एडवांस्ड सर्च

#MeToo: महिलाओं की सुरक्षा पर क्या सोचते हैं अमिताभ? ट्विटर पर बताया

मह‍िलाओं की सुरक्षा के सवाल पर अमिताभ बच्चन ने तोड़ी चुप्पी, बोले मामला सामने आते ही ल‍िया जाए एक्शन.

Advertisement
aajtak.in
ऋचा मिश्रा नई दिल्ली, 11 October 2018
#MeToo: महिलाओं की सुरक्षा पर क्या सोचते हैं अमिताभ? ट्विटर पर बताया बेटी श्वेता बच्चन संग अमिताभ बच्चन

देश में बढ़ रहे #MeToo मूवमेंट में अब तक कई बड़े सेलेब्स (नाना पाटेकर, आलोक नाथ, कैलाश खेर, सुहेल सेठ, रजत कपूर) का नाम सामने आ चुका है. आरोप‍ियों के खिलाफ सोशल मीड‍िया पर गुस्सा भी देखा जा रहा है. अब इस मामले पर अमिताभ बच्चन और उनकी बेटी श्वेता बच्चन ने भी अपनी सामने रखी है.

जन्मद‍िन के मौके पर खास सवाल-जवाब में अमिताभ बच्चन ने सोशल मीड‍िया पर अपने एक पुराने इंटरव्यू को शेयर करते हुए मह‍िला सुरक्षा के सवाल पर अपनी राय दी.

अमिताभ बच्चन की पोस्ट में है क्या ?

पोस्ट में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर एक सवाल का अमिताभ ने जवाब दिया है. इसमें उन्होंने कहा है, "मह‍िलाओं की सुरक्षा सबसे ज्यादा जरूरी है. महिला के साथ हो रहे गलत व्यवहार और आचरण के खिलाफ हूं. सबसे ज्यादा जरूरी है, काम करने वाली जगह पर मह‍िलाओं के लिए माहौल सबसे सुरक्षित हो."

"ऐसे घटनाओं को तुरंत संबंधित अधिकारियों के नोटिस में लाया जाना चाहिए और इसके खिलाफ शिकायत दर्ज करानी चाहिए या फिर कानून का सहारा लिया जाना चाहिए. सभ्यता और श‍िक्षा, सही आचरण ये सब बेस‍िक श‍िक्षा के लेवल पर द‍िए जाने चाह‍िए. मह‍िलाएं, बच्चे हमारे समाज में सबसे कमजोर हैं. उन्हें खास सुरक्षा दी जानी चाह‍िए. आज मह‍िलाएं कई क्षेत्रों में आगे बढ़ रही हैं. ऐसे में हमारी जिम्मदारी है उनका स्वागत करें. इस सम्मान की वो हकदार हैं."उन्होंने यह भी कहा है कि महिलाओं को गलत आचरण के मामले में क़ानून का सहारा लेना चाहिए और शिकायत करना चाहिए.

श्वेता नंदा ने कही ये बात...

"मुझे लगता है कि ये समय है जब लोग अपने साथ हुई घटनाओं को शेयर करें. ये हम न‍िर्भर करता है कि हम उनका सपोर्ट करें और ये तय करें कि आगे ऐसी घटनाएं कभी नहीं हों. हमें मह‍िलाओं को सुरक्षित जगह देनी चाह‍िए, ऐसा माहौल देना चाह‍िए जहां वो अपनी बात खुलकर रख सकें. स‍िर्फ सुनना काफी नहीं है, हमें भरोसा द‍िलाना होगा कि इस पर आगे काम होगा. लोगों को गलत व्यवहार के प्रत‍ि जागरुक करें. मेरे ख्याल से स्कूल में दी जा रही श‍िक्षा का ह‍िस्सा होना चाह‍िए. ये समझने और श‍िक्ष‍ित होने की जरूरत है" 

भारत में #MeToo के तहत अब तक कई महिलाएं सामने आकर आरोप लगा चुकी हैं. इसमें नाना पाटेकर समेत चार लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की जा चुकी है. नाना पाटेकर, विवेक अग्निहोत्री, विकास बहल, आलोक नाथ, रजत कपूर और वरुण ग्रोवर जैसे कई नाम सवालों के घेरे में हैं. नाना और आलोक नाथ को कारण बताओ नोटिस भेजा गया है. आलोक नाथ से 10 दिन में जवाब मांगा गया है. जहां नाना को सिंटा ने, वहीं आलोक नाथ को FWICE ने नोटिस भेजा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay