एडवांस्ड सर्च

कोलकाता में बंगाली से ज्यादा हिंदी फिल्मों को मिलती है तरजीह: परमब्रत

परमब्रत चटर्जी ने इंटरव्यू के दौरान बताया कि बंगाली फिल्म इंडस्ट्री में बंगाली सिनेमा की अपेक्षा में हिंदी सिनेमा को ज्यादा स्पेस मिलती है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 08 December 2019
कोलकाता में बंगाली से ज्यादा हिंदी फिल्मों को मिलती है तरजीह: परमब्रत  परमब्रत चटर्जी

इंडिया टुडे कन्क्लेव ईस्ट, 2019 के दौरान बंगाली सिनेमा के कलाकरों ने शिरकत की. शो में बॉलीवुड फिल्मों में काम कर चुके एक्टर परमब्रत चटर्जी और सयानी गुप्ता जैसे कलाकार भी शामिल हुए. एक तरफ जहा परमब्रत चटर्जी कहानी और परी जैसी फिल्मों में काम कर चुके हैं वहीं दूसरी तरफ सयानी गुप्ता की बात करें तो वे मार्गरिटा विद अ स्ट्रॉ, पार्च्ड, बार बार देखो और फैन जैसी फिल्मों में नजर आ चुकी हैं. परमब्रत चटर्जी ने इंटरव्यू के दौरान बताया कि बंगाली फिल्म इंडस्ट्री में बंगाली सिनेमा की अपेक्षा में हिंदी सिनेमा को ज्यादा स्पेस मिलती है.

बातचीत के दौरान इस बारे में चर्चा हो रही थी कि बंगाल सिनेमा की विरासत क्या है. क्यों ये फिल्में वेस्ट बंगाल के अंदर ही रिलीज होने के लिए संघर्ष करती हैं. इसके अलावा बॉलीवुड फिल्मों से बंगाली फिल्मों की तुलना पर भी उन्होंने बातें कीं. परमब्रत चटर्जी ने कहा- ''मैं पहले तो ये कहना चाहूंगा कि मैं बॉलीवुड का बड़ा फैन हूं. जब मैं सत्यजीत रे और रित्विक घटक की फिल्में देख रहा होता था उस दौरान मैं अमिताभ बच्चन की फिल्में भी देखता था. अब मेरा सवाल ये है कि आखिर रीजनल सिनेमा की तुलना किससे की जाए. क्या बॉलीवुड सिनेमा से की जानी चाहिए या नेशनल सिनेमा से. क्या हिंदी सिनेमा ही नेशनल सिनेमा है?''

आगे परमब्रत चटर्जी ने कहा कि अब जब हमारा सिनेमा राज्य के बाहर रिलीज हो रहा है तो हमें ये भी नहीं भूलना चाहिए कि कभी-कभी तो खुद बंगाली सिनेमा को भी बंगाल में रिलीज होने के लिए प्रॉपर स्क्रीन्स नहीं मिलती हैं. कोलकाता में एक औसत हिंदी फिल्म को एक दिन में 20 शो मिलते हैं तो वहीं बड़ी बंगाली फिल्मों को 5 शो से ज्यादा नहीं मिल पाते और जो छोटे बजट की बंगाली फिल्में होती हैं उन्हें तो स्क्रीन्स मिलती ही नहीं हैं.

सयानी गुप्ता ने भी रखे अपने विचार

परमब्रत चटर्जी और सयानी गुप्ता के अलावा बातचीत के दौरान एक्ट्रेस पाओली डैम, एक्टर अर्जुन चक्रवर्ती और फिल्म डायरेक्टर अनिक दत्ता भी मौजूद थे जिन्होंने सिनेमा से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर अपनी राय रखी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay