एडवांस्ड सर्च

कभी 400 रुपये की सैलरी में अभिनय करते थे सलीम खान, ऐसे बनी जावेद संग सफल जोड़ी

बॉलीवुड के दबंग खान सलमान खान के पिता सलीम खान का आज जन्मदिन है. 70 और 80 के दशक की मशहूर जोड़ी सलीम-जावेद के सलीम खान के बारे में आइये जानते हैं कुछ रोचक बातें.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 24 November 2019
कभी 400 रुपये की सैलरी में अभिनय करते थे सलीम खान, ऐसे बनी जावेद संग सफल जोड़ी सलीम खान संग सलमान खान

सलीम खान उन चंद कलाकारों में हैं जिन्हें लंबे वक्त से इंडस्ट्री में खूब सम्मान मिलता आया है. स्ट्रॉन्ग पर्सनैलिटी और खूबसूरती के मामले में वे अपने बेटे सलमान खान से भी कहीं आगे हैं. सलीम खान ने एक्टिंग से अपने करियर की शुरुआत की. मगर उनकी मुलाकात एक दफा जावेद अख्तर से हो गई. फिर क्या था बन गई बॉलीवुड की सबसे मशहूर और सफल स्क्रिप्ट राइटर की जोड़ी. बॉलीवुड के दबंग खान सलमान खान के पिता सलीम खान का आज जन्मदिन है. 70 और 80 के दशक की मशहूर जोड़ी सलीम-जावेद के सलीम खान के बारे में आइये जानते हैं कुछ रोचक बातें.

सलीम खान का जन्म 24 नवंबर 1935 को इंदौर में हुआ था. सलीम खान के पिता एक पुलिस अफसर हुआ करते थे और उनकी मां की बचपन में ही मृत्यु हो गई थी. सलीम खान ने 1964 में एक मराठी लड़की सुशीला चरक से विवाह किया जिनका बाद में नाम सलमा खान रखा गया.

सलीम खान और सलमा खान को 3 बेटे सलमान खान, अरबाज खान, सोहेल खान और एक बेटी अलवीरा खान हुई. सलीम खान ने 1981 में एक्ट्रेस हेलेन से विवाह किया था और साथ ही अर्पिता नामक लड़की को गोद भी लिया था. सलीम खान का परिवार बॉलीवुड के बड़े परिवारों में गिना जाता है.

सलीम खान को उस जमाने के डायरेक्टर अमरनाथ ने एक शादी के दौरान देखा और मुंबई बुला लिया था और 400 रुपये महीने की तनख्वाह पर सलीम खान को एक्टिंग करने का मौका दिया. एक्टर के तौर पर सलीम खान ने लगभग 14 फिल्में कीं. इनमें तीसरी मंजिल, दीवाना, वफादार, सरहदी लुटेरा जैसी फिल्में शामिल हैं. इन फिल्मों में सलीम ने छोटे-मोटे रोल प्ले किए. यही वजह रही कि एक एक्टर के तौर पर वे दर्शकों का ज्यादा ध्यान अपनी ओर आकर्षित नहीं कर सके.

ऐसे मिले जावेद अख्तर से सलीम खान-

सलीम की किस्मत खुली फिल्म 'सरहदी लूटेरा' की शूटिंग के वक्त. इस दौरान सलीम खान की मुलाकात उसी फिल्म में 'क्लैप ब्वॉय' जावेद अख्तर से हुई और वहीं से सलीम-जावेद की जोड़ी बन गई. उस जमाने के सुपरस्टार राजेश खन्ना ने पहली बार सलीम-जावेद को अपनी फिल्म 'हाथी मेरे साथी' का स्क्रीनप्ले लिखने के लिए मौका दिया और इसी फिल्म का तमिल रीमेक भी 'नल्ला नेरम' के रूप में बनाया गया.

सलीम-जावेद की जोड़ी ने लगभग 25 फिल्मों में एक साथ लिखने का काम किया जिनमें कुछ सुपर डुपर हिट फिल्में भी थीं. दोनों जोड़ियों की फिल्मों में 'यादों की बारात', 'जंजीर', 'मजबूर', 'हाथ की सफाई', 'दीवार', 'शोले', 'डॉन', 'त्रिशूल', 'शान', 'शक्ति' जैसी फिल्में थीं. सलीम खान और जावेद अख्तर की जोड़ी 70 और 80 की दशक में सबसे ज्यादा मेहनताना पाने वाली राइटर जोड़ी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay