एडवांस्ड सर्च

Review: रोमांचकारी विजुअल ट्रीट है 'जुरासिक वर्ल्ड फॉलेन किंगडम'

जुरासिक वर्ल्ड-  फॉलेन किंगडम, जुरासिक पार्क का तीसरा पार्ट है. इसकी कहानी पिछली फिल्मों की तरह ही दिलचस्प है.

Advertisement
आरजे आलोक [Edited By:महेन्द्र गुप्ता]नई दिल्ली, 07 June 2018
Review: रोमांचकारी विजुअल ट्रीट है 'जुरासिक वर्ल्ड फॉलेन किंगडम' जुरासिक वर्ल्ड- फॉलेन किंगडम

फिल्म का नाम : जुरासिक वर्ल्ड-  फॉलेन किंगडम'

डायरेक्टर: जेए बायोना

स्टार कास्ट: ब्राइस डलास हावर्ड , क्रिस प्रैट,जेफ गोल्डबम, बी डी वांग, टाबी जोंस, जेम्स क्रामवेल

अवधि: 2 घंटा 8 मिनट

सर्टिफिकेट: U/A

रेटिंग: 3.5 स्टार

सन 1993 में जुरासिक पार्क नामक फिल्म आई थी. उसके कुछ साल बाद 2015 में एक बार फिर से डायनासोर की प्रजाति पर आधारित जुरासिक वर्ल्ड फिल्म बनाई गई, जिसने कमाई के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए और ब्लॉकबस्टर फिल्म कहलाई. अब उसी थीम की एक और फिल्म जुरासिक वर्ल्ड-  फॉलेन किंगडम' बनकर सामने आई है, जिसे मॉन्स्टर कॉल्स और द ऑर्फ़नेज जैसी फिल्में बना चुके जेए बायोना ने डायरेक्ट किया है.

कहानी

जैसा कि आप जानते हैं पिछली फिल्म जुरासिक वर्ल्ड में कुछ डायनासोर  द्वीप पर अकेले रह गए थे  और  इस बार फिल्म की कहानी जुरासिक वर्ल्ड फिल्म के कुछ साल के बाद शुरू होती है, जहां सारे डायनासोर मौजूद है, लेकिन उसके बगल में ही एक एक्टिव ज्वालामुखी की वजह से इन सभी की जान खतरे में है. लगे हाथ अमेरिका की सरकार इन डायनासोर को बचाने के बारे में अपना निर्णय नहीं दे पा रही है. इसी बीच ओवन (क्रिस प्रैट ) और क्लेयर( ब्राइस डलास होवार्ड) फिर से इस द्वीप पर जाकर डायनासोर को बचाने के लिए तैयारी करते हैं. जिसके लिए एक बहुत बड़ा आदमी इस पूरे मिशन को स्पॉन्सर करता है लेकिन उसकी मंशा कुछ और ही होती है. इसी बीच  इनके मिशन पर  बहुत सारे ट्विस्ट और टर्न आते हैं , अब क्या ओवन और क्लियर द्वीप के सारे डायनासोर को बचा पाते हैं  और साथ ही इस फिल्म का  क्लाइमेक्स क्या होता है, यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी.

Review: काला में रजनीकांत के सामने कमजोर नहीं हैं नाना पाटेकर

आखिर क्यों देखें?

फिल्म की कहानी वैसे तो ट्रेलर में बताई जा चुकी है, लेकिन डायरेक्टर ने जिस तरह से इसे दर्शाया है, वह काबिले तारीफ है. फिल्म में कैमरा वर्क, लोकेशन , वीएफएक्स और कहानी सुनाने का ढंग काफी दिलचस्प है. कई बार ऐसे मौके आते हैं, जब आप सांसें थामकर मन में सोचते हैं कि विपत्ति जल्द से जल्द दूर हो जाए. फिल्म का एक्शन जबरदस्त है. साथ ही शहर से लेकर द्वीप तक फिल्म दर्शाने का ढंग बढ़िया है. रोमांचकारी होने के साथ-साथ यह फिल्म कई बातों की वजह से इमोशनल करने वाली भी है जिसका पता आपको फिल्म देखकर ही चलेगा.

फिल्म में डायनासोर, ज्वालामुखी और चेस सीक्वेंस कमाल के हैं. इसके साथ ही क्लाइमेक्स में बड़े ही अच्छे और उम्दा तरीके से दृश्यों का फिल्मांकन हुआ है और एक तरह से कह सकते हैं कि यह फिल्म विजुअल ट्रीट से कम नहीं है. फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर भी कमाल का है. इस में काम कर रहे हर एक अभिनेता ने अपने-अपने पात्रों को सर्वोच्च तरीके से निभाया है और बेहतरीन परफॉर्मेंस दी है.

कमजोर कड़ी

यह फिल्म आपको इस की पिछली वाली जुरासिक वर्ल्ड जैसी फीलिंग तो नहीं देगी, लेकिन एक अलग तरह की कहानी जरूर सुनाती है. साथ ही साथ इस फिल्म का सीक्वल भी तैयार होने वाला है जिस लिहाज से देखना बेहद खास होगा कि उसमें कितने सरप्राइज़ आने वाले हैं. इस फिल्म के संवाद काफी कमजोर है जिन्हें दुरुस्त किया जा सकता था. 

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay