एडवांस्ड सर्च

दिल्ली में 14 साल की लड़की से रेप, पुलिस ने दर्ज किया छेड़खानी का मामला

दिल्ली पुलिस की वर्दी एक बार फिर दागदार हुई है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक 14 साल की लड़की से बलात्कार हुआ, दुष्कर्म करने वाला ना सिर्फ पहचाना गया, उसे इस घिनौनी वारदात को अंजाम देते वक्त वह रंगे हाथों पकड़ा भी गया. लेकिन दिल्ली पुलिस ने सिर्फ छेड़खानी का मामला दर्ज किया. लेकिन जब आम आदमी पार्टी के कुछ लोगों ने दबाव बनाया तो पुलिस ने लड़की का मेडिकल कराया. मेडिकल में रेप की पुष्टि हो गई है.

Advertisement
aajtak.in
आनंद कुमार [Edited By: पंकज विजय]नई दिल्‍ली, 14 February 2014
दिल्ली में 14 साल की लड़की से रेप, पुलिस ने दर्ज किया छेड़खानी का मामला बलजीत नगर में नाबालिग लड़की से रेप

दिल्ली पुलिस की वर्दी एक बार फिर दागदार हुई है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक 14 साल की लड़की से बलात्कार हुआ, दुष्कर्म करने वाला ना सिर्फ पहचाना गया, उसे इस घिनौनी वारदात को अंजाम देते वक्त वह रंगे हाथों पकड़ा भी गया. लेकिन दिल्ली पुलिस ने सिर्फ छेड़खानी का मामला दर्ज किया. लेकिन जब आम आदमी पार्टी के कुछ लोगों ने दबाव बनाया तो पुलिस ने लड़की का मेडिकल कराया. मेडिकल में रेप की पुष्टि हो गई है.

वारदात मध्य दिल्ली के आनंद पर्वत थाने के बलजीत नगर इलाके की है. पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस इस मामले को दबाने की कोशिश करती रही. लेकिन काफी दबाव के बाद मजबूरन रेप का मामला दर्ज करना ही पड़ा.

बिहार से अपनी बहन के पास आई 14 वर्षीय लड़की की माने तो बीते 11 फरवरी की सुबह अचानक उसके 8 साल के भांजे की तबीयत खराब हो गई. पड़ोस के डॉक्टर ने उसे बड़े अस्पताल में ले जाने की सलाह दी, जिसके बाद उसकी बहन और जीजा बच्चे को लेकर अस्पताल चले गए.

लड़की के घर में अकेला होने का फायदा उठाकर पड़ोस का एक सफीउल्लाह नाम का शख्स न सिर्फ उसके घर के अंदर घुस आया बल्कि उसके साथ बलात्कार भी किया. लेकिन पीड़िता की बहन ने अस्पताल से वापस आते हुए उसे रंगे हाथों पकड़ भी लिया. लेकिन आरोपी घर की छत से फरार होने में कामयाब हो गया.

पीड़िता ने कहा, मेरे परिवार में सभी लोग डॉक्टर के पास गए थे, तभी ये दूध लेने के बहाने आया, फिर घर का दरवाजा बंद कर मेरे साथ गलत काम किया. मैं चिल्लाती रही, फिर उसी वक्त मेरी बहन वापस आ गई. उसने दरवाजा खोलने की कोशिश की तो वो छत की चादर तोड़ फरार हो गया.'

लड़की की शिकायत पर उसका मेडिकल भी हुआ और पुलिस ने मामला भी दर्ज किया, मगर केवल छेड़खानी का. लेकिन जब मजिस्ट्रेट के सामने बयान देने की बारी आयी तो पीड़ित लड़की ने अपने साथ बलात्कार की बात फिर से दुहराई जिसे पुलिस अनदेखा कर रही थी. लेकिन लड़की के बयान के बाद मजिस्ट्रेट ने उसे दुबारा मेडिकल के लिए भेज दिया. और पुलिस ने अब बलात्कार का भी मामला दर्ज कर लिया है.

मगर पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस बार-बार उनको किसी न किसी बहाने से परेशान कर रही है. इस मामले को दो दिन हो गए. मगर पीड़ित लड़की को अभी भी सीडब्लूसी में पेश करने के बहाने अपने पास रखे हुए है और परिवार के लोगों को उसके साथ रहने नहीं दिया जा रहा है. लड़की नाबालिग है और काफी डरी हुई है. पीड़ित लड़की के एक अन्य रिश्तेदार ने कहा, पुलिस पहले मामले को रफा दफा करने के लिए प्रेशर डालती रही, फिर हमें कमजोर देखकर छेड़खानी का मामला दर्ज कर भगा दिया. जब लोगों ने दबाव बनाया तो मेडिकल और एसडीएम के सामने बयान दर्ज कराकर रेप का मामला दर्ज किया. अभी भी पुलिस की ओर से धमकी मिल रही है.

दिल्ली पुलिस के रवैये ने फिर से एक बार उसके कामकाज पर सवालिया निशान लगा दिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay