एडवांस्ड सर्च

PM नरेंद्र मोदी: विवेक ओबेरॉय की फिल्म का ट्रेलर यूट्यूब से गायब, क्या है वजह?

विवेक ओबेरॉय की विवादित फिल्म पीएम नरेंद्र मोदी का ट्रेलर यूट्यूब से गायब है. लगातार विवादों में बनी पीएम मोदी की बायोपिक फिल्म पीएम नरेंद्र मोदी का ट्रेलर अब न तो गूगल सर्च में नजर आ रहा है और ये ये यूट्यूब पर भी नजर नहीं आ रहा है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 16 April 2019
PM नरेंद्र मोदी: विवेक ओबेरॉय की फिल्म का ट्रेलर यूट्यूब से गायब, क्या है वजह? विवेक ओबेरॉय बायोपिक में पीएम नरेंद्र मोदी की भूमिका निभा रहे हैं.

विवेक ओबेरॉय की विवादित फिल्म पीएम नरेंद्र मोदी का ट्रेलर यूट्यूब से गायब है. लगातार विवादों में बनी पीएम मोदी की बायोपिक फिल्म पीएम नरेंद्र मोदी का ट्रेलर अब न तो गूगल सर्च में नजर आ रहा है और ये ये यूट्यूब पर भी नजर नहीं आ रहा है. कयास लगाए जा रहे हैं कि मेकर्स ने इसे हटा लिया है.

बता दें कि निर्वाचन आयोग ने हाल ही में इस फिल्म को चुनाव तक रिलीज पर रोक लगा दी थी. हालांकि मेकर्स ने चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी, जिस पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट  ने चुनाव आयोग से हफ्ते भर में रिपोर्ट मांगा है.

फिल्म का ट्रेलर मार्च में रिलीज हुआ था. पीएम नरेंद्र मोदी की घोषणा के बाद से ही लगातार विवादों में थीं. लेकिन इस पर बड़ा बवाल तब हुआ जब मेकर्स ने फिल्म को लोकसभा चुनाव से ठीक पहले रिलीज करने की बात कही. फिल्म की रिलीज डेट पर विपक्षी दलों ने भारी विरोध जताया. आरोप लगाया कि फिल्म की रिलीज से आचार संहिता का उल्लंघन होगा. कोर्ट और सेंसर बोर्ड से फिल्म को हरी झंडी मिल गई, लेकिन चुनाव आयोग ने इसे पहले चरण के मतदान से ठीक पहले ही बैन कर दिया.

सर्च करने पर क्या मिल रहा रिजल्ट?

फिल्म के ट्रेलर को यूट्यूब पर सर्च करने पर बायोपिक का ट्रेलर नहीं बल्कि पीएम मोदी पर बन रही वेब सीरीज का टीजर और ट्रेलर नजर आता है. इसके अलावा यदि आप फिल्म का ट्रेलर ''pm modi biopic trailer'' कीवर्ड डाल कर सर्च करते हैं तो ''This video is unavailable'' रिजल्ट आपको यूट्यूब पर मिलेगा. इसके अलावा आप यदि वीडियो को गूगल पर ढूंढेंगे तो वहां भी यह आपको नहीं मिलेगा.

क्यों गायब है ट्रेलर?

माना जा रहा है कि फिल्म के ट्रेलर को चुनाव आयोग के फैसले के बाद इंटरनेट से हटाया गया है. चुनाव आयोग ने अपने आदेश में कहा था कि किसी भी तरह का पोस्टर या पब्लिसिटी मैटेरियल जिसमें कैंडिडेट को दिखाया गया हो या चुनाव संबंधी और कोई चीज प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष ढंग से दिखाई गई हो, उसे किसी भी इलैक्ट्रॉनिक मीडिया पर नहीं दिखाया जाए जहां आचार संहिता प्रभावी है.

बताते चलें कि फिल्म में नरेंद्र मोदी के राजनीतिक जीवन को दिखाया गया है. विवेक ओबेरॉय की फिल्म का निर्देशन ओमंग कुमार ने किया है. जबकि संदीप सिंह और सुरेश ओबेरॉय फिल्म के निर्माताओं में शामिल हैं. फिल्म फाइनली 12 अप्रैल को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही थी लेकिन चुनाव आयोग ने इस पर नकेल लगा दी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay