एडवांस्ड सर्च

सफाईगीरी में बोलीं शिल्पा शेट्टी- गंदगी के कारण बच्चे को बीच पर नहीं ले जाती

'आज तक' की ओर से लखनऊ में मंगलवार को आयोजित सफाईगीरी अवॉर्ड्स इवेंट के मौके पर बॉलीवुड एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी ने खुलासा किया कि मुंबई में वह अपने बच्चे को बीच पर नहीं ले जातीं.

Advertisement
aajtak.in
पूजा बजाज दिल्ली, 12 September 2017
सफाईगीरी में बोलीं शिल्पा शेट्टी- गंदगी के कारण बच्चे को बीच पर नहीं ले जाती शि‍ल्पा शेट्टी

बॉलीवुड एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी ने खुलासा किया कि मुंबई में वो अपने बच्चे को बीच पर नहीं ले जातीं हैं. जबकि उनके घर के सामने ही समुद्र का किनारा है. 'आज तक' की ओर से लखनऊ में आयोजित सफाईगीरी अवॉर्ड्स इवेंट के मौके पर पहुंची शि‍ल्पा ने सफाई और बॉलीवुड में अपने करियर को लेकर कई बातें शेयर कीं.

सफाई को गंभीरता से लेने लगे हैं लोग

उन्होंने कहा, मुंबई में बीच पर बच्चे को न ले जाने की वजह गंदगी है. हालांकि शिल्पा ने कहा, अब लोग साफ-सफाई को लेकर जागरुक हो रहे हैं, अपनी जिम्मेदारी समझ रहे हैं. शि‍ल्पा ने कहा कि जब वह लखनऊ पहुंची तो उन्होंने अपने ड्राइवर से कहा कि लखनऊ तो काफी साफ शहर है. इस पर उनके ड्राइवर ने कहा, अब धीरे धीरे ये शहर भी साफ-सुथरा नजर आने लगा है.

 

पति और बेटे दोनों हैं सफाईमंद

शि‍ल्पा ने बताया कि उनके पति राज कुंद्रा और बेटा दोनों को सफाई पसंद है. उन्होंने कहा, उनके पति ब्रिटेन में ही पले-बढ़े हैं जहां साफ-सफाई का खासा ध्यान रखा जाता है. इसलिए वह बहुत जिम्मेवारी से इसका ध्यान रखते हैं.' उन्होंने कहा, वह बेहद दुखी होती हैं जब उन्हें मुंबई में गंदगी नजर आती है. शि‍ल्पा ने साफ कहा, एक बार वह बेटे को सैंड आर्ट के लिए ले गईं तो वहां सैंड आर्ट करते-करते कुत्ते की पॉटी तक हाथ में आ गई. इसलिए उन्हें बीच पर बेटे को ले जाना पसंद नहीं.

कोई थूक तो उसके ऊपर लाल रंग की पिचकारी मार दो

इवेंट के दौरान एक दर्शक ने शि‍ल्पा से सवाल किया कि उन लोगों का क्या करें जो जगह जगह थूकते हैं? शि‍ल्पा ने जवाब में कहा कि ये बेहद ही शर्मनाक है. ऐसे लोग जहां कहीं भी दिखें उनके कपड़ों पर लाल रंग की पिचकारी मार दी जाए.

शिल्पा ने सफाई की अहमियत बताते हुए कहा- मैं स्वास्थ्य को लेकर बहुत सजग हूं. मैं लोगों को बताना चाहती हूं कि हेल्थ को अहमियत देना चाहिए. हम इतने व्यस्त रहते हैं तो हेल्थ को सबसे नीचे रख देते हैं. योग में सबसे पहले हम प्राणायाम करते हैं. उसमें कपाल भाती करते हैं, जिसके मतलब दिमाग की सफाई. जब तक हम सफाई प्रोसेस से शुरुआत नहीं करते योग में, तब तक एनर्जी आती नहीं है. जब तक ईर्द-गिर्द सफाई नहीं रखेंगे समस्या से जूझते रहेंगे. पहले हम मलेरिया से जूझते थे, अब डेंगू से.

बॉलीवुड में वापसी को लेकर क्या कहा ?

शिल्पा ने कहा, "मैंने 20 साल तक काम किया. अब मेरी प्राथमिकता मेरा बच्चा है. मैंने तय किया था कि मैं पांच साल तक कोई काम नहीं करूंगी. बॉलीवुड में 12-12 घंटे की शिफ्ट होती है. यह बहुत हैक्टिक है. जो लड़कियों के लिए बेहद मुश्किल है. ग्लैमर वर्ल्ड में अपनी वापसी को लेकर कहा, "मैं गायब नहीं हूं. री एंट्री की उन्हें जरूरत होती है जो गायब रहते हैं. मैं टीवी पर नजर आ रही हूं. मैं फिल्म इंडस्ट्री की बहुत आभारी हूं. लोगों ने मुझे बहुत प्यार दिया. शिल्पा ने कहा कि 20 साल काम कर लिया है. अब मेरी प्रॉयोरिटी मेरा बच्चा है. फैमिली है. हम ओवरवर्कड एंड अंडरपेड हैं. खासकर लड़कियां. धकड़न को पांच साल लगे बनने में. पहले सालों में फिल्म बनती थी. अब 30 दिन में फिल्में बन जाती हैं. मैडनेस अभी भी पर अब मैथेड है.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay