एडवांस्ड सर्च

देशभक्ति से भरी थीं ये फिल्में, असली लगती हैं इनकी कहानियां

बॉलीवुड में देशभक्ति पर तमाम फिल्में बन चुकी हैं. जब-जब देशभक्ति पर फिल्में बनी हैं उन्हें लोगों द्वारा पसंद किया गया है.

Advertisement
aajtak.in
पुनीत उपाध्याय नई दिल्ली, 11 August 2018
देशभक्ति से भरी थीं ये फिल्में, असली लगती हैं इनकी कहानियां बॉलीवुड फिल्म

भारतीय सिनेमा में ढेर सारे अलग-अलग विषयों पर फिल्में बनती रही हैं. मगर जब बात देशभक्ति की हो तब भावनाओं का सैलाब तैरने लगता है. दर्शक आंखें गड़ा कर बैठ जाते हैं और सिर्फ जय हिंद का नारा जेहन में गूंजता है. बॉलीवुड में देशभक्ति पर तमाम फिल्में बन चुकी हैं. जब-जब देशभक्ति पर फिल्में बनी हैं उन्हें लोगों द्वारा पसंद किया गया है.

1- पूरब और पश्चिम- 'पूरब और पश्चिम' फिल्म में भारतीय संस्कार और पाश्चयात देशों की लहर से प्रभावित लोगों की मनोदशा की अद्भुत तुलना दिखाई गई है. कैसे उनके तौर तरीकों से प्रभावित होकर भारतीय लोग अपने संस्कार भूल गए और इसका एहसास होने के बाद उन्हें पछतावा भी हुआ. फिल्म में मनोज कुमार ने मुख्य रोल प्ले किया. इसके अलावा सायरा बानो, विनोद खन्ना, प्रेम चोपड़ा, ओम प्रकाश, और आशोक कुमार थे. फिल्म के गीत काफी पॉपुलर हुए थे.

आमिर संग काम कर चुकी इस एक्ट्रेस को करनी पड़ीं B ग्रेड फिल्में

2- उपकार-  इसी फिल्म के बाद से मनोज कुमार को भारत कुमार के नाम से जाना जाने लगा था. मनोज ने फिल्म में शानदार रोल प्ले किया था और उनके करियर का टर्निंग प्वाईंट साबित हुई थी.  फिल्म का निर्देशन भी मनोज कुमार ने ही किया था. फिल्म उस साल की सबसे सफल फिल्मों में से एक रही.

3- लगान-  आमिर खान की इस फिल्म को भला कौन भूल सकता है. फिल्म में क्रिकेट के जरिए देशभक्ति के जुनून को दर्शकों के लिए परोसा गया था. फिल्म देश ही नहीं बल्कि विदेश तक काफी पॉपुलर हुई. आमिर समेत शानदार टीमवर्क की बदौलत फिल्म ने लोगों के दिलों में एक खास स्थान हासिल किया. आज भी फिल्म का निर्णायक मुकाबला  देशभक्ति की भावना से भर देता है.

बॉलीवुड का वो शख्स जिससे बड़ा देश प्रेमी नहीं बना कोई दूसरा एक्टर

4- बॉर्डर-  जब भी ये फिल्म टीवी पर आती है तो अधिकतर लोग आज भी इसे देखते हैं. फिल्म का गाना 'संदेशे आते हैं' काफी भावुक कर देने वाला है. इस मल्टीस्टारर फिल्म में हमारे देश के फौजियों की गाथा गढ़ी गई है. उनकी हर छोटी से बड़ी चीजों को फिल्म में शामिल किया गया था. एक सैनिक की भावनाएं, उसका जुनून, उसका बलिदान उसके घरवालों की दशा सभी कुछ फिल्म में इस कदर दिखाया गया था कि फिल्मअसलियत से कम नहीं लगती थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay