एडवांस्ड सर्च

कोरोना के बीच इस चाइनीज आइटम के बहिष्कार पर शक्त‍िमान ने ऐसे जताई खुशी , Video

भारत में धीरे-धीरे लोग चाइनीज सोशल मीड‍िया प्लेटफॉर्म ट‍िक टॉक का बहिष्कार कर रहे हैं. इस बात से सबसे ज्यादा खुश एक्टर मुकेश खन्ना हैं. उन्होंने वीड‍ियो साझा कर अपनी खुशी जाहिर की है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्‍ली, 23 May 2020
कोरोना के बीच इस चाइनीज आइटम के बहिष्कार पर शक्त‍िमान ने ऐसे जताई खुशी , Video शक्त‍िमान उर्फ एक्टर मुकेश खन्ना

देश और दुनिया में इस वक्त सिर्फ कोरोना वायरस के ही चर्चे हैं. चीन से निकले इस वायरस की हर कोई बुराई कर रहा है. लेकिन देश में कोरोना के अलावा एक और जंग छिड़ी हुई है. देश में अब चाइनीज सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म टिक टॉक को बैन करने की मांग उठने लगी है. सोशल मीड‍िया के मशहूर प्लेटफॉर्म ट‍िक टॉक को भारत में लोग धीरे-धीरे छोड़ रहे हैं. इस बात से शक्त‍िमान यानी एक्टर मुकेश खन्ना बहुत खुश नजर आ रहे हैं.

मुकेश खन्ना ने वीड‍ियो साझा कर ट‍िक टॉक के बहिष्कार पर अपनी खुशी जताई है. उन्होंने यह वीड‍ियो इंस्टाग्राम और ट्व‍िटर पर शेयर किया है. वीड‍ियो में उन्होंने कहा- दोस्तों और भी काम है जमाने में ट‍िक टॉक बनाने के स‍िवा, कोरोना के इफेक्ट और बुरी खबरों के बीच में, एक खुशखबरी आई है कि एक और चाइनीज वायरस ट‍िक टॉक वायरस, हमसे दूर चला गया है. उसकी रेट‍िंग 4.5 से 1.3 पर आ गई है.'

'मुझे खुशी है कि मेरी और ट‍िक टॉक ना चाहने वाले बाकी लोगों की सलाह पर आप धीरे-धीरे ट‍िक टॉक का बह‍िष्कार कर रहे हैं, इससे बढ़कर खुशी की बात कुछ नहीं हो सकती. मैं तो यह कहना चाहता हूं कि आप लोग चाइनीज प्रोडक्ट्स की लिस्ट में सबसे पहला नाम ट‍िक टॉक को रख‍िए इसे दूर कीजि‍ए और यूथ को बिगड़ने से बचाइए'.

View this post on Instagram

टिक टोक टिक टोक घड़ी में सुनना सुहावना लगता है। लेकिन आज की युवा पीढ़ी का घर मोहल्ले सड़क चौराहे पर चंद पलों की फ़ेम पाने के लिए सुर बेसुर में टिक टोक करना बेहुदगी का पिटारा लगता है।कोरोना चायनीज़ वाइरस है ये सब जान चुके हैं।पर टिक टोक भी उसी बिरादरी का है ये भी जानना ज़रूरी है। टिक टोक फ़ालतू लोगों का काम है।और ये उन्हें और भी फ़ालतू बनाता चला जा रहा है।अश्लीलता, बेहुदगी, फूहड़ता घुसती चली जा रही है आज के युवाओं में इन बेक़ाबू बने विडीओज़ के माध्यम से। इसका बंद होना ज़रूरी है।ख़ुशी है मुझे कि इसे बाहर का रास्ता दिखाया जा रहा है।मैं इस मुहिम के साथ हूँ।

A post shared by Mukesh Khanna (@iammukeshkhanna) on

प्रवासी मजदूरों की मदद को आगे आए सोनू सूद, कहा- पैदल क्यों जाओगे, नंबर भेजो

जब आधी रात पत्नी संग घूमने निकले थे मिलिंद, फोटोज शेयर कर याद किए पुराने दिन

टिक टॉक फालतू लोगों का काम है- मुकेश खन्ना

मुकेश ने इंस्टा पर भी अपने शब्दों में लिखा- 'टिक टॉक टिक टॉक घड़ी में सुनना सुहावना लगता है. लेकिन आज की युवा पीढ़ी का घर मोहल्ले सड़क चौराहे पर चंद पलों की फेम पाने के लिए सुर बेसुर में टिक टॉक करना बेहुदगी का पिटारा लगता है. कोरोना चायनीज वायरस है ये सब जान चुके हैं. पर टिक टॉक भी उसी बिरादरी का है ये भी जानना जरूरी है. टिक टॉक फालतू लोगों का काम है, और ये उन्हें और भी फालतू बनाता चला जा रहा है. अश्लीलता, बेहुदगी, फूहड़ता घुसती चली जा रही है आज के युवाओं में. इन बेक़ाबू बने वीड‍ियोज के माध्यम से. इसका बंद होना जरूरी है, खुशी है मुझे कि इसे बाहर का रास्ता दिखाया जा रहा है. मैं इस मुहिम के साथ हूं'.

बता दें मुकेश खन्ना शुरू से ही ट‍िक टॉक के ख‍िलाफ थे. वे खुद भी इसका इस्तेमाल नहीं करते और लोगों को भी हमेशा ट‍िक टॉक का यूज ना करने की सलाह दी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay