एडवांस्ड सर्च

नागपुर में भी 'इंदु सरकार' की PC रद्द, भंडारकर ने पूछा- क्या मुझे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है?

पुणे के बाद अब निर्देशक मधुर भंडारकर की फिल्म 'इंदु सरकार' की अगली प्रेस कांफ्रेंस महाराष्ट्र के नागपुर में होनी थी. यहां भी प्रेस कॉन्फ्रेंस के पहले कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस का विरोध किया.

Advertisement
aajtak.in
शिवांगी ठाकुर मुंबई, 16 July 2017
नागपुर में भी 'इंदु सरकार' की PC रद्द, भंडारकर ने पूछा- क्या मुझे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है? मधुर भंडारकर

पुणे के बाद अब निर्देशक मधुर भंडारकर की फिल्म 'इंदु सरकार' की अगली प्रेस कांफ्रेंस महाराष्ट्र के नागपुर में होनी थी. यहां भी प्रेस कॉन्फ्रेंस के पहले कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस का विरोध किया.

नागपुर के पोर्टो होटल में ये प्रेस कॉन्फ्रेंस की जाने वाली थी लेकिन प्रेस कॉन्फ्रेंस के ठीक पहले कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया, जिसके बाद ये प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द कर दी गई. 

फिल्म इंदु सरकार की मुश्क‍िलें बढ़ीं, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया विरोध प्रदर्शन

मधुर भंडारकर अपनी टीम के साथ बीच रास्ते से ही लौट गए. मधुर ने राहुल गांधी को ट्वीट कर पूछा कि क्या उन्हें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता नहीं है.

आपको बता दें कि शनिवार को फि‍ल्म की प्रमोशन के लिए पूरी स्टारकास्ट पुणे पहुंची थी, लेकिन स्टारकास्ट के वहां पहुंचने से पहले ही कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ता वहां पहुंच गए. वह मधुर भंडारकर से मिलने की बात करने लगे जिसके बाद सुरक्षा कारणों से प्रेस कॉन्फ्रेंस को टाल दिया गया.

मोदी का सपोर्टर होता तो मेरी फिल्म में 17 कट नहीं लगते: मधुर भंडारकर

फिल्म की टीम पहले जहां प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाली थी, कांग्रेस के कार्यकर्ता उस जगह प्रदर्शन करने पहुंचे, लेकिन जब फि‍ल्म की टीम वहां नहीं आई तो कार्यकर्ता पुणे के होटल ग्राउंड प्लाजा पहुंचे. यहां पर फिल्म के कलाकार और निर्देशक मौजूद थे. होटल की लॉबी में कांग्रेस कार्यकर्ता मधुर भंडारकर का इंतजार करने लगे जिस वजह से आनन फानन में पुणे पुलिस मौके पर पहुंची.

गौरतलब है कि फिल्म के ट्रेलर लॉन्च के बाद से ही फिल्म को देशभर में काफी विरोध झेलना पड़ रहा है. ये विरोध इतना ज्यादा है कि लीगल नोटिस से लेकर, पुतला फूंकने तक मधुर भंडारकर को काफी विरोध का सामना करना पड़ रहा है.

मधुर भंडारकर ने प्रिया सिंह पॉल से मांगा संजय गांधी की बेटी होने का सबूत

मधुर पर ये भी आरोप लगाया गया है कि वो मोदी के समर्थक हैं, इसलिए विपक्ष को जवाब देने के मकसद से फिल्म को बीजेपी का समर्थन मिल रहा है. मधुर ने इस बात को खारिज करते हुए बताया- 'अगर ऐसा होता तो मेरी फिल्म में 17 कट्स नहीं लगाए जा रहे होते. मुझे सेंसर बोर्ड आसानी से सर्टीफिकेट दे देती. मुझे 'आरएसस', 'कम्यूनिस्ट', 'किशोर कुमार', 'अकाली' और 'जेपी नारायण' जैसे शब्द हटाने को बोला गया है. लोगों ने सिर्फ ट्रेलर देखकर ही बवाल कर दिया है.' फिल्म 28 जुलाई को रिलीज होगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay