एडवांस्ड सर्च

खेसारीलाल का रिकॉर्ड, मल्‍टीप्लेक्‍स में रिलीज होने वाली पहली भोजपुरी फिल्‍म होगी संघर्ष

खेसारीलाल यादव का दावा है कि भोजपुरी फिल्में अश्लील नहीं होती. कोई भी फिल्म करने से पहले वो इस बात की तसल्ली भी करते हैं. उन्होंने बताया संघर्ष में बेटियों को लेकर समाज के लिए खास मैसेज है.

Advertisement
aajtak.in
अनुज शुक्ला पटना , 20 August 2018
खेसारीलाल का रिकॉर्ड, मल्‍टीप्लेक्‍स में रिलीज होने वाली पहली भोजपुरी फिल्‍म होगी संघर्ष प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान फिल्म की जानकारी देते खेसारीलाल यादव और काजल राघवानी

भोजपुरी के सुपरस्‍टार खेसारीलाल यादव और काजल राघवानी स्‍टरार भोजपुरी फिल्‍म संघर्ष इस हफ्ते 24 अगस्‍त से सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है. खेसारीलाल यादव ने कहा, "समाज में बहुत ऐसे लोग हैं, बेटी पैदा होने पर जिनका रिएक्‍शन बदल जाता है. वे समझते हैं कि बेटा उनके वंश को आगे बढ़ायेगा. लेकिन साबित हो चुका है कि वे बेटियां बेटों से कम नहीं हैं.

संघर्ष के प्रमोशन के दौरान पटना में खेसारीलाल ने कहा, "अगर बेटी को अच्छी तरह से पालें, उनको विश्‍वास में लेकर आए तो शायद वो हमारे विश्‍वास को पूरा कर सकती है. हमारी फिल्‍म है ‘संघर्ष’इसी बात पर बनी है. ये फिल्म बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ मुहीम को आगे बढ़ायेगी." उन्होंने कहा, "बेटे को भी समझाइये, ताकि वो रास्‍ते चलती हर लड़की को बहन की तरह‍ समझे. मेरी फिल्‍म रक्षाबंधन पर रिलीज हो रही है. यह हमारे दर्शकों को रक्षाबंधन का उपहार है. इसलिए पूरे परिवार के साथ यह फिल्‍म देखें."

उन्‍होंने कहा, "यह फिल्‍म समाज के लिए आइना है. इसलिए इसे जरूर देखें. अगर आप देखेंगे तो कहेंगे ऐसी ही फिल्‍में बननी चाहिए. बिना देखे आलोचना भी गलत होती है." अश्‍लीलता के सवाल पर खेसारी लाल ने कहा, "अगर आप संघर्ष को देखेंगे तो दुनिया को बता सकेंगे कि भोजपुरी फिल्‍में भी अच्‍छी बनती हैं. बिना देखे कोई सवाल करेंगे, तो उसका जवाब हम भी नहीं दे सकेंगे. मैं खुद बुरी फिल्‍में नहीं करता हूं. जब मेरे पास फिल्‍म के लिए ऑफर आता है, तो पहले ये देखता हूं कि फिल्‍म से हमारी भोजपुरी को कोई नुकसान तो नहीं होगा. उसके बाद ही मैं फिल्‍मों को ओके करता हूं.

खेसारी ने बताया कि संघर्ष के लिए रत्‍नाकर कुमार, पराग पाटिल और पूरी टीम ने काफी मेहनत की है. यह भोजपुरी की पहली फिल्‍म होगी जो मल्‍टीप्‍लेक्‍स में भी लगेगी. काजल राघवानी ने कहा, "मेरे लिए यह बेहद चैलेंजिंग फिल्म थी. मैंने जाना कि मां बनना कितना मुश्किल काम है. मां बनकर मुझे एहसास हुआ कि बच्‍चों के लिए मां कितना संघर्ष करती है."

काजल ने यह भी कहा, "मैंने भी मां को बहुत तंग किया है, मगर वो हर बार मुझे माफ कर देती थी. उन्‍होंने मुझे पालने में काफी स्‍ट्रगल किया. इस चीज को मैं संघर्ष फिल्‍म कर समझ पायी. यह फिल्म पूरी तरह से सामाजिक-पारिवारिक और मनोरंजक है. फिल्‍म के निर्माता रत्‍नाकर कुमार ने कहा, "संघर्ष अपनी भाषा को अच्‍छे ढंग से दिखाने की एक कोशिश है. इसको लेकर हमने बहुत सारे डिस्‍कशन किए. फिल्‍म की बारिकियों पर हमने खूब ध्‍यान दिया, तब जाकर एक बहुत अच्‍छी फिल्‍म बन पाई है.

ये फिल्म वर्ल्डवाइड चैनल और जितेंद्र गुलाटी प्रेजेंट्स के बैनर तले बनी है. खेसारी और काजल के आलावा ऋतू सिंह, अवधेश मिश्रा, महेश आचार्य, संजय महानंद, निशा झा, रीना रानी, प्रेरणा सुषमा, सुबोध सेठ, देव सिंह, दीपक सिन्हा और सुमन झा ने फिल्म में महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाई हैं. मधुकर आनंद व धनंजय मिश्रा ने फिल्म का संगीत तैयार किया है. जबकि प्यारेलाल यादव कवि, आजाद सिंह, पवन पांडेय ने गाने लिखे है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay