एडवांस्ड सर्च

जब सुनील लहरी के प्रैंक से बेहोश हो गया डबिंग आर्टिस्ट, रामानंद सागर से पड़ी डांट

सुनील ने शो के 18वें एपिसोड की शूटिंग का एक किस्सा शेयर किया. सुनील ने बताया, 18वें एपिसोड से जुड़ा कोई ऐसा किस्सा तो नहीं है लेकिन शूटिंग के बाद जैसे इंसान थक जाता है तो सोचता है कि थोड़ी मस्ती होनी चाहिए.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 23 May 2020
जब सुनील लहरी के प्रैंक से बेहोश हो गया डबिंग आर्टिस्ट, रामानंद सागर से पड़ी डांट सुनील लहरी लक्ष्मण के किरदार में

लॉकडाउन के दौरान जब रामायण का पुनः प्रसारण टीवी पर शुरू हुआ तो लोगों को एक बार फिर से 90s की उन यादों को दोबारा जीने का मौका मिल गया. रामायण के किरदार निभाने वाले अभिनेता फिर एक बार चर्चा में आ गए और शूटिंग के दौरान के किस्से खूब वायरल होने लगे. शो में लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले सुनील लहरी ने तो सोशल मीडिया पर एक सीरीज ही शुरू कर दी जिसमें वह हर एपिसोड की कुछ यादें शेयर करते हैं.

हाल ही में सुनील ने शो के 18वें एपिसोड की शूटिंग का एक किस्सा शेयर किया. सुनील ने बताया, "18वें एपिसोड से जुड़ा कोई ऐसा किस्सा तो नहीं है लेकिन शूटिंग के बाद जैसे इंसान थक जाता है तो सोचता है कि थोड़ी मस्ती होनी चाहिए. तो हम लोगों ने एक प्रैंक किया था. इस प्रैंक में मैं, सागर साहब के बड़े बेटे, समीर और संजय शामिल थे."

"एक साहब मुंबई से आए थे जो कि डबिंग आर्टिस्ट थे और अपने आपको बहुत बड़ा तीस मारखां समझते थे कि मैं किसी से नहीं डरता हूं. उनका शरीर भी बड़े डील डौल वाला था और उनकी भारी आवाज थी. हमने सोचा कि ये बकरा मिला है तो चलो इसे हलाल करते हैं. शाम को उनकी पीने की आदत थी तो जब उनके दो-तीन पेग हाई हो गए तो हमने कहा कि चलिए हम आपको बीच पर ले जाते हैं और रात के समय बड़ा डरावना होता है बीच."

सुनील ने बताया कि वो तैश में आ गए और कहा कि ऐसा कुछ नहीं होता है. उन्होंने कहा कि मैं शेर हूं और मुझे कोई डर नहीं लगता. सुनील ने बताया, "हमने समीर को मास्क पहना कर आठवें पेड़ के पीछे खड़ा कर दिया और इन साहब को बोला कि आपको 8 पेड़ टच करने हैं और अगर आपने आठों पेड़ छू लिए और आपको कुछ नहीं हुआ तो हम समझ जाएंगे कि आप बब्बर शेर हैं."

वनवास में शुरू हुआ राम-सीता-लक्ष्मण के जीवन का एक नया अध्याय

गरीब मजदूरों के लिए 'देवता' बने सोनू सूद, फैन हुआ सोशल मीडिया

सागर साब से पड़ी डांट

सुनील ने बताया कि जब वो डबिंग आर्टिस्ट आठवें पेड़ के पास पहुंचे तो वो डर के मारे बेहोश होकर गिर पड़े. उनके मुंह पर पानी वगैरह डाला गया तो वो होश में आ गए. सुनील लहरी ने बताया कि इस घटना के लिए सभी को सागर साहब से डांट पड़ी थी और हिदायत मिली थी कि इस तरह करने से किसी की जान जा सकती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay