एडवांस्ड सर्च

लाल बहादुर शास्त्री को किसने मारा? जवाब देने आ रही है 'द ताशकंद फाइल्स'

भारत के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की डेथ मिस्ट्री पर बन रही फिल्म द ताशकंद फाइल्स का पोस्टर रिलीज किया गया है. इसके साथ ही फिल्म के ट्रेलर रिलीज की डेट भी सामने आ गई है.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: मोनिका गुप्ता ]नई दिल्ली, 22 March 2019
लाल बहादुर शास्त्री को किसने मारा? जवाब देने आ रही है 'द ताशकंद फाइल्स' द ताशकंद फाइल्स का पोस्टर

लगता है साल 2019 राजनीतिक फिल्मों के लिए भी याद किया जाएगा. 'दि एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर', 'ठाकरे', NTR की बायोपिक के बाद 'पीएम नरेंद्र मोदी' रिलीज किया जाएगा. पीएम नरेंद्र मोदी को लोकसभा चुनाव की पहले फेज की वोटिंग से पहले रिलीज किया जाएगा. साल की राजनीतिक फिल्मों में मिथुन चक्रवर्ती की 'द ताशकंद फाइल्स' भी शुमार हो गई है. 

ये फिल्म भारत के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की मौत पर आधारित है. राजनीति में शास्त्री की मौत को लेकर आज भी तमाम सवाल किए जाते हैं. कहा जा रहा है कि इन्हीं सवालों को लेकर 'द ताशकंद फाइल्स' का निर्माण किया गया है. शुक्रवार को फिल्म का पोस्टर रिलीज किया गया. द ताशकंद फाइल्स का ट्रेलर 25 मार्च को रिलीज किया जाएगा. फिल्म 12 अप्रैल को सिनेमाघरों में दस्तक देगी. ट्रेड एनालिस्ट तरण आर्दश ने इसकी जानकारी दी है.

उन्होंने ट्वीट में बताया- मिथुन चक्रवर्ती की फिल्म 'द ताशकंद फाइल्स' ट्रेलर 25 मार्च 2019 को रिलीज होगा. को-स्टार नसीरुद्दीन शाह, श्वेता बसु प्रसाद, पंकज त्रिपाठी, विनय पाठक, मंदिरा बेदी, पल्लवी जोशी और अंकुर राठी हैं. विवेक रंजन अग्निहोत्री द्वारा निर्देशित ये फिल्म 12 अप्रैल 2019 को रिलीज होगी.

फिल्म की कहानी लाल बहादुर शास्त्री की डेथ मिस्ट्री पर बनाई गई है. इसमें मिथुन चक्रवर्ती, नसीरुद्दीन शाह, श्वेता बासु, पंकज त्रिपाठी जैसे बड़े सितारे हैं. फिल्म को विवेक अग्निहोत्री ने निर्देशित किया है.

मूवी के मेकर्स ने इस फिल्म के लिए 3 साल तक रिसर्च किया है. टीम ने इससे संबंधित फैक्ट्स इकट्ठा किए. पिछले साल फिल्म के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से शास्त्री की डेथ से जुड़े तथ्य मांगे थे. ट्वीट कर लिखा गया था- क्या लाल बहादुर शास्त्री की रहस्यमयी डेथ से जुड़ी कोई भी जानकारी पता है? अगर इससे जुड़ा कोई भी तथ्य हैं तो प्लीज हमें मेल करिए. इसी के साथ उन्होंने अपनी मेल आईडी भी शेयर की थी.  

बताते चलें कि 10 जनवरी, 1966 को ताशकंद में पाकिस्तान के साथ शांति समझौते पर करार के महज 12 घंटे बाद (11 जनवरी) लाल बहादुर शास्त्री का अचानक निधन हो गया था. भारत में आज भी लोग उनके आकस्मिक निधन की घटना को पचा नहीं पाए हैं. देखना दिलचस्प होगा कि द ताशकंद फाइल्स में शास्त्री की मौत के रहस्य का खुलासा  किस तरह किया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay