एडवांस्ड सर्च

राजस्थान: लॉकडाउन में साफ हो गई उदयपुर की मशहूर झील, नजर आने लगी सतह

लॉकडाउन के कारण पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र उदयपुर की यह झील अब फिर से जीवित हो चुकी है. कई साल बाद झील का पानी साफ नजर आने लगा है.

Advertisement
aajtak.in
आशुतोष मिश्रा उदयपुर, 15 May 2020
राजस्थान: लॉकडाउन में साफ हो गई उदयपुर की मशहूर झील, नजर आने लगी सतह जलीय जंतु कर रहे अठखेलियां

  • अठखेलियां करते नजर आ रहे जलीय जीव
  • कूड़े-कचरे से पटी रहती थी यह झील

लॉकडाउन से एक तरफ जहां कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने में अच्छे नतीजे मिले हैं, वहीं लॉकडाउन के कारण प्रकृति में भी निखार आ रहा है. पंजाब से हिमालय की वादियां साफ नजर आने लगी हैं. गंगा और यमुना का जल स्वच्छ हुआ है, तो वहीं झीलों के पानी की गुणवत्ता भी अच्छी हो गई है.

राजस्थान में पर्यटन का केंद्र उदयपुर की मशहूर झील फिर से जिंदा हो चुकी है. आम दिनों में झील में कूड़े-कचरे और शहर की गंदगी का अंबार लगा रहता था. इसके कारण झील के अस्तित्व पर संकट उत्पन्न हो गया था. उदयपुर की वह झील आज इतनी साफ दिखने लगी है कि न सिर्फ 7 फुट गहरी उसकी सतह नजर आने लगी है, बल्कि उदयपुर झील के जलचर भी पानी के ऊपर अठखेलियां करते नजर आने लगे हैं.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

lake-1_051520055128.jpg

लॉकडाउन के चलते शहर में सभी व्यावसायिक गतिविधियां बंद है. इसीलिए उदयपुर से निकलने वाला कूड़ा-कचरा फिलहाल झील में नहीं जा रहा है. इस झील में छोटी मछलियों के साथ ही बड़ी मछलियां भी दिखाई देने लगी हैं. कई प्रजाति की मछलियां दिखाई देने लगी हैं.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

उदयपुर झील सुरक्षा और विकास समिति के सदस्य तेज शंकर पालीवाल बताते हैं कि लॉकडाउन के कारण पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र उदयपुर की यह झील अब फिर से जीवित हो चुकी है. आजतक से बात करते हुए उन्होंने कहा कि कई साल बाद झील का पानी साफ नजर आने लगा है. झील की सतह नजर आने लगी है, जो पहले नजर नहीं आती थी.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

पालीवाल ने कहा कि कर्फ्यू और लॉकडाउन के बाद मानवीय गतिविधियां बंद हो गईं, जिससे जो कूड़ा-कचरा झील में पड़ता था, वह बंद हो गया. होटलों से जो सीवरेज का पानी झील में आता था, वह बंद हो गया. मछलियों की अठखेलियां किनारे रहने वाले लोगों को लुभाने लगी हैं. जो सालों तक नहीं दिखा, लॉकडाउन में प्रकृति वह दिखा रही है. उन्होंने झील के सौंदर्य को बनाए रखने की आवश्यकता पर जोर दिया और उम्मीद जताई कि पानी की मात्रा बढ़ेगी, तो जलीय जीवों की संख्या बढ़ेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay