एडवांस्ड सर्च

CBI ने की अधिक अधिकारियों की मांग, विशेष लाभों की पेशकश

सीबीआई में विधि अधिकारियों के 173 पद रिक्त हैं. इसके अलावा बैंकिंग, कराधान, विदेशी मुद्रा और बीमा तथा कई अन्य प्रकार के वरिष्ठ सलाहकार, सलाहकार और उप सलाहकार के पदों पर भी भर्ती की जानी है.

Advertisement
aajtak.in
लव रघुवंशी / BHASHA नई दिल्ली, 14 February 2016
CBI ने की अधिक अधिकारियों की मांग, विशेष लाभों की पेशकश एजेंसी में 1600 पद रिक्त

कर्मचारियों की कमी की समस्या से जूझ रही सीबीआई ने अन्य संगठनों से प्रतिनियुक्ति पर गैर पुलिस पृष्ठभूमि वाले अधिकारियों के साथ ही पुलिस अधिकारियों की मांग की है और साथ ही उनके लिए विशेष वित्तीय लाभों की भी पेशकश की है.

‘दृढ़ निष्ठा’ वाले अधिकारी चाहिए
एजेंसी ने केंद्रीय उत्पाद और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीईसी) से पुलिस अधीक्षक (एसपी) के स्तर पर खाली पदों को भरने के लिए ‘दृढ निष्ठा’ वाले योग्य अधिकारियों के नामांकन की मांग की है.

सीबीआई में मुख्य रूप से प्रतिनियुक्ति पर अधिकारियों को लिया जाता है और ब्यूरो को एसपी के स्तर पर अधिकारियों की भर्ती करने के लिए विभिन्न संगठनों से अधिकारियों की जरूरत है.

वेतन के अलावा डीए भी मिलेगा
सीबीआई के संयुक्त निदेशक प्रबोध कुमार द्वारा लिखे गए एक पत्र में कहा गया है, ‘यह दोनों संगठनों के लिए फायदेमंद साबित हुआ है. ब्यूरो को जहां पेचीदा मामलों की जांच में इन अधिकारियों की विशेषज्ञता और अनुभव का इस्तेमाल करने से लाभ होगा तो वहीं सीबीआई में उन्हें जो अनुभव हासिल होगा वह निश्चित रूप से उनके मूल संगठन को उनकी वापसी के बाद मदद करेगा.’ उन्होंने कहा है कि इन अधिकारियों को वेतन के अलावा 25 फीसदी की दर से डीए के रूप में विशेष पहल भत्ता दिया जाएगा.

कुमार ने कहा, ‘प्रतिनियुक्ति के आधार पर एसपी के पदों को भरने के लिए यह ब्यूरो इच्छुक, योग्य और समक्ष अधिकारियों की तलाश कर रहा है जिनकी दृढ़ निष्ठा हो और जिनकी वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट (एसीआर) शानदार हो.’

यह पत्र इस रूप में काफी मायने रखता है कि एजेंसी को करोड़ों रूपये के सारदा चिट फंड घोटाले और कोयला आवंटन एवं 2 जी मामलों में कथित अनियमितताओं की जांच की जिम्मेदारी सौंपी गयी है. इसके साथ ही एजेंसी कई अन्य मामलों की भी जांच में जुटी है.

एजेंसी में 1600 पद रिक्त
सीबीईसी में मुख्य रूप से भारतीय राजस्व सेवा (कस्टम और केंद्रीय उत्पाद) तथा अन्य कैडरों के अधिकारी होते हैं जिन्हें कस्टम, केंद्रीय उत्पाद और सेवा कर जैसे मामलों में विशेषज्ञता प्राप्त होती है. सीबीआई के ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश की प्रमुख जांच एजेंसी में 1600 पद रिक्त पड़े हैं. इनमें से 1148 कार्यकारी रैंक के हैं जिनमें विशेष या अतिरिक्त निदेशक और संयुक्त निदेशक के वरिष्ठ पद भी शामिल हैं. इसके अलावा एसपी स्तर के 45 पद खाली हैं जिनकी कुल अनुमोदित संख्या 119 है. इसके अलावा उप पुलिस अधीक्षक के करीब 50 पद, 251 इंस्पेक्टर , 282 सब इंस्पेक्टर तथा 423 कांस्टेबलों के पद रिक्त हैं.

सीबीआई में विधि अधिकारियों के 173 पद रिक्त हैं. इसके अलावा बैंकिंग, कराधान, विदेशी मुद्रा और बीमा तथा कई अन्य प्रकार के वरिष्ठ सलाहकार, सलाहकार और उप सलाहकार के पदों पर भी भर्ती की जानी है.

सीबीआई की प्रशासनिक जरूरतों को देखने वाली नोडल एजेंसी कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग भी रिक्त पदों को भरने के लिए कदम उठा रहा है.

डीओपीटी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘सीबीआई और सरकार द्वारा इन पदों को भरने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay