एडवांस्ड सर्च

प्रवासी मजदूरों की मदद को आगे आए सोनू सूद, कहा- पैदल क्यों जाओगे, नंबर भेजो

कई मजदूर पैदल ही घर को बढ़ रहे हैं. ऐसे में सोनू सूद ने लोगों को उनके घर तक पहुंचाने का बीड़ा उठाया है. किसी भी माध्यम से उनसे संपर्क कर रहे बेबस लोगों की सोनू दिल खोलकर मदद कर रहे हैं.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्‍ली, 23 May 2020
प्रवासी मजदूरों की मदद को आगे आए सोनू सूद, कहा- पैदल क्यों जाओगे, नंबर भेजो सोनू सूद

कोरोना वायरस का कहर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. लेकिन लोगों के हौसले भी बुलंद हैं. जहां एक ओर कोरोना से जूझने में कोरोना वॉरियर्स अपनी भूमिका मजबूती से अदा कर रहे हैं तो वहीं बॉलीवुड सितारे भी लोगों की मदद के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं. सोनू सूद भी उन एक्टर्स में हैं जो दिल खोल कर इस लॉकडाउन में लोगों की सहायता कर रहे हैं.

कई मजदूर पैदल ही घर को बढ़ रहे हैं. ऐसे में सोनू सूद ने कई लोगों को उनके घर तक पहुंचाने का बीड़ा उठाया है. एक बार फिर सोनू ने सोशल मीड‍िया प्लेटफॉर्म ट्व‍िटर के जर‍िए घर जाने वाले बेबस लोगों से संपर्क किया और उनकी मदद की है.

दरअसल, मूल रूप से बिहार के रहने वाले एक व्यक्त‍ि ने ट्वीट कर बताया कि वे लोग पास के लिए पुलिस चौकी के कई चक्कर लगा चुके हैं. अभी वे धारावी में रहते हैं. लेकिन मदद के कोई आसार नजर नहीं आ रहे हैं. उस व्यक्त‍ि के ट्वीट पर सोनू ने उसे अपना डिटेल भेजने के लिए कहा है. सोनू ने लिखा- 'भाई चक्कर लगाना बंद करो और रिलैक्स करो. दो दिन में बिहार में अपने घर का पानी पियोगे, डिटेल्स भेजो'.

एक और व्यक्त‍ि ने ट्वीट कर सोनू से मदद मांगी. उसने लिखा- सर प्लीज ईस्ट यूपी में कहीं भी भेज दो सर, वहां से पैदल जाएंगे अपने गांव सर.' इसपर देख‍िए सोनू की दिलदारी. सोनू ने लिखा- 'पैदल क्यों जाओगे दोस्त? नंबर भेजो'.

इस एक्टर की फिल्म के असिस्टेंट डायरेक्टर बनना चाहते थे जावेद अख्तर, अधूरा रह गया सपना

महाभारत के लिए दो साल लगातार सुबह 5 बजे स्टूडियो जाती, घंटो तक किया काम: रूपा गांगुली

रोज 45 हजार लोगों को ख‍िलाया खाना

सोनू ने इससे पहले भी बिहार के कई मजदूरों को उनके घर पहुंचाए. ट्विटर के माध्यम से भी जो लोग उनसे संपर्क कर रहे हैं, सोनू हर किसी की मदद कर रहे हैं. उन्होंने मुंबई के जुहू स्थ‍ित होटल के दरवाजे भी मेड‍िकल वर्कर्स के लिए खोले. इसके पहले जब देश में लॉकडाउन लगा तो उन्होंने अपने पिता शक्ति सागर सूद के नाम पर एक स्कीम लॉन्च की थी जिसके तहत वो रोज 45 हजार लोगों को हर रोज खाना खिला रहे थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay