सटीक लोकेशन का पता चलते ही उससे संपर्क करने की कोशिश जारी है. हालांकि अभी तक विक्रम लैंडर से कोई संचार स्थापित नहीं हो पाया है. (Photo: PTI)
चांद पर मिला विक्रम लैंडर, संपर्क का इंतजार, जानें अब क्या होगा
3/10
दरअसल शनिवार को जब चंद्रमा की सतह से महज 2.1 किलोमीटर की दूरी पर लैंडर विक्रम था, उसी समय इसरो से संपर्क टूट गया. लेकिन अब खबर है कि विक्रम लैंडर लैंडिंग वाली तय जगह से 500 मीटर दूर पड़ा है. हालांकि इसकी अभी पुष्टि नहीं हो पाई है. (Photo: ISRO)
चांद पर मिला विक्रम लैंडर, संपर्क का इंतजार, जानें अब क्या होगा
4/10
विक्रम लैंडर का पता लगते ही इसरो में मौजूद वैज्ञानिकों में एक उम्मीद जगी है. वो लगातार संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं, इसरों की की मानें तो जल्द ही विक्रम लैंडर से संपर्क स्थापित हो जाएगा. (Photo: ISRO)
चांद पर मिला विक्रम लैंडर, संपर्क का इंतजार, जानें अब क्या होगा
5/10
ISRO की FAC टीम यह पता लगाने में जुटी है कि आखिर किन वजहों से लैंडर का संपर्क इसरो कमांड से टूट गया था. इसरो वैज्ञानिक ऑर्बिटर के जरिए विक्रम लैंडर को संदेश भेजने की कोशिश कर रहे हैं ताकि, उसका कम्युनिकेशन सिस्टम ऑन किया जा सके. (Photo: ISRO)
चांद पर मिला विक्रम लैंडर, संपर्क का इंतजार, जानें अब क्या होगा
6/10
इसरो प्रमुख ने यह भी कहा कि इमेज से यह साफ नहीं हो सका है कि विक्रम चांद की सतह पर किस हालत में है. चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर में लगे ऑप्टिकल हाई रिजोल्यूशन कैमरा (OHRC) ने विक्रम लैंडर की तस्वीर ली है. (Photo: ISRO)
चांद पर मिला विक्रम लैंडर, संपर्क का इंतजार, जानें अब क्या होगा
7/10
भविष्य में विक्रम लैंडर और प्रज्ञान रोवर कितना काम करेंगे, इसका तो डेटा एनालिसिस के बाद ही पता चलेगा. इसरो वैज्ञानिक अभी यह पता कर रहे हैं कि चांद की सतह से 2.1 किमी ऊंचाई पर विक्रम अपने तय मार्ग से क्यों भटका. (Photo: ISRO)
चांद पर मिला विक्रम लैंडर, संपर्क का इंतजार, जानें अब क्या होगा
8/10
इसकी एक वजह ये भी हो सकती है कि विक्रम लैंडर के साइड में लगे छोटे-छोटे 4 स्टीयरिंग इंजनों में से किसी एक ने काम न किया हो. इसकी वजह से विक्रम लैंडर अपने तय मार्ग से डेविएट हो गया. यहीं से सारी समस्या शुरू हुई, इसलिए वैज्ञानिक इसी प्वांइट की स्टडी कर रहे हैं. (Photo: ISRO)
चांद पर मिला विक्रम लैंडर, संपर्क का इंतजार, जानें अब क्या होगा
9/10
इसके अलावा चांद के चारों तरफ चक्कर लगा रहे ऑर्बिटर में लगे ऑप्टिकल हाई रिजोल्यूशन कैमरा (OHRC) से विक्रम लैंडर की तस्वीर ली जाएगी. यह कैमरा चांद की सतह पर 0.3 मीटर यानी 1.08 फीट तक की ऊंचाई वाली किसी भी चीज की स्पष्ट तस्वीर ले सकता है. (Photo: ISRO)
चांद पर मिला विक्रम लैंडर, संपर्क का इंतजार, जानें अब क्या होगा
10/10
गौरतलब है कि चंद्रयान-2 ने 22 जुलाई को प्रक्षेपण के बाद 47 दिनों तक विभिन्न प्रक्रियाओं को सफलतापूर्वक पूरा करने के साथ करीब चार लाख किलोमीटर की दूरी तय की. लेकिन चंद्रमा की सतह से महज 2.1 किलोमीटर पहले लैंडर विक्रम से इसरो का संपर्क टूट गया. देश को वैज्ञानिकों पर गर्व है और देश उनके साथ खड़ा है. (Photo: ISRO)
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay