एडवांस्ड सर्च

महाराष्ट्र के इस शहर में आसमान से बरसी ‘काली आफत’

शनिवार को जब पहली बार ‘काली आफत’ जैसी बरसात हुई तो लोगों में डर फैल गया. लोगों का कहना है कि बीते दो दिन गाढ़े नीले रंग की स्याही को पानी में घोल देने से जैसा रंग होता है वैसे ही रंग का पानी बरस रहा है. इसे बाल्टी में भरा जाए तो काले रंग का दिखने लगता है.

Advertisement
पंकज खेलकर [Edited by: खुशदीप सहगल]रायगढ़, 10 October 2017
महाराष्ट्र के इस शहर में आसमान से बरसी ‘काली आफत’ प्रतीकात्मक तस्वीर

महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के उरण शहर के बाशिंदे हैरान हैं. इस शहर में आसमान से पानी बरस रहा है वो भी काला. ये सिलसिला रविवार को भी जारी रहा. काली बारिश से इलाके के लोगों में दशहत का माहौल है और वह इसकी वजह जानना चाहते हैं.

उरण के लोगों का कहना है कि शुक्रवार को बुचर द्वीप पर स्थित डीजल की टंकी पर बिजली गिरी थी जिससे इस टंकी में आग लग गई थी. 30 हजार किलोलीटर पानी की क्षमता वाली इस टंकी की आग पर काबू पाने के लिए तीन दिन तक मशक्कत की गई. टंकी की आग की वजह से काला धुंआ फैल गया. उरण के लोग आशंका जता रहे हैं कि इसी वजह से प्रदूषण के चलते ‘काली बरिश’ हो रही है. बुचर द्वीप उरण शहर के पास ही स्थित है.

शनिवार को जब पहली बार ‘काली आफत’ जैसी बरसात हुई तो लोगों में डर फैल गया. लोगों का कहना है कि बीते दो दिन गाढ़े नीले रंग की स्याही को पानी में घोल देने से जैसा रंग होता है वैसे ही रंग का पानी बरस रहा है. इसे बाल्टी में भरा जाए तो काले रंग का दिखने लगता है.

उरण तहसीलदार के मुताबिक बरसात के पानी के नमूने को महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (MPCB) की बेलापुर स्थित लैब में भेजा गया है. वहां से रिपोर्ट आने के बाद ही बताया जा सकेगा कि आसमान से काली बरसात होने की असली वजह क्या है. लेकिन जब तक लैब कि रिपोर्ट आएगी तब तक के लिए ये बारिश इलाके के लोगों के लिए कौतुहल का विषय बनी हुई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay